मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> भृगु संहिता जो सिर्फ नाम देखकर बताती है सटीक भविष्यवाणी

भृगु संहिता जो सिर्फ नाम देखकर बताती है सटीक भविष्यवाणी

नई दिल्ली 1 जनवरी 2019 । दोस्तों, अपना भविष्य जानने की सबकी लालसा होती है। पंजाब का होशियारपुर एक अलग ही तरह की कुंडली बताने वालों का गढ़ है। जहां सिर्फ नाम सुनकर ही भविष्य बता दिया जाता है। अपना भविष्य जानने वालों का होशियारपुर के रेलवे मंडी इलाके में जमघट लगता है। यहां लोग सात समुंदर पार करके अपना भविष्य जानने के लिए आते हैं। भविष्य बताने वाले पंडितों का कहना है कि ये पांडुलिपियाँ इनके परदादा को एक कबाड़ के ढेर से मिली थी जिसपर इनके परदादा का नाम लिखा था।

आखिर क्या है भ्रगु संहिता? भृगु संहिता लगभग पांच हजार साल पुराना एक धार्मिक ग्रंथ है, जिसे ऋषि भृगु ने लिखा था। इस ग्रंथ का लाभ हर धर्म के लोग उठा सकते हैं। भृगु संहिता तीन परिवारों के साझा भंडार में सुरक्षित है। ग्रंथ को एक स्टोर रूम में रखा गया है और वह कई टन वजनी है। उपलब्ध पृष्ठों के लिए एक सूचकांक तैयार किया गया है, ताकि जरूरत पडऩे पर संबंधित हिस्से को देखा जा सके।

कैसे बताया जाता है भविष्य ? जब कोई व्यक्ति भृगु शास्त्री को अपना नाम, जन्म तिथि, माता-पिता का नाम जैसी जानकारियां देता है, उसके बाद भृगु संहिता में उससे संबंधित जानकारियां ढूंढी जाती हैं। जब नाम मिल जाता है, तो व्यक्ति को बुलाया जाता है और उसे उसका अतीत व भविष्य बताया जाता है। इसमें कुछ दिनों का वक्त लग जाता है.

कौन कौन आ चुका है यहां होशियारपुर की गलियों में कई जानी-मानी हस्तियां अपना भविष्य जाने के लिए आ चुकी है। यहां बड़े बड़े राजनीतिज्ञ से लेकर खेल और फिल्मी जगत के लोग भी अपना भविष्य जानने के लिए आ चुके हैं। राजनीतिज्ञ में पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी तथा हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल एवं फिल्म अभिनेताओं में धर्मेद्र, हेमा मालिनी, संजय दत्त जैसे सितारे भृगु शास्त्रियों से यहां आकर मिल चुके हैं.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Ram Mandir निर्माण के लिए Rajasthan के लोगों ने दिया सबसे ज्यादा चंदा

जयपुर: विश्व हिंदू परिषद (VHP) के केंद्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के …