मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> मोदी सरकार की पेंशन स्कीम में 5 बदलावों को मंजूरी

मोदी सरकार की पेंशन स्कीम में 5 बदलावों को मंजूरी

नई दिल्ली 11 दिसंबर 2018 । कैबिनेट ने नई पेंशन स्कीम में 5 बदलावों को मंजूरी दे दी है. नई पेंशन स्कीम को EEE का दर्जा मिलेगा, NPS में बदलाव अगले वित्त वर्ष यानी एक अप्रैल 2019 से लागू होंगे. वित्त मंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि कैबिनेट ने न्यू पेंशन स्कीम में कुछ बदलाव करने का फैसला किया है, न्यू पेंशन स्कीम में केंद्र सरकार का योगदान 10 से बढ़ाकर 14 फीसदी कर दिया गया है, एनपीएस से 60 फीसदी की निकासी टैक्स फ्री होगी.

40 फीसदी बढ़ाया योगदान- सरकार ने केंद्र और राज्य सरकारी कर्मचारियों के लिए तोहफा दिया है. सरकार ने नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) में अपना योगदान बढ़ाकर मूल वेतन का 14 प्रतिशत कर दिया. यह फिलहाल 10 प्रतिशत है. हालांकि कर्मचारियों का न्यूनतम योगदान 10 प्रतिशत बना रहेगा. मंत्रिमंडल ने कर्मचारियों के 10 प्रतिशत तक योगदान के लिए आयकर कानून की धारा 80 सी के तहत कर प्रोत्साहन को भी मंजूरी दी. फिलहाल सरकार और कर्मचारियों का योगदान एनपीएस में 10-10 प्रतिशत है.

क्या होता है ईईई दर्जा- आपको बता दें कि पीपीएफ की तरह एनपीएस को भई ईईई (एक्जेम्प्ट-एक्जेम्प्ट-एक्जेम्प्ट) दर्जा मिलेगा. इसका मतलब होता है कि तीनों मोर्चों- निवेश के समय, ब्याज पर और परिपक्वता पर- पीपीएफ में टैक्स से राहत मिलती है. कोई भी व्यक्ति पीपीएफ खाता खोल सकता है और उसमें पैसे जमा करवा कर टैक्‍स सेविंग कर सकता है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

ये तो छोड़कर चले गए थे…अशोक गहलोत ने सचिन पायलट गुट के विधायकों पर कसा तंज

नयी दिल्ली 4 दिसंबर 2021 । अशोक गहलोत और सचिन पायलट राजस्थान कांग्रेस में सबकुछ अच्छा …