मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> बैटकांड में आकाश विजयवर्गीय को जीवनदान? इंदौर कोर्ट में अधिकारी ने बदला बयान, बोला-नहीं पता किसने मारा

बैटकांड में आकाश विजयवर्गीय को जीवनदान? इंदौर कोर्ट में अधिकारी ने बदला बयान, बोला-नहीं पता किसने मारा

इंदौर 19 फरवरी 2022 । पहले आवेदन, फिर निवेदन और फिर दनादन। यह कहकर साल 2019 में चर्चा में आए मध्य प्रदेश के इंदौर से भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय को बड़ी राहत मिली है। जिस अधिकारी ने आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ मारपीट की शिकायत दर्ज कराई थी, उसने कोर्ट में बयान बदल दिया है। अधिकारी के मुताबिक उसने देखा ही नहीं था कि उसे बल्ला किसने मारा था। 2019 का मामला, विडियो हुआ था वायरल
साल 2019 में इंदौर के गंजी कंपाउंड क्षेत्र में एक जर्जर भवन ढहाने की मुहिम के दौरान यह विवाद हुआ था। क्षेत्रीय भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय रिम्यूअल की कार्रवाई को रोकने के लिए पहुंचे थे। इस दौरान उनका अधिकारियों से विवाद हो गया था। आरोप है, कि उन्होंने नगर निगम के तत्कालीन भवन निरीक्षक धीरेंद्र बायस को क्रिकेट बैट से पीट दिया था। 26 जून 2019 को हुई इस मामले में विजयवर्गीय गिरफ्तार भी हुए थे। तब से मामला कोर्ट में चल रहा है।

निगम अधिकारी ने यह कहा
इस मामले की सुनवाई अभी तक भोपाल की स्पेशल कोर्ट में चल रही थी। इंदौर में स्पेशल कोर्ट का गठन होने के बाद यहां सुनवाई हो रही है। शुक्रवार को विजयवर्गीय के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने वाले निगम अधिकारी धीरेंद्र बायस का बयान दर्ज हो रहा था। निगम अधिकारी धीरेंद्र बायस कोर्ट में बयान से पलट गए हैं। उन्होंने कोर्ट में कहाकि घटना के वक्त वे मोबाइल पर बात कर रहे थे। बायस ने कहा कि बल्ला किसने मारा था पता नहीं क्योंकि बल्ला पीछे से चला था। उन्होंने विजयवर्गीय को बल्ला मारते हुए नहीं देखा था। अब इस मामले की सुनवाई 25 फरवरी को होगी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

नरेश पटेल की एंट्री के कयास ने लिखी हार्दिक पटेल के एग्जिट की पटकथा

नयी दिल्ली 18 मई 2022 । कांग्रेस से लंबे समय से नाराज चल रहे गुजरात …