मुख्य पृष्ठ >> अपराध >> राजभवन के पास दिनदहाड़े करीब साढे़ छह लाख की लूट

राजभवन के पास दिनदहाड़े करीब साढे़ छह लाख की लूट

लखनऊ 31 जुलाई 2018 । लखनऊ के वीवीआईपी इलाके में राजभवन के ठीक पास बाइक सवार बदमाश ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर बैंक की कैशवैन के गार्ड की हत्या कर दी और लाखों रुपये लूट लिये। इस फायरिंग में कस्टोडियन और ड्राइवर भी घायल हो गये। फायरिंग से हड़कंप मच गया और राहगीर दहशत में आ गए। इसी एक राहगीर हिम्मत दिखाते हुए एक बदमाश से जूझ गया, जिससे उसकी पिस्टल वहीं गिर पड़ी। कई घंटे तक लूटी गई रकम 20 लाख रुपये बताई जाती रही पर बाद में एसएसपी ने दावा किया कि लूटे गये बैग में 6 लाख 44 हजार रुपये थे।

हजरतगंज कोतवाली क्षेत्र में इतनी बड़ी घटना से पूरा पुलिस महकमा हिल गया। आनन-फानन डीजीपी ओपी सिंह, एडीजी कानून व्यवस्था आनन्द कुमार, आईजी सुजीत पाण्डेय समेत कई पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गये। तब तक घायलों को अस्पताल भेज दिया गया था। डीजीपी ने इस घटना की पड़ताल में एसटीएफ को भी लगा दिया है। साथ ही लखनऊ की छह टीमें बदमाशों की तलाश कर रही हैं।

एक्सिस बैंक के दूसरी ओर खड़ी थी वैन
एक्सिस बैंक के अधिकारी के मुताबिक सिक्योरिटी इंडिया प्रा.लि. (एसआईपीएल) रोजाना शहर के बड़े व्यापारियों से रुपये लेकर उनके और एचडीएफसी बैंक में जमा करती है। रोजाना की तरह ही इस कंपनी की कैशवैन सोमवार अपराह्न साढ़े तीन बजे एक्सिस बैंक के सामने पहुंची। वैन को बैंक गेट पर न खड़ी कर सड़क के दूसरी ओर खड़ा किया गया।

फिल्मी अंदाज में कैशवैन से लूटा बैग
ड्राइवर राम सेवक ने बताया कि गनमैन इन्द्रमोहन सिंह, कस्टोडियन उमेश चन्द्र शर्मा रुपयों से भरे दो बैग लेकर बैंक गये। वहां जमा करने के बाद वे दो और बैग लेकर बैंक जाने के लिए सड़क पार करने लगे। बस, इसी समय अचानक एक युवक डिवाइडर के पास आया और कुछ समझने से पहले ही इन्द्रमोहन व उमेश पर फायरिंग कर दी। सीने में दो गोली लगने से इन्द्रमोहन लहूलुहान होकर वहीं गिर पड़ा। उमेश के पैर में गोली लगी। पर, वह एक बैग लेकर बैंक के अंदर भाग गया। इस पर बदमाश कैशवैन की तरफ बढ़ा। रामसेवक ने बताया कि वह नीचे उतर चुका था और उसके पेट में भी छर्रा लगा था। उसने विरोध नहीं किया और बैंक की तरफ भागा। इसी समय बदमाश ने एक बैग उठाया और बाइक से भाग निकला।

दहशत के बीच घायलों को अस्पताल ले जाया गया
फायरिंग से दहशत फैल गई थी। राहगीर भी इधर-उधर भाग लिये थे। अफरातफरी के बीच दोनों घायलों को सिविल अस्पताल ले जाया गया जहां कुछ देर बाद ही इन्द्रमोहन की मौत हो गई जबकि उमेश को ट्रॉमा भेज दिया गया। वहीं राम सेवक को मामूली रूप से छर्रा लगा था जिस कारण उसे पुलिस पूछताछ के लिए ले गई।

सीसीटीवी कैमरे में बदमाश दिखा
घटना से हड़बड़ाई पुलिस ने आनन-फानन कन्ट्रोल रूम और बैंकों में सीसी कैमरे की फुटेज देखना शुरू कर दिया। करीब 40 फुटेज देखे गये। बैंक के दो और हजरतगंज चौराहे से बंदरियाबाग चौराहे के बीच लगे चार कैमरों में बदमाश भागते दिखा लेकिन उसकी तस्वीर पहचान में नहीं आ रही है। इन तस्वीरों को और साफ करने के लिए फोरेंसिक लैब भेजा गया है।

चोरी की बाइक से की घटना
प्रत्यक्षदर्शियों और सीसी फुटेज से पता चला कि बाइक पर UP32 BK7068 नंबर लिखा था। यह नंबर एक स्कूटी का निकला। इस आधार पर ही कहा जा रहा है कि यह बाइक चोरी की है। इस बारे में भी सभी को बता दिया गया है।

बाइक बैंक के बाहर खड़ी की
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि लुटेरे ने अपनी बाइक बैंक के बाहर खड़ी की थी। सीसी फुटेज में भी वह गाड़ी खड़ी करता दिखा है। यहां गाड़ी खड़ी करने के तुरन्त बाद ही वह लूट के लिए सड़क पार करने लगा था।

अखिलेश ने कहा, पूरा यूपी दहशत में
समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को राजधानी में हुई लूट की घटना पर प्रदेश सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, राजभवन व मुख्यमंत्री की नाक के नीचे कैश वैन की करोड़ों की डकैती व गोलीबारी ने राजधानी व पूरे प्रदेश को दहशत में डाल दिया है। एक दिन पहले जहाँ ‘विशिष्ट’ लोगों के लिए सर्वोच्च स्तर की सुरक्षा थी, वहाँ आज कुछ भी सुरक्षित नहीं। देखते हैं ‘एनकाउंटरवाली सरकार’ अब क्या सफ़ाई देती है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

आयुष्मान भारत ने लाखों लोगों को गरीबी के दलदल में फंसने से बचाया: पीएम नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली 27 सितम्बर 2021 । पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार को आयुष्मान भारत डिजिटल …