मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> बहुचर्चित हनी ट्रैप मामले में कोर्ट में पेश किया चालान कई खुलासे

बहुचर्चित हनी ट्रैप मामले में कोर्ट में पेश किया चालान कई खुलासे

भोपाल 21 दिसंबर 2019 । हनी ट्रैप मामले की मुख्य आरोपी द्वारा प्रदेश के बड़े अफसर नेता रसूखदार लोगों को ब्लैकमेल कर आरोपी श्वेता विजय जैन द्वारा इतना रुपया कमाया गया कि उसके पास मर्सिडीज और ऑडी जैसी लग्जरी कार होती थी और प्रदेश के साथ-साथ कई राज्यों में महानगरों जैसे स्थानों पर खुद का फ्लैट होता था।
पुलिस द्वारा कोर्ट में पेश हनी ट्रैप के चालान में यह खुलासा हुआ आरती दयाल और मोनिका यादव ने अपने बयानों में भी यह जानकारी दी श्वेता ने मोनिका से पहले रूपा अहिरवार को भी अपने जाल में फंसाया था उसे भोपाल बुलाकर हाईप्रोफाइल लाइफ स्टाइल की लत लग जाए और गलत धंधे में डाला आरती ने बयान में कहा कि रूपा और मोनिका को श्वेता ने प्रदेश के कई बड़े अफसरों के पास भेजा और उनके वीडियो क्लिप सब बनाए थे पुलिस ने जेल में बंद श्वेता विजय जैन श्वेता स्वप्निल जैन आरती दयाल मोनिका यादव और बरखा सोनी ओमप्रकाश के अलावा फरार रूपा अहिरवार और अभिषेक ठाकुर को भी आरोपी बनाया है आरती ने पुलिस को बताया कि रूपा का बॉयफ्रेंड रहता और वह भाग गया श्वेता के अलावा आरती भी ब्लैक मेलिंग का पूरा हिसाब किताब रखती थी भोपाल स्थित सागर लैंडमार्क में आरती के फ्लैट में वह सारा हिसाब होने की बात बयानों में कही गई।

कैसे बनाती थी वीडियो
हनी ट्रैप मामले की मुख्य आरोपी श्वेता विजय जैन आरती दयाल और मोनिका यादव मोबाइल कैमरे से रसूखदार लोगों के वीडियो नहीं बनाती थी बल्कि उसके पास विशेष जैकेट टॉप कि जिस में कैमरा लगा था जिसे पहनकर वीडियो बनाया करती थी सिर्फ होटल के कमरे में ही नहीं अब शुरू से पैसे के लेनदेन से जुड़ी बातों को भी जैकेट वाले कैमरे से रिकॉर्ड करती थी इसी आधार पर ब्लैकमेलिंग का धंधा इन आरोपियों द्वारा एक बड़े स्तर पर बना लिया गया था।

नगर निगम कर्मचारी हरभजन को कैसे मिली हनी ट्रैप मामले की मुख्य आरोपी।
आरती दयाल ने नगरनिगम सिटी इंजीनियर हरभजन सिंह से इंदौर में होटल श्री और इंफिनिटी होटल के अलावा भोपाल में मुलाकात की थी लेकिन ऐसा नहीं है सरकारी ठेके हासिल करने के लिए आरती में पीडब्ल्यूडी के नर्मदा प्रोजेक्ट के ऑफिस में हरभजन सिंह से मुलाकात की थी भोपाल से कार में आरती ड्राइवर के साथ अकेली यहां आई थी और ठेके को लेकर चर्चा की थी उसके बाद इनकी पहचान हुई पहचान के बाद नगर निगम कर्मचारी हरभजन सिंह इनका शिकार हुआ

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

किश्तवाड़ में बादल फटने से पांच की मौत, 40 से ज्यादा लोग लापता

नई दिल्ली 28 जुलाई 2021 ।  जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश का कहर देखने को मिला …