मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> एयर इंडिया ने गणतंत्र दिवस के मौके पर की सस्ते टिकट की पेशकश

एयर इंडिया ने गणतंत्र दिवस के मौके पर की सस्ते टिकट की पेशकश

भोपाल 26 जनवरी 2019 । लोकसभा चुनाव से पहले बाबूलाल गौर एक बार फिर से चर्चा में हैं। इशारों-इशारों में उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर हमला बोलते हुए कहा है कि बीजेपी अब कुशाभाऊ ठाकरे जैसी पार्टी नही बची है। जिन्होंने इस पार्टी को जीरो से हीरो बनाया, पार्टी में सबको साथ लेकर चले। प्रदेश में एक के बाद एक वरिष्ठ नेताओं को षड़यंत्र कर ठिकाने लगाया गया।

गौर ने कहा कि ‘कैलाश विजयवर्गीय जैसे नेता को प्रदेश छोड़ना पड़ा। लक्ष्मीकांत शर्मा का कद बढ़ने लगा तो व्यापमं में फंसा दिया। राघव, सरताज सिंह और रामकृष्ण कुसमरिया जैसे उम्र और अनुभव में बड़े, पांच-छह बार के सांसद रहे नेताओं को किस तरह अपमानित किया गया। किस तरह उनकी दुर्गति की गई, किसी से छिपी नहीं है। सब जानते हैं, इसके लिए कौन जिम्मेदार है। सब कुछ प्लानिंग से किया गया। मैं सम्मान की लड़ाई लड़ रहा हूं।’

पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने तीन राज्यों में मिली हार पर कहा कि ‘विधानसभा चुनाव में सही लोगो को टिकट नहीं दिया गया। सर्वे में जीतने वाले उम्मीदवार को पार्टी द्वारा दरकिनार किया गया। ऐसे लोगों को टिकट दिया गया जिनका सर्वे में नाम ही नही था। गौर ने कहा कि मैं अभी तटस्थ हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जंबूरी मैदान में कहा था ‘बाबूलाल गौर एक बार और’ बस उन्हीं के इशारे का इंतजार कर रहा हूं। उसके बाद फैसला करूंगा कि क्या करना है क्या नहीं करना है।

गौर को पाले में करके भाजपा को मनोवैज्ञानिक झटका दे सकती है कांग्रेस
भाजपा के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर को कांग्रेस की और से टिकट का ऑफ़र दिया गया था कि वो लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की और से चुनाव लड़ें। पर अभी गौर ने अभी अपने पत्ते नहीं खोले हैं। टिकट की पेशकश के जवाब में उन्होंने केवल इतना कहा कि अभी इस बारे में सोच कर जवाब देंगे। उनका जवाब आया भी नहीं और दिग्विजय सिंह के बाद अब अब प्रदेश के उच्च शिक्षा एवं खेल मंत्री जीतू पटवारी उनके घर पहुंचे और उनसे लम्बी बातचीत की।

इस दौरान बाबूलाल गौर ने जीतू पटवारी को मंत्री बनने की शुभकामनाएं देते हुए उनकी तारीफ भी की और उन्हें ईमानदार और संघर्षशील नेता बताया। पटवारी ने कहा कि यह सब आपका आशीर्वाद है। इसके जवाब में गौर ने कहा कि यह आपके संघर्ष का परिणाम है। बताया जा रहा है कि इस दौरान जीतू पटवारी ने बाबूलाल गौर से काफी लम्बी बातचीत की और इसके बाद गौर ने उन्हें अपने घर में लगी तस्वीरें भी दिखाई, जिनमें कई नेताओं के साथ गौर मौजूद थे। गौर ने कमलनाथ के साथ अपनी एक तस्वीर को दिखाते हुए पटवारी से कहा कि ये हमारे नेता हैं। बाबूलाल गौर इससे पहले भी कमलनाथ से लेकर राहुल गांधी तक की तारीफ कर चुके हैं। उनके साथ कांग्रेस नेताओं की मुलाकात ऐसे समय हो रही है, जब कांग्रेस पार्टी को भोपाल लोकसभा सीट के लिए एक दमदार चेहरे की तलाश है।

वैसे जानकर मानते हैं कि दिग्विजय सिंह कांग्रेस के बहुत ही चतुर नेताओं में गिने जाते हैं। राहुल गांधी से मुलाकात में भी दिग्गी राजा की भूमिका थी,उस समय भी राहुल गांधी ने बाबूलाल गौर से कांग्रेस ज्वाइन करने का ऑफर दिया था।

गोविंदपुरा विधान सभा सीट से अपराजेय रहे बाबूलाल गौर को इस बार भाजपा ने टिकट न देते हुए उनकी बहू कृष्णा गौर को टिकट दिया था,जिसमें कृष्णा गौर ने कांग्रेस के ही उम्मीदवार को लगभग 46,000 वोटो से हराया था। हो सकता है कांग्रेस बाबूलाल गौर की जनता पर इतनी मजबूत पकड़ का फायदा उठाने की जुगत में लगी हो, की किसी तरह गौर साहब को अपने पाले में करके भाजपा को मनोवैज्ञानिक झटका दे सके। पर अभी ये तो समय ही बताएगा कि गौर साहब को भाजपा अपने साथ जोड़े रखती है या कांग्रेस के ऑफर को गौर साहब सीरियसली लेते हैं,पर भाजपा में हलचल ज़रूर मच चुकी है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

बिना लगेज सफर करने वाले एयर पैसेंजर्स को किराए में छूट मिलेगी

नई दिल्ली 27 फरवरी 2021 ।  डोमेस्टिक एयर पैसेंजर्स को अब बैगेज नहीं ले जाने …