मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> कैंसर के इलाज के लिए अब नहीं जाना होगा बड़े शहर

कैंसर के इलाज के लिए अब नहीं जाना होगा बड़े शहर

उज्जैन 7 जनवरी 2022 । सीबीसीसी (CBCC) कैंसर उपचार में प्रमुख संस्थानों में से एक है जिसका मुख्य केंद्र अमेरिका में स्थित है। आज पूरे भारत में यह दस अलग-अलग केंद्रों द्वारा कैंसर निदान एवं उपचार की सुविधा प्रदान कर रहा है। जिसके एक और अंश की शुरूआत उज्जैन में की गई। कॉम्प्रिहेंसिव ब्लड एंड कैंसर केयर (सीबीसीसी) की स्थापना सर्वोत्तम कैंसर की देखभाल प्रदान करने के लिए और एक ही छत के नीचे विश्वस्तरीय कैंसर सुविधा प्रदान करने के लक्ष्य से की गयी हैं। यह बात आयोजित प्रेसवार्ता में डॉ मनीष सिद्ध डॉ. राजेश जैन और डॉ. बी रमेश ने बताया कि सीबीसीसी टीम अब उज्जैन में भी कदम रख रही है। आने वाले समय में हम मध्य प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में भी हम हमारी सेवाएं विकसित करेगें। हम अन्य राज्यों में भी कैंसर सम्बंधित सुविधाओं का विस्तार जल्द ही उपलब्ध करवाएंगे, जिसमें ओडिशा, झारखंड, छत्तीसगढ़ जैसे राज्य भी शामिल है। उज्जैन में कैंसर की देखभाल के लिए यह छोटा कदम एक बड़ा मुकाम हासिल करेगा। अब कैंसर के मरीजों को इलाज के लिए दूर नहीं जाना पड़ेगा। आने वाले समय में जल्द ही हम इस सुविधा का और विस्तार करेंगें।बुधवार को हुआ सीबीसीसी का शुभारंभ
कॉम्प्रिहेंसिव ब्लड एंड कैंसर केयर (सीबीसीसी) की एक और नयी इकाई का शुभारंभ बुधवार को किया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि डॉ सतिंदर कौर सलूजा सीनियर गायनेकोलॉजिस्ट एवं प्रेसिडेंट जिजीविषा थी, जबकि विशेष अतिथि के रूप में रमेश साबू- पूर्व नेशनल प्रेसिडेंट जूनियर चैम्बर इंटरनेशनल इंडिया एवं डॉ पीएन तेजनकर- सीनियर ई एनटीसर्जन, डॉ कात्यायन मिश्रा शामिल थे। कैंसर एज वी अंडरस्टैंड इट पर चर्चा
उद्घाटन के बाद डॉक्टरों की टीम द्वारा कैंसर एज वी अंडरस्टैंड इट विषय पर विशेष चर्चा की गई गई, जिसमें मॉडरेटर डॉ मनीष सिद्धा थे। पैनलिस्ट में शामिल डॉ सतिंदर कौर सलूजा, डॉ कात्यायन मिश्रा, रमेश साबू, डॉ पीएन तेजांकर, डॉ अजय खरे, निरुक्त भार्गव एवं डॉ मपंक पंचोली शामिल थे। चर्चा के दौरान कैंसर सम्बंधित निदान, उपचार एवं बचाव जैसे विषयों पर विचार विमर्श हुआ। इसके साथ-साथ नवीनतम तकनीकों के द्वारा गुणवत्ता पूर्वक उपचार प्रदान करने के विषय पर भी जानकारी साझा की गई।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …