मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> UP में बाबा की वापसी से 2024 के लिए मिला बड़ा संदेश, पस्त कांग्रेस के सहारे कैसे घेरेगा विपक्ष

UP में बाबा की वापसी से 2024 के लिए मिला बड़ा संदेश, पस्त कांग्रेस के सहारे कैसे घेरेगा विपक्ष

नयी दिल्ली 10 मार्च 2022 । उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की वापसी के साथ ही 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए भी बड़ा संदेश मिला है। यूपी में जीत का मतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साल 2024 के आम चुनाव से पहले सबसे अधिक आबादी वाले राज्य पर पूर्व बहुमत के साथ पार्टी का नियंत्रण रखने के लिए तैयार हैं। ऐसे इसलिए क्योंकि लोकसभा चुनाव उत्तर प्रदेश अहम भूमिका निभाता है। संसद में सबसे अधिक सांसद यहीं से जाते हैं। यूपी में बीजेपी से ही कहते आ रही थी कि वह महामारी के दौरान गरीबों के लिए मुफ्त राशन, अपराध पर नकेल कसने और हिंदू बहुसंख्यकों के बीच लोकप्रियता के साथ-साथ मंदिर के निर्माण जैसी नीतियों की वजह से वो राज्य में दोबारा सत्ता हासिल कर लेगी।
आम आदमी पार्टी जो कि राजधानी दिल्ली पर शासन करती है, पंजाब में भारी जीत की ओर बढ़ रही है। जबकि मणिपुर, गोवा और उत्तराखंड में नतीजें बीजेपी के पक्ष में हैं।

दशकों से, उत्तर प्रदेश कांग्रेस का गढ़ था, लेकिन हाल के वर्षों में यह अपनी लोकप्रियता के गिरते ग्राफ को रोकने में असफल रही है और लगातार नीचे गिरती जा रही है। यूपी की जीत सीएम योगी की लोकप्रियता पर मुहर होगी। पांच साल पहले उन्हें यूपी का मुख्यमंत्री बनाया गया था और अब उन्हें कुछ लोग भविष्य में प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में भी देख रहे हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …