मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> उत्तरप्रदेश >> UP में फिर एक बार BJP सरकार मगर हो रहा यह नुकसान

UP में फिर एक बार BJP सरकार मगर हो रहा यह नुकसान

नई दिल्ली 13 नवंबर 2021 ।  अगले साल होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के लिए अभी से ही राजनीतिक पार्टियां जोर आजमाइश में जुट गईं हैं। उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में किसकी सरकार बनेगी और किसकी विदाई होगी, इस पर अभी से ही सियासी गुणा-गणित का काम शुरू हो चुका है। उत्तर प्रदेश में इस बार जनता का क्या मूड है, इसका पता तो चुनाव बाद ही पता चलेगा, मगर अभी से ही टीवी चैनलों और एजेंसियों ने जनता की नब्ज को टटोलना शुरू कर दिया है। एबीपी न्यूज-सी वोटर ने अपने लेटेस्ट सर्वे में यूपी का मूड बताया है, जिसके हिसाब से यूपी में एक बार फिर से योगी सरकार बाजी मारती नजर आ रही है। नवंबर महीने के पहले सप्ताह में किए गए सर्वे में एबीपी न्यूज-सी वोटर ने बताया कि उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से भाजपा सरकार बनाने में कामयाब होती नजर आ रही है। हालांकि, भाजपा को काफी सीटों का नुकसान हो रहा है और 300 का आंकड़ा भी पार करती नहीं दिख रहा है। इधर, समाजवादी पार्टी को फायदा होता दिख रहा है, जबकि मायावती को तगड़ा झटका लगता दिख रहा है। सर्वे का सैंपल साइज 1,07,193 था और इनमें पांचों राज्यों के लोग शामिल थे।

ABP-CVoter सर्वे के मुताबिक, 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में भाजपा को 213 से 221 सीटें मिलती दिख रही हैं। यहां ध्यान देना जरूरी है कि 2017 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को 325 सीटें मिली थीं। भले ही भाजपा की सीटों में गिरावट का अनुमान लगाया गया है, मगर अब भी भगवा पार्टी यूपी में आसानी से लीड करती नजर आ रही है और योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सरकार बनाती दिख रही है। सर्वे में अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी को 152 से 160 सीटों पर जीत दिखाया गया है। वहीं, मायावती की बसपा के खाते में महज 16 से 20 सीटें जाती दिख रही हैं। बता दें कि बसपा ने पिछले चुनाव में 19 सीटें जीती थीं। अगर कांग्रेस की बात करें तो उसका हाल और भी बुरा दिख रहा है। सर्वे में कांग्रेस के खाते में महज 6 से 10 सीटें जाती दिख रही हैं।

वहीं वोट फीसदी की बात करें तो भाजपा को करीब 41 फीसदी वोट शेयर मिलने का अनुमान है। यह 2017 से थोड़ा सा कम है। सपा को 31 फीसदी तो बसपा को 15 फीसदी वोट मिलने का अनुमान है। कांग्रेस को 9 फीसदी वोट मिलता दिख रहा है। यहां सपा को फायदा होता दिख रहा है, क्योंकि अखिलेश यादव की पार्टी को पिछले चुनाव में महज 23.6 फीसदी वोट ही मिले थे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

महिला कांग्रेस नेता नूरी खान ने दिया इस्तीफा, कुछ घंटे बाद ले लिया वापस

उज्जैन 4 दिसंबर 2021 ।  महिला कांग्रेस की नेता नूरी खान के इस्तीफा देने से …