मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> एबीपी न्यूज का नया ओपीनियन पोल

एबीपी न्यूज का नया ओपीनियन पोल

भोपाल 23 अक्टूबर 2018 । मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार
कांग्रेस-130 भाजपा-90 अन्य-10
मुख्यमंत्री के रूप में पसंद
शिवराज-37 % सिंधिया- 39%
वोट शेयर
भाजपा-41% कांग्रेस-43 %
**********
छत्तीसगढ़ में भाजपा की वापसी
भाजपा-52, कांग्रेस -30 अन्य- 8
**********
राजस्थान में कांग्रेस की बड़ी जीत
कांग्रेस-135 भाजपा-60
वोट शेयर
कांग्रेस-42% भाजपा-33%

कांग्रेस ने जारी की दूसरी लिस्ट, सीएम रमन सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी अटल की भतीजी करुणा

छत्तीसगढ़ में पहले चरण के विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने राजनांदगांव की बची छह सीटों पर भी प्रत्याशियों के नामों का ऐलान कर दिया है. कांग्रेस द्वारा प्रत्याशियों की दूसरी सूची सोमवार को जारी कर दी गई.

कांग्रेस ने राजनादगांव विधानसभा सीट से सीएम डॉ. रमन सिंह के खिलाफ पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला को मैदान में उतारा है. 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा से टिकट नहीं मिलने से नाराज करुणा शुक्ला ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया था. पहले चरण के चुनाव के लिए 23 अक्टूबर को नामांकन का आखिरी दिन है. इसे ध्यान में रखते हुए कांग्रेस ने प्रत्याशियों की दूसरी सूची सोमवार रात करीब पौने आठ बजे जारी कर दी.

इससे पहले कांग्रेस में टिकिट चयन को लेकर एक बार फिर बीते रविवार की देर रात बैठक हुई थी. होटल के बंद कमरे में हुई इस बैठक में प्रभारी पीएल पुनिया, भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव मौजूद थे. कांग्रेस द्वारा जारी दूसरी सूची में राजनादगांव से करुणा शुक्ला, खैरागढ़ से गिरवर जंघेल, डोंगरगांव से दिलेश्वर साहू, डोंगरगढ़ से भुनेश्वर बघेल, खुज्जी से चन्नी साहू और मानपुर मोहला से इंद्र शाह मंडावी को उम्मीदवार बनाया गया है.

बीजेपी ने 200 सीटों पर पूरी की रायशुमारी

जयपुर .साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों में जिताऊ उमीदवारों की तलाश में जुटी बीजेपी की रायशुमारी सोमवार को खत्म हुई. यहां अंतिम दिन जयपुर शहर, देहात और सीकर के दावेदारों के लिए चर्चा की गई. सीएम वसुंधरा राजे से लेकर संगठन के बड़े पदाधिकारियों ने 27 विधानसभा सीटों के दावेदारों की स्थिति जानी. वहीं इस दौरान कई विधायकों को अपने ही मंत्रीमंडल पदाधिकारी, पार्षदों का विरोध भी झेलना पड़ा. जयपुर विधानसभा सीट के पर सबसे ज्यादा दावेदार सामने आए.

6 दिन तक चली मैराथन बैठकों के बाद बीजेपी ने चुनावी समर में अपना एक चरण पूरा कर लिया है. प्रत्याशियों के चयन के लिए पहले 3 दिन रणकपुर और उसके बाद 3 दिन राजधानी जयपुर में महामंथन चला. अलग-अलग चक्रीय बैठकों के रूप में रायशुमारी का दौर चला और पार्टी ने चुनाव में टिकट के दावेदारों की किस्मत अब लिफाफे में बंद कर दी है. बीजेपी चुनाव प्रबंधन समिति के सह संयोजक अर्जुन राम मेघवाल ने कहा, रायशुमारी की प्रक्रिया पूरी होने के बाद अब बीजेपी की कोर कमेटी की बैठकें होंगी जिनमें पार्लियामेंट्री बोर्ड को भेजी जाने वाली लिस्ट तैयार की जाएगी.

वहीं, बीजेपी कोर कमेटी के सदस्य राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि, रायशुमारी का यह दौर पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र की भावना को मजबूत करता है. राठौड़ ने आगे कहा, टिकट बांटने और प्रत्याशी तय करने की यह प्रक्रिया सिर्फ बीजेपी जैसी पार्टी में ही संभव हो सकती है.

पार्टी चुनाव को लेकर पूरी गंभीरता दिखा रही है और रायशुमारी के बाद जल्द से जल्द प्रत्याशियों के नामों का ऐलान भी करना चाहती है. राजेंद्र राठौड़ ने इस बात के संकेत भी दिए की पार्टी के संसदीय बोर्ड को हरी झंडी मिलते ही संभवत नवंबर के पहले सप्ताह में प्रत्याशियों की एक सूची जारी कर दी जाएगी.

रायशुमारी प्रक्रिया के आखिरी दिन जयपुर और सीकर जिले की 27 विधानसभा सीटों पर चर्चा हुई. आखिरी बैठक में पार्टी पदाधिकारियों और दावेदारों की अच्छी संख्या को देखते हुए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी कार्यकर्ताओं की हौंसला अफजाई की. उन्होंने कहा कि सरकार ने काफी काम किए हैं और उन कामों के आधार पर सभी कार्यकर्ताओं को सकारात्मक रूप के साथ जनता के बीच जाना चाहिए. टिकट के दावेदारों को नसीहत देते हुए मुख्यमंत्री ने यह भी कह दिया कि एक विधानसभा सीट पर केवल एक ही व्यक्ति को टिकट मिल सकता है, ऐसे में बाकी दावेदारों और पदाधिकारियों को भी पार्टी को जिताने में एकजुट होकर सक्रियता से लगना होगा.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फतह मुबारक हो मुसलमानो, भारत के खिलाफ जीत इस्लाम की जीत…जश्न मनाने के बदले जहर उगलने लगा पाक

नई दिल्ली 25 अक्टूबर 2021 । खराब बल्लेबाजी और खराब गेंदबाजी की वजह से टीम …