मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> बदलती जीवन शैली से महिलाओं में कैसर का खतरा बढा: डॉ नरेश पुरोहित

बदलती जीवन शैली से महिलाओं में कैसर का खतरा बढा: डॉ नरेश पुरोहित

भोपाल 8 नवंबर 2021 । बदलती जीवनशैली और सेहत के प्रति लापरवाही से महिलाओं में कैंसर का खतरा बढ़ता जा रहा है। सर्वाइकल कैंसर अब स्तन कैंसर को पछाड़ने के लिए दबे पांव अपने पैर पसारने लगा है। मुंह और स्तन कैंसर के मुकाबले सर्वाइकल कैंसर के मामलों में ज्यादा वृद्धि हो रही है।
इन तथ्यों का खुलासा राष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण कार्यक्रम के सलाहकार डाॅ नरेश पुरोहित ने राष्ट्रीय कैंसर जागरुकता दिवस के अवसर पर करते हुए बताया कि यदि समय पर जांच व इलाज मिल जाए तो किसी भी प्रकार के कैंसर को मात दी जा सकती है।

डॉ पुरोहित ने बताया कि सर्वाइकल कैंसर का मुख्य कारण ह्यूमन पैपिलोमा वायरस (एचपीवी) हैं। 2020 मे दुनिया भर में 70 प्रतिशत सर्वाइकल कैंसर घावों के लिए एचपीवी जिम्मेदार हैं।

डॉ पुरोहित ने हाल ही मे राष्ट्रीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) में प्रकाशित अपनी शोध रिपोर्ट का उल्लेखफ करते हुए बताया कि 2019 में 64 हजार 840 महिला व पुरुषों की स्क्रीनिंग के दौरान 35 हजार महिलाएं सर्वाइकल कैंसर और नौ हजार महिलाओं में स्तन कैंसर की पुष्टि हुई थी। तंबाकू आदि का सेवन करने से 21 हजार पुरुष मुंह के कैंसर से भी पीड़ित मिले थे।
उन्होने बताया कि 30 से 35 वर्ष की आयु की महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर सर्वाधिक होने वाला कैंसर है। एचपीवी संक्रमण आमतौर पर यौन संक्रमण या संक्रमित व्यक्ति के साथ त्वचा संपर्क के माध्यम से भी फैलता है। जबकि कई बार यह भी देखने को मिला है कि कुछ महिलाओं की यूट्राइन सर्विक्स में कोशिकाओं के बीच एचपीवी संक्रमण लगातार बना रहता है और आगे चलकर यह सर्वाइकल कैंसर का कारण बनता है, लेकिन यदि कैंसर के लक्षणों के बारे में समय पर पता चल जाए तो इलाज से जिंदगी बचाई भी जा सकती है।

सर्वाइकल कैंसर के लक्षण :

– शारीरिक संपर्क के बाद रक्तस्राव होना

– माहवारी के बीच रक्तस्राव होना

– पेट के नीचे दर्द होना

– गुलाबी रंग का स्राव निकलना

स्तन कैंसर के लक्षण :

– स्तन में गांठ

– कॉक में लिम्फोनॉड बढ़ जाना

– स्तन से स्राव

– स्तनों के साइज में अंतर

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …