मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> छत्तीसगढ़ में अमित शाह की मौजूदगी में पूर्व आईएएस और आईपीएस सहित 17 अधिकारियों ने थामा BJP का दामन

छत्तीसगढ़ में अमित शाह की मौजूदगी में पूर्व आईएएस और आईपीएस सहित 17 अधिकारियों ने थामा BJP का दामन

रायपुर 22 सितम्बर 2018 । छत्तीसगढ़ में पूर्व आईएएस, आईपीएस और आईएफएस समेत 17 अधिकारियों ने आज बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में पार्टी का दामन थामा है. बीजेपी की सदस्यता लेने वालों में 10 से ज्यादा अधिकारी पुलिस विभाग से हैं. कुल 17 पूर्व अधिकारियों में एक पूर्व आईएएस अधिकारी भी शामिल हैं. जिन अधिकारियों ने बीजेपी से रिश्ता जोड़ा है, उनमें से कई लोग चुनाव लड़ने की भी तैयारी में हैं. गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में इस वर्ष अंत में विधानसभा का चुनाव होना है. राज्य में बीजेपी 65 से अधिक सीटों पर जीत के साथ सरकार बनाने का प्रयास कर रही है. भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष का छत्तीसगढ़ का दौरा चुनाव की दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

कौन-कौन है पूर्व अधिकारी बीजेपी में हुए शामिल

राजीव श्रीवास्तव, पूर्वआईपीएस)
एनकेएस ठाकुर, पूर्वआईपीएस
आरसी सिन्हा, पूर्व आईएएस
अशोक सिंह, पूर्व आईआरएस,
अरविंद श्रीवास्तव, पूर्व आईआरएस,
कृष्ण कुमार खेलवार, पूर्व आईएफएस
राकेश तिवारी, पूर्व आईएफएस
विमल चंद्र गुप्ता, पूर्व आईपीएस
हेमंत धागमवार, पूर्व महाप्रबंधक, एनटीपीसी
आरके शर्मा, पूर्व एडिशनल एसपी, सहायक पुलिस महानिरीक्षक
बंशीलाल कुर्रे, पूर्व एडिशनल एसपी
भोजेंद्र उईके, पूर्व एडिशनल एसपी
सुनील मिश्रा- कर्नल, भारतीय सेना
मोहन दुबे – पूर्व डीएसपी, छत्तीसगढ़ पुलिस
अजीत चौबे – पूर्व डीएसपी, छत्तीसगढ़ पुलिस, सीबीआई
प्रदीप मिश्रा- पूर्व डीएसपी, छत्तीसगढ़ पुलिस
शमशीर खान – पूर्व डीएसपी, छत्तीसगढ़ पुलिस

इसके अलावा कई और लोग भी आज हुए शामिल

डॉक्टर हेमू यदु – पुरातत्तवविद एवं इतिहासकार
मोहम्मद सिराज- फाउंडर, आल मुस्लिम वेलफेयर
घनश्याम शर्मा – पूर्व मैनेजर, संगीत थैरेपी विशेषज्ञ
डा नीता – अंतर्राष्ट्रीय मनोवैज्ञानिक, होम्योपैथिक चिकित्सक
सुभाष वर्मा – पूर्व जेल प्रशिक्षक, राष्ट्रीय आर्ट आफ लिविंग
शुभांगी आप्टे- समाजसेवी
किशोर त्रिवेदी – राष्ट्रीय पत्र

बीएसपी ने दिया कांग्रेस को झटका
बहुजन समाज पार्टी (बसपा) छत्तीसगढ़ में अजीत जोगी की अगुवाई वाली जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के साथ गठबंधन करके आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगी. बसपा मुखिया मायावती ने यहां जोगी के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में यह एलान करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रह चुके जोगी ही इस गठबंधन की तरफ से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे. मायावती ने कहा कि गठबंधन को लेकर उनकी राय स्पष्ट है कि उनकी पार्टी किसी भी दल के साथ तभी गठबंधन करेगी जब उसे समझौते के तहत सम्माजनक संख्या में सीटें मिलें. साथ ही उसकी सोच बसपा की ‘सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय‘ की सोच से भी मेल खाती हो.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

भारत में कोरोना का सबसे बड़ा अटैक, एक दिन में पहली बार 2 लाख 34 हजार नए केस

नई दिल्ली 17 अप्रैल 2021 । कोरोना की दूसरी लहर हर दिन नए रिकॉर्ड बना …