मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> मातृत्व हेतु 24 से 29 की आयु सबसे बेहतर

मातृत्व हेतु 24 से 29 की आयु सबसे बेहतर

उज्जैन 9 अक्टूबर 2018 । गणेश शंकर विधार्थी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज कानपुर मे आयोजित फॉग्सी इंटरनेशनल कांफ्रेंस मे इंडियन सोसायटी फॉर प्रीनेटल डाइग्नोसिस एण्ड थेरेपी के कार्यकारी सदस्य डॉ नरेश पुरोहित ने अपनी शोध-अध्ययन रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए बताया कि वर्तमान मे युवक एवं युवतियां अपने कैरियर के प्रति काफी सचेत होने के कारण विवाह विलंब से करने लगे है। यह कतई उचित नहीं है। कॅरियर बनाने मे समय अधिक लग गया तो संतान पैदा करने की समस्या आ जाती है। महिलाओं में मां बनने हेतु 24 से 29 वर्ष आयु सर्वश्रेष्ठ है।
महाराष्ट्र के राज्यपाल द्वारा पुरुस्कृत डाॅ नरेश पुरोहित ने बताया कि महिलाओं की अधिक आयु यानी पैंतीस पार करने के साथ कई समस्याएं आने लगती है। भारत मे वैसे भी खानपान दुरुस्त नही होने से यहां की महिलाएं पाश्चिमी देशों की तुलना मे शीघ्र शरीर कमजोर कर लेती है। चालीस के पश्चात महिलाओं को मैनोपोज हो जाता है। इस स्थिति मे शिशु पैदा करना संभव नही होता है। पाश्चिमी देशों की महिलाओं मे यह समस्या कम पायी जाती है।
डॉ पुरोहित ने बताया कि विदेश मे पच्चीस वर्ष आयु मे शुक्राणु का बीमा करा कर उसे फ्रीज कर लिया जाता है। फिर दस वर्ष पश्चात बच्चे की जरुरत होने पर फ्रीज किया शुक्राणु प्रयोग मे लाकर स्वस्थ बच्चा पैदा करा लेते है। महिलाएं को भी अपने अंडे फ्रीज करा लेने से बार बार आईवीएफ हेतु भी नही जाना पड़ता है।
उन्होंने बताया कि अब कानून के दायरे मे मिलेगी किराए पर कोख . सेरोगेसी के बढे ट्रेंड पर केन्द्र सरकार कऱ रही है बिल लाने की तैयारी , प्रारूप तय करने हेतु केंद्रीय कमेटी का गठन किया गया है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना विस्फोट के बीच क्या लगेगा लॉकडाउन? पीएम मोदी की आज बड़ी बैठक

नई दिल्ली 19 अप्रैल 2021 । कोरोना की दूसरी लहर की वजह से देश में …