मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> अंडमान एवं निकोबार के 3 द्वीपों का नाम बदले जाने की घोषणा

अंडमान एवं निकोबार के 3 द्वीपों का नाम बदले जाने की घोषणा

नई दिल्ली 31 दिसंबर 2018 । मोदी ने अंडमान एवं निकोबार के तीन द्वीपों के नाम बदलने की घोषणा की। इसमें रॉस आइलैंड का नाम बदलकर नेताजी सुभाषचंद्र बोस, नील आइलैंड का नाम शहीद द्वीप और हैवलॉक आइलैंड का नाम स्वराज द्वीप कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को पोर्ट ब्लेयर में एक कार्यक्रम के दौरान अंडमान एवं निकोबार के तीन द्वीपों के नाम बदलने की घोषणा की। इसमें रॉस आइलैंड का नाम बदलकर नेताजी सुभाषचंद्र बोस, नील आइलैंड का नाम शहीद द्वीप और हैवलॉक आइलैंड का नाम स्वराज द्वीप कर दिया गया है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने ट्वीट करके प्रधानमंत्री द्वारा तीन द्वीपों का नाम बदले जाने की पुष्टि की। भाजपा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा, “प्रधानमंत्री ने रविवार शाम ऐलान किया कि अब से रॉस द्वीप को नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वीप के नाम से, नील द्वीप को शहीद द्वीप के नाम से और हैवलॉक द्वीप को स्वराज द्वीप के नाम से जाना जाएगा।”

अंडमान एवं निकोबार द्वीप पर सुभाष चंद्र बोस ने 1943 में तिरंगा फहराया था। प्रधानमंत्री इस महान घटना के 75 साल पूरे होने के अवसर पर अंडमान एवं निकोबार पहुंचे और यहां तिरंगा फहराने के बाद कहा, “सुभाष बाबू ने यहां 75 साल पहले तिरंगा फरहाने का साहसिक कार्य किया था और अब मैं यहां तिरंगा फहरा कर गर्व महसूस कर रहा हूं।”

प्रधानमंत्री ने रविवार को ही 2004 में आई सुनामी पीड़ितों की याद में बने स्मारक का दौरा किया। साथ ही मोदी ने मस जेट्टी के पास तट सुरक्षा कार्य के लिए और कैम्पबेल बे जेट्टी के विस्तार के लिए आधारशिला भी रखी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना महामारी के चलते सादे समारोह में ममता बनर्जी ने ली शपथ

नई दिल्ली 05 मई 2021 । तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने राजभवन …