मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> किसानों के खातों में पहुँचना शुरू हुई राशि, सभी किसानों को मिलेंगे 2000 रुपए

किसानों के खातों में पहुँचना शुरू हुई राशि, सभी किसानों को मिलेंगे 2000 रुपए

नई दिल्ली 3 अप्रैल 2020 । मोदी सरकार ने कोरोना संक्रमण के संकट से किसानों को उबारने के लिए उनके अकाउंट में इसी सप्ताह 2-2 हजार रुपये भेजने का फैसला किया है. सरकार ने देश के 80 लाख किसानों के अकाउंट में 2000-2000 रुपये भेज दिए हैं। यह रकम प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत रजिस्टर्ड किसानों को भेजी गई है। जल्द ही करीब 9 करोड़ अन्य किसानों के अकाउंट में भी पैसा ट्रांसफर कर दिया जाएगा।
केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 80 लाख किसानों के अकाउंट में पैसा भेजने की तस्दीक की है। उन्होंने बताया कि गरीबों और किसानों को ज्यादा असर न पड़े इसके लिए सरकार ने बड़े आर्थिक पैकेज का ऐलान किया है। उन्होंने बताया कि डायरेक्ट बेनिफट ट्रांसफर के माध्यम से 1600 करोड़ की रकम एक ही दिन में ट्रांसफर की गई।
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत देश में करीब 9 करोड़ किसान रजिस्टर्ड हो चुके हैं। ऐसे में इतने परिवारों को सीधे 18 हजार करोड़ रुपये की मदद इसी हप्ते में मिल सकती है। देश में करीब 14.5 करोड़ किसान हैं, लेकिन इस स्कीम के तहत सभी का वेरीफिकेशन नहीं हो पाया है। कृषि मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि जो पैसा अभी भेजा जा रहा है वो इस स्कीम के दूसरे चरण की दूसरी किश्त है। लॉकडाउन के बाद केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मल सीतारमण और राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने आर्थिक पैकेज में किसान सम्मान निधि का भी जिक्र किया था

अगर आपका पैसा नही आया तो यह करें
अगर आपको पहले सप्ताह में पैसा न मिले तो अपने लेखपाल, कानूनगो और जिला कृषि अधिकारी से संपर्क करें। वहां से बात न बने तो केंद्रीय कृषि मंत्रालय की ओर से जारी हेल्पलाइन (PM-Kisan Helpline 155261 या 1800115526 (Toll Free) पर संपर्क करें।
वहां से भी बात न बने तो मंत्रालय के दूसरे नंबर (011-23381092) पर बात करें। स्कीम का दूसरा चरण भी शुरू हो चुका है जिसके तहत 2000 रुपये की पहली किश्त करीब 3.5 करोड़ लोगों को मिल चुकी है।
इन ‘किसानों’ को नहीं मिलेगा लाभ
(1) ऐसे किसान जो भूतपूर्व या वर्तमान में संवैधानिक पद धारक हैं, वर्तमान या पूर्व मंत्री हैं, मेयर या जिला पंचायत अध्यक्ष हैं, विधायक, एमएलसी, लोकसभा और राज्यसभा सांसद हैं तो वे इस स्कीम से बाहर माने जाएंगे। भले ही वो किसानी भी करते हों।
(2) केंद्र या राज्य सरकार में अधिकारी एवं 10 हजार से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों को लाभ नहीं।
(3) पेशेवर, डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, वकील, आर्किटेक्ट, जो कहीं खेती भी करता हो उसे लाभ नहीं मिलेगा।
(4) पिछले वित्तीय वर्ष में इनकम टैक्स का भुगतान करने वाले किसान इस लाभ से वंचित होंगे।
(5) केंद्र और राज्य सरकार के मल्टी टास्किंग स्टाफ/चतुर्थ श्रेणी/समूह डी कर्मचारियों लाभ मिलेगा।

प्रधानमंत्री जनधन योजना की महिला खाताधारकों के खाते में जमा होगी 500 रुपये की राशि

भारत सरकार द्वारा प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना अंतर्गत महिला हितग्राहियों प्रधानमंत्री जन-धन बैंक खाते में माह अप्रैल 2020 की राशि 500 रुपये प्रतिखाते के मान से 2 अप्रैल, 2020 को जमा कराई जा रही है। इस राशि के बैंक खाते से आहरण हेतु बैंक खाते की अंतिम संख्या के आधार पर तिथि निर्धारित की गई है।

रतलाम जिले के अग्रणी बैंक प्रबंधक राकेश गर्ग ने इस संबंध में बताया कि जिन खातों का अंतिम अंक 0 या 1 है, उन खातों में सरकार द्वारा 2 अप्रैल को राशि जमा की जाएगी तथा उसका भुगतान 3 अप्रैल को किया जाएगा। जिन खातों का अंतिम अंक 2 या 3 है उन खातों में सरकार द्वारा दिनांक 3 अप्रैल को राशि जमा की जाएगी तथा उसका भुगतान 4 अप्रैल को किया जाएगा। जिन खातों का अंतिम अंक 4 या 5 है उन खातों में सरकार द्वारा 4 अप्रैल को राशि जमा की जाएगी तथा उसका भुगतान 7 अप्रैल को किया जाएगा। जिन खातों का अंतिम अंक 6 या 7 है उन खातों में सरकार द्वारा 5 अप्रैल को राशि जमा की जाएगी तथा उसका भुगतान 8 अप्रैल को किया जाएगा। जिन खातों का अंतिम अंक 8 या 9 है उन खातों में सरकार द्वारा 6 अप्रैल को राशि जमा की जाएगी तथा उसका भुगतान 9 अप्रैल को किया जाएगा।

9 अप्रैल, 2020 के पश्चात कभी भी बैंकिंग कार्यकाल के दौरान खाताधारक द्वारा अपने खाते से राशि आहरित की जा सकती है, परन्तु उपरोक्त निर्धारित तिथि को उसके सामने अंकित अंतिम अंक वाले खाते के खाताधारक द्वारा ही राशि आहरित की जा सकेगी। रतलाम जिले में प्रधानमंत्री जन-धन योजना के कुल 06 लाख 92 हजार 721 खाते है और इनमें से महिला खाताधारकों की संख्या 03 लाख 54 हजार 435 है। इन खाता धारकों द्वारा एटीएम/बैंक शाखा/बी.सी. एजेंट के माध्यम से राशि आहरित की जा सकती है। कोरोना वायरस COVID-19 के संक्रमण से बचाव के लिए राशि भुगतान के समय सोशल डिस्टेंसिंग के सिंद्धात का कड़ाई से पालन करने कहा गया है।

अग्रणी बैंक प्रबंधक राकेश गर्ग ने बताया कि प्रधानमंत्री जन-धन योजना के जिन खातों में केवायसी नहीं होने के कारण होल्ड लगाया गया था उसे अब 30 जून 2020 तक के लिए हटा दिया गया है। जिन खातों में होल्ड लगा होने के कारण खाता धारक लेनदेन नहीं कर पा रहे थे वे खाता धारक अब ऐसे खातों से लेनदेन कर सकते है।

पीएम मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों से मांगी सलाह,15 अप्रैल को कैसे खत्म हो लॉकडाउन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से बात की. इस दौरान राज्यों ने केंद्र से मेडिकल किट, बकाये पैसे के साथ ही आर्थिक मदद की मांग की है. इसके साथ ही राज्यों ने केंद्र से यह भी पूछा कि लॉकडाउन कब तक लागू रहेगा?

बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से देश को लॉकडाउन से बाहर निकालने के बारे में सुझाव देने के लिए कहा. इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों से 21 दिनों के लॉकडाउन के बाद देश की जनता के फिर से बाहर निकलने को सुनिश्चित करने के लिए एक रणनीति तैयार करने के लिए कहा है.

प्रधानमंत्री से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत करने के बाद कुछ ऐसा ही ट्वीट महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा किया गया था. ट्वीट के मुताबिक प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों से कहा है कि लॉकडाउन 15 अप्रैल को अचानक ही नहीं हटा लिया जाना चाहिए, बल्कि इसे चरणबद्ध तरीके से कई चरणों में हटाना चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि इसमें सावधानी बरतनी चाहिए ताकि भीड़ न हो.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

मोदी सरकार के आर्थिक सुधार कार्यक्रमों के सुखद परिणाम अब नजर आने लगे हैं

नई दिल्ली 20 सितम्बर 2021 । वर्ष 2014 में केंद्र में मोदी सरकार के स्थापित …