मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> खुद विमान उड़ाकर पटना पहुंचे बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी

खुद विमान उड़ाकर पटना पहुंचे बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी

नई दिल्ली 3 जून 2019 । बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी शनिवार को कमर्शियल पायलट के तौर पर खुद विमान उड़ाकर दिल्ली से पटना पहुंचे. वह ‘इंडिगो’ का विमान उड़ाकर गए. रूडी ने साल 2008 में कमर्शियल पायलट का लाइसेंस हासिल किया और उनके पास एयरबस-320 उड़ाने का स्पेशलाइजेशन भी है.

बताया जाता है कि वह इंडिगो में अवैतनिक आधार पर को-पायलट के तौर पर काम कर रहे हैं. केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के दौरान रूडी नागरिक उड्डयन मंत्री थे, तब भी वह विमान उड़ाया करते थे. राजीव प्रताप रूडी पायलेट रह चुके हैं. उन्हें जब भी विमान उड़ाने का मौका मिलता है तो वे पीछे नहीं रहते.

उल्लेखनीय है कि राजीव प्रताप रूडी कमर्शियल पायलट हैं, उनकी शादी हिमाचल प्रदेश की नीलम प्रताप से 1991 में हुई, जो हाल तक इंडियन एयरलाइंस की एक सहायक कंपनी एलायंस एयर में इनफ्लाइट की प्रमुख के रूप में कार्यरत थीं.

वहीं, पटना पहुंचने पर एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि देश की जनता ने जिस तरह जनादेश दिया है. निश्चित तौर पर वह जनादेश विकास करने के लिए दिया है. हमारी सरकार बनी है. सरकार तेजी से विकास करेगी.

बीजेपी सांसद ने जदयू के मामले पर कहा कि यह मामला हाई लेवल का है और इस पर बातचीत हो चुकी है. कही भी कोई नाराजगी नहीं है. इस मामले पर स्पष्टीकरण देने की कोई जरूरत नहीं है.

मुख्यमंत्री ने कहा है कि हम मंत्रिमंडल से अलग रहेंगे और बिहार में विकास के काम को आगे बढ़ाते रहेंगे. राजीव प्रताप रूडी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बारे में कहा कि उन्होंने कुछ ऐसा बयान नहीं दिया है. वह एनडीए के मुख्य हिस्सा हैं और हिस्सा बने रहेंगे.

बिहार में एनडीए मिलकर सरकार चला रही है. कहीं कोई दिक्कत नहीं है. मुख्यमंत्री को कोई नाराजगी नहीं है. वहीं, विपक्ष पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि जदयू को मंत्रिमंडल में कोई जगह नहीं मिलने के बाद विपक्षी नेता तरह- तरह के बयान दे रहे हैं और मुख्यमंत्री पर निशाना साध रहे है. इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

चीन नहीं, हिमाचल में तैयार होगा दवाइयों का सॉल्ट, खुलेगा देश का पहला एपीआई उद्योग

नई दिल्ली 01 अगस्त 2021 । नालागढ़ के पलासड़ा में एक्टिव फार्मास्यूटिकल इनग्रेडिएंट (एपीआई) उद्योग …