मुख्य पृष्ठ >> 63 खातों के जरिये फर्जी कागजात के आधार पर करीब 500 करोड़ से ज्यादा के बैंक घोटाले को अंजाम दिया गया है.

63 खातों के जरिये फर्जी कागजात के आधार पर करीब 500 करोड़ से ज्यादा के बैंक घोटाले को अंजाम दिया गया है.

मुंबई 19 फरवरी 2020 । महाराष्ट्र में पीएमसी बैंक घोटाले का मामला अभी लोग भूले नही कि एक और बैंक घोटाला सामने आ गया है. जिस बैंक घोटाले की हम बात कर रहे हैं उसका नाम है कर्नाला सहकारी बैंक. नवी मुंबई के पनवेल शहर में मौजूद कर्नाला सहकारी बैंक में 500 से ज्यादा करोड़ के घोटाले का मामला पुलिस ने दर्ज किया है. पुलिस के मुताबिक इस बैंक से कई खाता धारको ने फर्जी कागजात के आधार पर कर्ज लेकर सैकड़ो करोड़ के घोटाले को अंजाम दिया है.

पुलिस के मुताबिक पनवेल कर्नाला सहकारी बैंक घोटाले मामले में पुलिस ने शेतकरी कामगार पार्टी, पूर्व विधायक और बैंक के अध्यक्ष विवेक पाटिल के खिलाफ मामला दर्ज किया है. साथ ही बैंक के संचालक मंडल समेत 14 बैंक के सदस्यों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

पुलिस की जांच में पता चला है कि इस बैंक के 63 खातों के जरिये फर्जी कागजात के आधार पर करीब 500 करोड़ से ज्यादा के बैंक घोटाले को अंजाम दिया गया है. इसलिये पुलिस ने उन 63 खाता धारको के खिलाफ मामला दर्ज किया है. जो इस घोटाले में शामिल हैं. पुलिस ने जिन खाताधारको के खिलाफ मामला दर्ज किया है उनमें से कई खाता धारक शेतकरी कामगार पार्टी के सदस्य बताये जा रहे हैं.

पनवेल में हुए इसे बैंक घोटाले को लेकर अब राजनीति भी शुरू हो गयी है। बीजेपी ने पनवेल में इस बैंक के सामने मोर्चा निकाला और मांग की की बैंक के संचालन विवेक पाटिल को गिरफ्तार किया जाए. साथ ही उसकी सम्पत्ति भी जप्त की जाए. राजनीतिक दबाव के चलते इस बैंक के संचालक की गिरफ्तारी भी हो सकती है. फिलहाल पुलिस ने कर्नाला सहकारी बैंक घोटाले का केस EOW सौंप दिया है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

जमीन विवाद में नया खुलासा, ट्रस्ट ने उसी दिन 8 करोड़ में की थी एक और डील

नई दिल्ली 17 जून 2021 । अयोध्या में श्री राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीदी …