मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> आचार संहिता हटते के बाद पहली सूची में ही हुआ कलेक्टर का ट्रांसफर

आचार संहिता हटते के बाद पहली सूची में ही हुआ कलेक्टर का ट्रांसफर

मंदसौर 1 जून 2019 । विधानसभा चुनाव के बाद जिले में आए कलेक्टर धनराजू एस का बीती रात को पहली ही ट्रांसफर सूची में यहां से भोपाल ट्रांसफर हो गया। वे यहां भिंड से ट्रांसफर होकर आए थे। अभी जिले को कोई नया कलेक्टर नहीं मिला है। लेकिन लोकसभा चुनाव की आचार संहिता हटने के साथ ही पहली सूची में कलेक्टर का ट्रांसफर यहां से कर दिया गया। बताया जा रहा था कि कांग्रेस नेताओं ने ही सीएम कमलनाथ से कलेक्टर की शिकायत की थी। इसके बाद यह त्वरित कार्रवाई होना माना जा रहा है। सोमवार की देररात को ट्रांसफर की सूची सोशल मीडिया पर वायरल हुई।

कांग्रेस नेताओं से कहा था अटेंची तैयार है
मंदसौर में आने के बाद से ही कलेक्टर धनराजूएस विवादों में पडऩे गए। किसान को हा या कोई सामाजिक या अन्य संगठन अपनी समस्याओं या किसी जनहित के मुद्दे पर कलेक्टर को ज्ञापन देने पहुंचता तो वे नहीं लेते और जनसमस्याएं लेकर जाने वालों से भी सीधे नहीं मिलते। इसी कारण विरोध का दौर बढ़ता गया। फिर जब शहर के उत्कृष्ठ विद्यालय के खेल मैदान पर छात्रावास निर्माण का विरोध हुआ तो भी लोगों से नहीं मिले और विरोध कई दिनों तक चला। कांग्रेस नेताओं ने हस्तक्षेप किया और मिलने पहुंचे तो उन्हें भी तवज्जों नहीं दी और उनकी बात सुनने और इस मामले का हल निकालने के बजाए कलेक्टर ने कांग्रेस के दिग्गज नेताओं को सीधे कहा था कि अटेंची तैयार है।

आप तो ट्रांसफर करवा देना। इसके बाद से नेताओं ने कलेक्टर की सीएम तक शिकायतें करना शुरु कर दी थी। लेकिन आचार संहिता के कारण ट्रांसफर नहीं हुआ। अब चुनाव खत्म होते ही पहली ही सूची में उनका यहां से भोपाल ट्रांसफर किया गया।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे पूरा, हिंदू पक्ष ने किया दावा-‘बाबा मिल गए’; कल कोर्ट में पेश होगी रिपोर्ट

नयी दिल्ली 16 मई 2022 । ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे पूरा हो गया है। तीसरे …