मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> भोपाल, इंदौर, उज्जैन में पदस्थ होंगे 204 डॉक्टर

भोपाल, इंदौर, उज्जैन में पदस्थ होंगे 204 डॉक्टर

भोपाल 3 मई 2020 । राज्य शासन ने कोरोना के विरुद्ध युद्ध में हॉटस्पॉट बने भोपाल इंदौर और उज्जैन में अतिरिक्त रूप से 204 डॉक्टर उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। इनमें से भोपाल में 71, इंदौर में 87 और उज्जैन में 46 चिकित्सकों को पदस्थ किया गया है। कोरोना संक्रमण के विरुद्ध जारी इस युद्ध में पीपीटी मास्क, सैनिटाइजेशन सामग्री, टेस्टिंग क्षमता, कोविड समर्पित अस्पतालों की संख्या में लगातार विस्तार किया जा रहा है। इसी क्रम में दक्ष डॉक्टरों की कमी नही होने देने के उद्देश्य से प्रदेश के चिकित्सा महाविद्यालयों से 31 मार्च 2020 को इंटर्नशिप पूर्ण किए 204 बंध-पत्र स्नातक चिकित्सकों को भोपाल, इंदौर और उज्जैन में पदस्थ किया गया है।

संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएँ द्वारा जारी आदेश के अनुसार कोविड-19 के मरीजों की संख्या को देखते हुए 71 बंधपत्र चिकित्सकों की सेवाएं भोपाल को 87 की सेवाएं इंदौर और 46 की सेवाएं उज्जैन के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सौंपी गई हैं। चिकित्सकों द्वारा उपस्थित नहीं होने पर एस्मा (मध्यप्रदेश अत्यावश्यक सेवा संधारण एवं विच्छन्नता निवारण अधिनियम 1979) के तहत कार्यवाही की जाएगी। समस्त चिकित्सकों के रहने और भोजन की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की जाएगी। चिकित्सकों को प्रतिमाह रूपये 55,000 पारिश्रमिक देय होगा।

पूरे देश में लोगों तक आवश्यक चिकित्सा सामग्री पहुंचाने के लिए लाइफलाइन उड़ान के तहत 422 उड़ानें संचालित की गईं

एयर इंडिया, अलायंस एयर, आईएएफ और निजी विमान वाहकों द्वारा लाइफलाइन उड़ान के तहत 422 उड़ानें संचालित की गई हैं। इनमें से 244 उड़ानें एयर इंडिया और अलायंस एयर द्वारा संचालित की गई हैं। अब तक ले जाया गया कार्गो लगभग 790.22 टन है। लाइफलाइन उड़ान द्वारा तय की गई अब तक की हवाई दूरी 4,13,538 किमी से अधिक है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा लाइफलाइन उड़ान की उड़ानों को संचालित किया जा रहा है ताकि कोविड-19 के खिलाफ भारत के युद्ध का समर्थन करने के लिए देश के दूर-दराज के हिस्सों में आवश्यक चिकित्सा कार्गो का परिवहन किया जा सके।

पवन हंस लिमिटेड सहित हेलीकॉप्टर सेवाएं जम्मू एवं कश्मीर, लद्दाख, द्वीपों और पूर्वोत्तर क्षेत्र में महत्वपूर्ण चिकित्सा कार्गो और रोगियों का परिवहन कर रही है।पवन हंस ने 1 मई, 2020 तक 7,529 किमी की दूरी तय करते हुए 2.03 टन कार्गो का परिवहन किया है। इसमें विशेष ध्यान पूर्वोत्तर क्षेत्र, द्वीपों और पहाड़ी राज्यों पर दिया गया है। एयर इंडिया और आईएएफ ने मुख्य रूप से जम्मू एवं कश्मीर, लद्दाख, पूर्वोत्तर और अन्य द्वीप क्षेत्रों के लिए सहयोग किया है।

घरेलू कार्गो ऑपरेटर स्पाइसजेट, ब्लू डार्ट, इंडिगो और विस्तारा वाणिज्यिक आधार पर कार्गो उड़ानें संचालित कर रहे हैं। स्पाइसजेट ने 24 मार्च से 1 मई 2020 के दौरान 12,77,213 किमी की दूरी को कवर करते हुए 734 कार्गो उड़ानें संचालित कीं और 5,320 टन माल ढोया है। इनमें से 270 अंतर्राष्ट्रीय कार्गो उड़ानें थीं। ब्लू डार्ट ने 25 मार्च से 1 मई 2020 के दौरान 2,67,417 किमी की दूरी को कवर करते हुए 245 कार्गो उड़ानों का संचालन किया और 4,179 टन माल ढोया। इनमें से 12 अंतर्राष्ट्रीय कार्गो उड़ानें थीं। इंडिगो ने 3 अप्रैल से 1 मई 2020 के दौरान 1,36,060 किमी की दूरी को कवर करते हुए 82 कार्गो उड़ानें संचालित की हैं और लगभग 393 टन कार्गो का परिवहन किया है जिनमें 27 अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें शामिल हैं। इसमें सरकार के लिए मुफ्त में ढोई जाने वाली चिकित्सा आपूर्ति भी शामिल है। विस्तारा ने 19 अप्रैल से 1 मई 2020 के दौरान 28,590 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए लगभग 139 टन माल ढोने वाली 20 कार्गो उड़ानें संचालित की हैं।

अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र में दवा, चिकित्सा उपकरण और कोविड-19 राहत सामग्री के परिवहन के लिए पूर्वी एशिया के साथ एक कार्गो एयर-ब्रिज की स्थापना की गई थी। इसमें एयर इंडिया द्वारा लाए गए मेडिकल कार्गो की मात्रा 842 टन है।उपरोक्त के अलावा 14 अप्रैल से लेकर 1 मई 2020 तक ब्लू डार्ट ने गुआंगझू और शंघाई से लगभग 114 टन चिकित्सा सामग्री का परिवहन किया है। स्पाइसजेट ने भी 1 मई 2020 तक शंघाई और गुआंगझू से 204 टन चिकित्सा सामग्री का परिवहन किया और 1 मई 2020 तक हॉन्ग कॉन्ग और सिंगापुर से 16 टन चिकित्सा आपूर्ति का परिवहन किया।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फतह मुबारक हो मुसलमानो, भारत के खिलाफ जीत इस्लाम की जीत…जश्न मनाने के बदले जहर उगलने लगा पाक

नई दिल्ली 25 अक्टूबर 2021 । खराब बल्लेबाजी और खराब गेंदबाजी की वजह से टीम …