मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> भाजपा के पास दावेदारों की लंबी सूची, कांग्रेस इंदौरी प्रत्याशी के भरोसे

भाजपा के पास दावेदारों की लंबी सूची, कांग्रेस इंदौरी प्रत्याशी के भरोसे

उज्जैन 19 मार्च 2019 । लोकसभा चुनाव का आगाज आचार संहिता के दस्तक देने के साथ हो चुका है। राजनीतिक दल भी प्रत्याशी चयन के साथ साथ मतदाताओं के बीच अपनी पैड बनाने में जुट चुके हैं। वैसे तो उज्जैन आलोट संसदीय सीट भाजपा का गढ़ रही है कांग्रेस के पास इस सुरक्षित सीट पर स्थानीय दमदार प्रत्याशी का हमेशा टोटा नजर आया है। यही वजह है कि इस सीट पर इंदौर के नेताओं की पकड़ सदैव देखी गई है। अलग बात है कि प्रेमचंद गुड्डू के अलावा कोई भी इंदौरी नेता इस सीट पर जीत का स्वाद नहीं चख पाया है। हालांकि इस बार भी इस सीट पर मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के युवा पुत्र चिंटू सिलावट के कांग्रेस के प्रत्याशी की खबरें चौराहों पर बनी हुई है। इसके पीछे ठोस कारण भी है पिछले दिनों चिंटू सिलावट का उज्जैन में शक्ति परीक्षण करवाया गया था। इधर भाजपा में सांसद चिंतामन मालवीय सशक्त दावेदार बने हुए हैं लेकिन उनके कार्यकाल के क्रियाकलापों के चलते बदलाव की स्थिति नजर आ रही है। वैसे भी पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद थावरचंद गहलोत भी इस सीट से भाग्य आजमाने के लिए आतुर नजर आ रहे हैं। पिछले दो दशक से उनके द्वारा उज्जैन में गुटीय राजनीति कर अपनी पैठ बनाने की कोशिश की गई है।
वैसे भाजपा के पास इस सीट से चुनाव लड़ने वाले दावेदारों की कोई कमी नहीं है पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद सत्यनारायण जटिया ने सदैव इस सीट को भाजपा की झोली में रखा था वही जटिया के अलावा कई युवा भी उम्मीदवारों की दौड़ में है। भाजपा की महापौर श्रीमती मीना जोनवाल भी सशक्त दावेदार मानी जा रही है वहीं सरपंच संघ के पूर्व अध्यक्ष रहे पूर्व सरपंच और भाजपा आईटी सेल के शंकर लाल अहिरवार रविदास समाज से सशक्त दावेदार है। कुल मिलाकर भाजपा के पास दावेदारों की लंबी सूची है और कांग्रेस इंदौर के प्रत्याशी पर निगाह जमाए बैठी हैं। वैसे यूं देखा जाए तो प्रेमचंद गुड्डू के अलावा किसी इंदौरी नेता को उज्जैन से कभी जीत नसीब नहीं हुई है। वहीं भाजपा मे प्रत्याशी बदलाव की मांग भी जोर पकड़े हुए हैं।

सिंधिया के खिलाफ भाजपा ने की शिकायत, यह है मामला
कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं गुना संसदीय क्षेत्र के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ अशोकनगर में भारतीय जनता पार्टी ने आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत की है। जिला निर्वाचन अधिकारी को दी शिकायत में बीजेपी ने कहा है कि रविवार को सांसद सिंधिया ने मुंगावली में पोलिंग एजेंटों की बैठक के दौरान कहा है कि जिन गांवो में कांग्रेस को 70 फ़ीसदी से ज्यादा वोट मिलेंगे । उन गांवों में विकास के लिये 10 लाख रुपए सांसद निधि से दिए जाएंगे । ताकि उन गांवों का बेहतर विकास हो सके ।दरअसल, लोकसभा चुनाव की तारीख घोषित होने के बाद सभी राजनीतिक पार्टियां सक्रिय हो गई हैं। रविवार को सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुंगावली और बहादुरपुर में पोलिंग एजेंटों को सम्बोधित किया| इस दौरान सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कार्यकर्ताओं को नसीहत दी कि वह अशोकनगर और मुरैना जिले के कार्यकर्ताओं से सीख लें कि पार्टी के लिए किस तरह से काम किया जाता है। साथ ही उन्होंने बूथ कार्यकर्ताओं से कहा कि जिस पोलिंग से पार्टी को 70 फीसदी से अधिक वोट मिलेंगे, उस गांव के विकास के लिए 10 लाख रुपए दिए जाएंगे। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया जिले के तीन दिवसीय दौरे पर आए हुए हैं।

रविवार को वह कांग्रेस द्वारा आयोजित पार्टी के बूथ लेवल कार्यकर्ता सम्मेलन में पहुंचे। जहां पर उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और जीत के लिए काम करने में जुट जाने के निर्देश दिए। इस बैठक में पोलिंग एजेंट और पेज प्रमुख मौजूद थे। सिंधिया ने कहा अशोकनगर जिले के कार्यकर्ताओं ने तीनों विधानसभा सीटों और मुरैना जिले की सभी छह विधानसभा सीटों पर पार्टी को जीत दिलाई। साथ ही यह भी कहा कि जिस पोलिंग बूथ से इस बार पार्टी को 70 फीसदी से अधिक वोट मिलेंगे, उस पोलिंग के कार्यकर्ताओं का मंच पर सम्मान किया जाएगा, साथ ही उस पोलिंग वाले गांव के विकास के लिए 10 लाख रुपए दिए जाएंगे। ताकि उस पैसे से गांव का विकास हो सके। भाजपा ने सिंधिया की इस घोषणा को आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुये सिंधिया के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।

पार्षद ने निगम कर्मचारी को थप्पड़ जड़ा, जानिए पूरा मामला
चंदन नगर इलाके में वार्ड 2 के पार्षद मुबारिक मंसूरी ने सहायक दरोगा को थप्पड़ मार दिया। वाकया उस वक्त हुआ, जब अमानक पॉलिथीन बेचने पर नगर निगम की टीम दुकानदार का चालान बना रही थी। उस वक्त पार्षद मुबारिक भी मौके पर मौजूद थे। इसी दौरान पार्षद की जोन-5 के सहायक दरोगा से किसी बात को लेकर बहस हुई और उसने दरोगा को थप्पड़ मार दिया। इसके बाद नगर निगम के अमले ने मौके पर हंगामा कर दिया। इस मामले में नगर निगम के कर्मचारी पार्षद के खिलाफ कार्रवाई को लेकर चंदन नगर थाने पहुंचे हैं। वहीं कांग्रेस नेता शेख अलीम भी थाने पहुंचे हैं और पुलिस पर पार्षद के खिलाफ कार्रवाई न करने का दबाव बना रहे हैं। इसके अलावा भी कई और कांग्रेसी नेता थाने पार्षद को बचाने के लिए थाने पर इकठ्ठा हुए हैं। अफसरों और अन्य नेताओं ने मामले से पल्ला झाड़ लिया है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना महामारी के चलते सादे समारोह में ममता बनर्जी ने ली शपथ

नई दिल्ली 05 मई 2021 । तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने राजभवन …