मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> सभी सर्वे मोदी सरकार के पक्ष में, रायशुमारी में भी NDA को बहुमत

सभी सर्वे मोदी सरकार के पक्ष में, रायशुमारी में भी NDA को बहुमत

नई दिल्ली 29 मार्च 2019 । पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के बालाकोट में किए गए हवाई हमले को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और विपक्षी दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप जारी रहने के बावजूद रायशुमारी यह दर्शाती है कि इसके बाद भाजपा की अगुवाई में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को इससे काफी फायदा मिला है।

रायशुमारी में एनडीए आगे
रायशुमारी में बताया गया है कि अगर लोकसभा चुनाव अभी होता है तो राजग चुनाव जीत सकता है। रायशुमारी यह भी दर्शाती है कि 2018 की शुरुआत में राजग की सीटों का अनुमान 322 था, वह इस साल जनवरी में घटकर 237 रह गया।

हालांकि सरकार द्वारा अगड़ी जातियों में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए सरकारी नौकरियों व शिक्षा में 10 फीसदी आरक्षण की घोषणा और बजट में किसानों, संगठित क्षेत्र के श्रमिकों और मध्यम वर्ग के लिए उठाए गए कदमों के बाद राजग की किस्मत फिर पलटी।

हर महीने बदल रहे समीकरण
हर महीने लगातार रायशुमारियां हो रही हैं, लेकिन इन सर्वेक्षणों का औसत इस बात का संकेत देता है कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद राजग को 18 सीटों का फायदा दिख रहा है और इसकी सीटों का अनुमान फरवरी के 256 से बढ़कर मार्च में 274 हो गया है। यहां तुलनात्मक विश्लेषण में दिक्कत यह है कि मार्च के लिए सभी पांच सर्वेक्षणों के आंकड़े उपलब्ध हैं जबकि फरवरी के सिर्फ दो सर्वेक्षणों के आंकड़े उपलब्ध हैं।

अब तक हुए बड़े सर्वे पर नजर

1. टाइम्स नाउ-वीएमआर की रायशुमारी (इस साल के तीन महीनों के आंकड़े ही उपलब्ध थे।) की बात करें तो जनवरी में जहां 252 सीटों का अनुमान था उसमें 18 सीटों की बढ़त के साथ अब यह अनुमान 270 हो गया है।

2. एबीपी-सीवोटर सर्वेक्षण में भी राजग की सीटों में बढ़त दिखाई गई है। सर्वेक्षण में जनवरी में जहां राजग को 233 सीटें दी गई थी, वहां मार्च में 264 सीटें दी गई, जोकि 272 के जरूरी आंकड़े से कम है।

3. इंडिया टीवी-सीएनएक्स सर्वेक्षण मार्च 2019 और इससे पहले दिसंबर 2018 में करवाए गए थे जिनमें राजग को क्रमश: 281 और 285 सीटें दी गई हैं।

4. इंडिया टुडे-कार्वी सर्वेक्षण में जहां पिछले साल अगस्त में राजग को 281 सीटें दी गई थीं वहां इस साल जनवरी में 237 सीटें दी गईं, हालांकि हवाई हमले के बाद के इनके सर्वेक्षण के नतीजे अभी तक उपलब्ध नहीं हुए हैं।

सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल और अंतिम चरण का मतदान 19 मई को होगा, जबकि मतगणना 23 मई को होगी।

लोकसभा के 83 प्रतिशत सदस्य करोड़पति, 33 प्रतिशत दागी

चुनाव सुधार के लिए काम करने वाली संस्था एडीआर की एक रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा के मौजूदा 521 सांसदों में कम से कम 83 प्रतिशत करोड़पति हैं और 33 प्रतिशत के खिलाफ आपराधिक मामले हैं.

गैर सरकारी संगठन एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) 2014 के आम चुनाव में लोकसभा के लिए चुने गए 543 सदस्यों में 521 सांसदों के शपथपत्रों का विश्लेषण कर यह रिपोर्ट तैयार की है. रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘जिन 521 मौजूदा सांसदों के शपथपत्रों का विश्लेषण किया गया, उनमें 430 (83 प्रतिशत) करोड़पति हैं. उनमें बीजेपी से 227, कांग्रेस से 37 और अन्नाद्रमुक से 29 सांसद हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा के प्रत्येक मौजूदा सदस्य की औसत संपत्ति 14. 72 करोड़ रुपए हैं. एडीआर की रिपोर्ट में कहा गया है कि मौजूदा 32 सांसदों ने अपने पास 50 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति घोषित की, जबकि सिर्फ मौजूदा दो सांसदों ने पांच लाख रुपए से कम की संपत्ति घोषित की. रिपोर्ट के मुताबिक मौजूदा 33 प्रतिशत सांसदों (लोकसभा के) ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले होने की घोषणा की है.

एनजीओ की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘उनमें से 106 ने अपने खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले होने की घोषणा की है जिनमें हत्या, हत्या का प्रयास, सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ना, अपहरण और महिलाओं के खिलाफ अपराध जैसे मामले शामिल हैं, जबकि 10 मौजूदा सांसदों ने हत्या से जुड़े मामले घोषित किए हैं. उनमें से चार सांसद बीजेपी से हैं जबकि कांग्रेस, एनसीपी, एलजेपी, आरजेडी और स्वाभिमानी पक्ष से एक-एक सांसद हैं. एक सांसद निर्दलीय है.’’

रिपोर्ट में कहा गया है कि मौजूदा 14 सांसदों ने अपने खिलाफ हत्या के प्रयास के मामलों की घोषणा की है. उनमें से आठ सांसद बीजेपी से हैं. वहीं, कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, एनसीपी, आरजेडी, शिवसेना और स्वाभिमानी पक्ष के एक-एक सांसद हैं. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 14 मौजूदा सांसदों ने सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने के अपने खिलाफ मामले होने की घोषणा की. उनमें से 10 सांसद बीजेपी से हैं जबकि टीआरएस, पीएमके, एआईएमआईएम और एआईयूडीएफ के एक-एक सांसद हैं.

तीसरे चरण के लिए अधिसूचना जारी

चुनाव आयोग ने 23 अप्रैल को होने वाले लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिए गुरुवार को अधिसूचना जारी कर दी. इस चरण में 14 राज्यों की 115 सीटों के लिए मतदान होना है. इस चरण में गोवा, गुजरात, केरल, दादर एवं नगर हवेली, दमन एवं दीव और पुडुचेरी की सभी सीटों पर मतदान होगा.

उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल की अलग-अलग सीटों के लिए सात चरणों में मतदान होगा. चुनाव आयोग के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में तीसरे चरण में मुरादाबाद, रामपुर, संभल, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, आंवला, बरेली और पीलीभीत में मतदान होगा. तीसरे चरण में बिहार के झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा, खगड़िया और छत्तीसगढ़ में सुरगुजा (सु), रायगढ़ (सु), जांजगीर चंपा (सु), कोरबा, बिलासपुर, दुर्ग और रायपुर सीट के लिए में मतदान होगा.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …