मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> महाकाल की नगरी बनने जा रही विश्वस्तर पर धार्मिकता का केंद्र

महाकाल की नगरी बनने जा रही विश्वस्तर पर धार्मिकता का केंद्र

उज्जैन 19 जनवरी 2022 । महाकाल मंदिर परिसर विस्तार योजना के प्रथम चरण के कार्यों के आई तेजी से यहां अब यहां विकास, सुंदरता और धार्मिकता का अनूठा संगम झलकने लगा है। लगभग 800 करोड़ की इस योजना को स्मार्ट सिटी द्वारा पूर्ण करवाया जा रहा है।

काशी विश्वनाथ की तर्ज पर अब उज्जैन में विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर का विस्तार किया जा रहा है। हम आपकों श्री महाकाल महाराज मंदिर परिसर विस्तार योजना से पूरी जानकारी पढ़ने को मिलेंगी।
महाकाल मंदिर विस्तारीकरण योजना के लिए मंदिर परिसर में चल रहे कार्यों में लगभग 600 से अधिक कारीगर जुटे हुए है। यहां मूर्मियों को लगाने से लेकर कॉरिडोर का कार्य भी तेजी से चल रहा है।

महाकाल कॉरिडोर में भगवान शिव से जुड़ी मूर्मियां लगाई जा रही है, जो धार्मिकता का एक अनूठा संदेश दे रही है। इसके अलावा भगवान गणेश, भैरव, मां पार्वती, नंदीगण से लेकर लगभग 200 से अधिक मूर्तियां लगाई जा रही है, इसके अलावा लगभग 108 पिल्लर भी आकर्षक दिखाई दे रहे है। राजस्थानी हाथ निखार रहे सुंदरता
महाकाल मंदिर विस्तारीकरण योजना के लिए विशेष रूप से राजस्थान से कलाकारों को बुलाया गया है, जो अपने हाथों से महाकाल कॉरिडोर औन नक्षत्र वाटिका को अध्यात्मिक रूप प्रदान कर रहे है।

इनके द्वारा कॉरिडोर को ऐसे तैयार किया जा रहा है, कि यहां आने वाले श्रद्धालुओं को भगवान महाकाल की महिमा का अहसास हो और वे इसकी सुंदरता को निहारते रहे। आकर्षक पैदल व ई-रिक्शा मार्ग
Mahakal Corridor से श्री महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन पहुचने का सबसे सुंदर और आकर्षक पैदल व ई-रिक्शा मार्ग तैयार किया जा रहा है, जिसमें म्यूरल वॉल, छायादार वृक्ष व शिव स्तम्भों के साथ बनाया जा रहा है।

अधिकारियों के अनुसार 3 मीटर चौड़ा पैदल व 6 मीटर चौड़ा ई-रिक्शा मार्ग बनाया जा रहा है, यहां से भक्तजन विजिटर फैसिलिटी सेंटर से होते हुए सीधे नंदी हॉल में पहुचंगे। महाकाल मंदिर के पीछे स्मार्ट सिटी के तहत बन रहे शिव थीम पर आधारित लोटस स्पॉट, सप्त ऋषि प्लाजा, शिव स्तम्भ, ओपन एरिया थेटर, ग्रीन स्पेस एरिया सहित प्लाजा में स्मार्ट टिकट कियोस्क, टॉयलेट, बैठने योग्य छायादार स्थान की सुविधा श्रद्धालुओं को मिलेंगी।

इसके अलावा पब्लिक प्लाजा में पाथ-वे के माध्यम से महाकाल कॉरिडोर से श्रद्धालु जुड़ेंगे। रुद्र सागर पर ब्रिज, सर्वसुविधा युक्त विजिटर फेसिलिटी, टॉयलेट, मोबाइल लॉकर, क्लॉक रूम, स्मार्ट पार्किंग, टूरिस्ट इनफार्मेशन सेंटर, सनातन हिन्दू धर्म व वैदिक थीम पर पब्लिक प्लाजा तैयार की जा रही है। रामघाट पर लाईट शो
महाकाल मंदिर विस्तार योजना के अंतर्गत कारीगरों के द्वारा शिवतांडव, सप्तऋषि सहित अनेक प्रकार की प्रतिमा बनाई जा रही है। वास्तुकलात्मक तत्वों का प्रयोग कर गलियों का सौन्दर्यीकरण तथा रामघाट पर सिंहस्थ थीम आधारित डायनेमिक लाईट शो किया जायेगा।

महाकाल कॉरिडोर पर मिडवे जोन का विकास किया जाना है। जिसमें, क्राफ्ट बाजार, कमांड कंट्रोल सेंटर बनाया जायेंगा। इन कॉरीडोर से श्रद्धालु बिना किसी व्यवधान के विजिटर फैसिलिटी 2 तक आएंगे और सीधा गर्भगृह, नंदीगृह या गणेश मंडपम में प्रवेश कर सकेंगे। महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन में 800 करोड़ रुपए के विस्तारीकरण के कार्य चल रहे हैं। आने वाले समय में श्रद्धालु महाकाल कॉरिडोर से होते हुए मंदिर के गर्भगृह तक पहुंचेंगे।

श्रद्धालु जहां से प्रवेश करेंगे वहीं से भगवान शिव की महिमा का गुणगान और भगवान शिव से जुड़ी कहानियां देखने को मिल सकेगी। पूरा प्रोजेक्ट आकार लेने के बाद भारत के कई बड़े मंदिरो के परिसर से भी महाकाल मंदिर का परिसर बड़ा हो जाएगा।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पीएम नरेंद्र मोदी ने भैरहवा एयरपोर्ट पर न उतरकर नेपाल को दिया सख्त संदेश

नयी दिल्ली 17 मई 2022 । पीएम नरेंद्र मोदी बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर नेपाल …