मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> सीहोर वाले पंडित प्रदीप मिश्रा भोपाल नवाब की होली मनाने की परंपरा खत्म करेंगे, निकलेंगे शिव होली खेलने

सीहोर वाले पंडित प्रदीप मिश्रा भोपाल नवाब की होली मनाने की परंपरा खत्म करेंगे, निकलेंगे शिव होली खेलने

सीहोर 03 मार्च 2022 । सीहोर में चल रही शिव महापुराण कथा में पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहा कि नवाब की होली की परंपरा को खत्म करने के लिए वे इस बार शिव होली खेलने निकलेंगे। उन्होंने आरएसएस, विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, दुर्गावाहिनी से इसमें सहयोग करने का आव्हान किया। तीन दिन पहले सीहोर में पंडित प्रदीप मिश्रा की जिस श्री शिव महापुराण कथा आयोजन से भोपाल से इंदौर तक जाम के हालात बने थे और अव्यवस्था फैल गई थी, आज कथा में पंडित मिश्रा ने हिंदूओं के एकजुट होने पर सीहोर की जनता को सराहा। पंडित मिश्रा ने कहा कि वे शिव महापुराण हिंदुओं को एकजुट करने के लिए ही करते हैं। उन्होंने अंग्रेजों के समय को याद करते हुए आज की परिस्थितियों से तुलना की। अपने रुद्राक्ष उत्सव के निरस्त होने के बाद दूर-दूर से आए श्रद्धालुजनों के लिए सीहोर के हर जाति के हिंदुओं द्वारा अपने दरवाजे खोल दिए हैं। ब्राह्मण, क्षत्रिय, ताम्रकार, यादव, रजक, मालवीय, वाल्मीकी सभी ने अपने समाज की धर्मशालाओं में जगह दी है।

नवाब होली की परंपरा तोड़़ेंगे, शिव होली खेलेंगे
पंडित प्रदीप मिश्रा ने भोपाल के नवाब के पांच दिन तक होली के लिए अलग-अलग जगह जाने से चली आ रही उस परंपरा को खत्म करने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि नवाब होली मनाते थे लेकिन अपने ऊपर रंग चढ़ने पर सजा भी देते थे तो उनकी नवाब होली की परंपरा को बदलने के लिए वे शिव होली खेलने निकलेंगे। सीहोर, इछावर, आष्टा, जावर में होली दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें दिन तक मनाने की परंपरा है। पंडित मिश्रा ने हिंदुओं को आव्हान किया कि वे अपने-अपने यहां दो-दो, पांच-पांच हजार रुपए का गुलाल खरीदकर रखेंगे,बदलेंगे परंपरा। इसमें वे आरएसएस, विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल और दुर्गा वाहिनी का साथ लेंगे। मंच से बोले शिव महापुराण को राजनीति का अखाड़ा नहीं बनाएं
पंडित मिश्रा ने व्यासपीठ से शिव महापुराण को राजनीति का अखाड़ा नहीं बनाने की अपील की। हालांकि इसके बाद आरती में मंच पर कांग्रेस नेताओं का जमावड़ा हो गया क्योंकि उसमें पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, विधायक विशाल पटेल व मनोज चावला, पूर्व विधायक रमेश पटेल व शैलेंद्र पटेल सहित कई अन्य नेता शामिल हुए। गौरतलब है कि ये सभी नेता कांग्रेस की ओर से पंडिम मिश्रा से मुलाकात करने पहुंचे थे जो पीसीसी की ओर से प्रतिनिधिमंडल के रूप में पहुंचे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …