मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> मध्यप्रदेश में बारिश से 32 मौते

मध्यप्रदेश में बारिश से 32 मौते

भोपाल  17 अगस्त 2019 । मध्य प्रदेश के 36 जिले इस समय मूसलाधार बारिश की चपेट में हैं। भयंकर बाढ़ के कारण अब तक 32 लोगों को मौत हो चुकी है । मौसम विभाग के मुताबिक, उज्जैन, मंदसौर, नीमच, रतलाम, आगर, शाजापुर, देवास, भोपाल, रायसेन, विदिशा, होशंगाबाद, राजगढ़, सीहोर, गुना, शिवपुरी समेत कई जिलों में मूसलाधार बारिश हो रही है।

बारिश के कारण नर्मदा, शिवना, बेतवा और ताप्ती नदियों के अलावा कई नदियां और नाले उफन पर हैं । मध्यप्रदेश के अलावा उत्तर प्रदेश के भी कई जिले में बारिश के कारण नदियां उफान पर है ।मध्य प्रदेश में लगातार तेज बारिश के चलते कई इलकों का संपर्क कटा हुआ है। इस बीच मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश के 36 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में उज्जैन, मंदसौर, नीमच, रतलाम, आगर, शाजापुर, देवास, भोपाल, रायसेन, विदिशा, होशंगाबाद, राजगढ़, सीहोर, गुना, शिवपुरी, अशोकनगर, श्योपुरकलां, बैतूल, हरदा, इंदौर, धार, खंडवा, छतरपुर, सागर, टीकमगढ़, छिंदवाड़ा, जबलपुर, कटनी, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, उमरिया, अनूपपुर, डिंडोरी और सतना जिले में भारी बारिश की आशंका जताई है।

*कई इलाकों का सड़क संपर्क कटा*
मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बारिश के कारण नर्मदा, शिवना, बेतवा और ताप्ती नदियों के अलावा कई नदियां और नाले उफान पर हैं। इसके चलते मंदसौर, नरसिंहपुर, बैतूल, सागर जिलों के कई इलाकों में कुछ देर के लिए सड़क संपर्क कट गया था । कुछ स्थानों के रास्ते अभी भी बंद हैं । मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि मध्य प्रदेश के लोगों को 16 अगस्त के बाद बारिश से कुछ राहत मिल सकती है।

कल उज्जैन में डूबी कार आज निकली
महिदपुर के सेमदिया गांव में कल 15 अगस्त के दिन एक कार उफनते नाले में बह गई थी, वह आज निकाल ली गई है । कार में दो महिला शिक्षकों के अलावा ड्राइवर सवार था। पिछले 24 घंटों से इनकी तलाश की जा रही थी। शुक्रवार सुबह नाले का जलस्तर घटने पर गांववालों को एक कार नजर आई। आनन-फानन में कार को नाले से बाहर निकाला गया तो सबके होश उड़ गए। कार के भीतर दो महिला शिक्षकों के साथ ही ड्राइवर का शव बरामद हुआ। गांववालों ने शवों को नाले से बाहर निकाल लिया है।

ये लोग बरखेड़ा खुर्द स्‍कूल में झंडावंदन कर लौट रहे थे, तभी यह हादसा हो गया। नाले में पानी का तेज बहाव कार को बहा ले गया। ध्‍वजारोहण और मिठाई वितरण के बाद करीब दस बजे ये वापस निकली थी। एक महिला शिक्षक का नाम शैलजा पारखी बताया जा रहा है। वो इंदौर की रहने वाली हैं।

वहीं दूसरी शिक्षक नीता शेल्को उज्जैन की बताई जा रही हैं। इनके साथ एक अन्य महिला टीचर भी निकली थी। लेकिन मोटरसाइकिल पर सवार होने के चलते वो तो महिदपुर पहुंच गई। लेकिन बाकी लोग कार में सवार होने के चलते हादसे का शिकार हो गए।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कैसे निकलेगी सुलह की राह! पैनल से नहीं मिलेंगे सिद्धू

नई दिल्ली 22 जून 2021 । पंजाब कांग्रेस में अंदरूनी कलह खत्म होने का नाम …