मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> मुख्यमंत्री ने 113 करोड़ के 6 निर्माण कार्यों का किया ई-लोकार्पण

मुख्यमंत्री ने 113 करोड़ के 6 निर्माण कार्यों का किया ई-लोकार्पण

उज्जैन 23 सितम्बर 2021 । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी एवं उज्जैन विकास प्राधिकरण के कुल छह निर्माण कार्यों का ई-लोकार्पण किया। 113 करोड़ रुपये की लागत से बने उक्त निर्माण कार्यों की सौगात मुख्यमंत्री (Chief Minister) द्वारा उज्जैनवासियों को एकसाथ दी गई। प्राचार्य से की चर्चा
मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये उज्जैन के शासकीय उमावि महाराजवाड़ा की प्राचार्य सुश्री उषा डोरे से बात की। प्राचार्य ने बताया कि नूतन स्कूल की बिल्डिंग अत्याधुनिक बनी है एवं इससे शिक्षकों व छात्रों में प्रसन्नता की लहर है। इसी तरह मुख्यमंत्री ने पालक रवि नामदेव से भी बात की।

नूतन स्कूल परिसर
नूतन स्कूल परिसर के विकास में 35.21 करोड़ रुपये की लागत से फर्नीचर तथा स्कूल परिसर में 2745 छात्र क्षमता का परिसर निर्मित किया गया है। महाराजवाड़ा स्कूल क्रमांक बालक उमा शाला, महाराजवाड़ा स्कूल क्रमांक 3 बालक उमा शाला, महाराजवाड़ा सराफा कन्या उमा शाला, महाकाल मैदान प्राथमिक शाला, महाकाल मैदान माध्यमिक शाला, हरसिद्धि गोंड बस्ती प्राथमिक शाला, नूतन स्कूल माध्यमिक शाला तथा बालक छात्रावास एवं संस्कृत महाविद्यालय है। वर्तमान स्कूलों की छात्र क्षमता 1907 है। नवनिर्मित विद्यालय परिसर से आसपास के क्षेत्र के छात्रों हेतु आधुनिक सुविधायुक्त शिक्षण संस्थान उपलब्ध होगा। इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट
35.29 करोड़ रुपये की लागत से शहर में इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के तहत ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम, निगरानी कैमरा, ऑटोमेटिक नम्बर प्लेट रिकग्नेशन सिस्टम, रेड लाईट वॉयलेशन डिटेक्शन सिस्टम, स्पीड वॉयलेशन डिटेक्शन सिस्टम, वेरिएबल मैसेज साईन बोर्ड, सार्वजनिक उद्घोषण प्रणाली, इमरजेंसी कॉल बॉक्सी सिस्टम, 16 ट्रैफिक जंक्शन, सात एंट्री एक्जिट पाइंट पर निगरानी कैमरा, स्पीड डिटेक्शन 12 स्थानों पर और 40 स्थानों पर वेरिएबल मैसेज साईन बोर्ड लगाये जायेंगे।

गणेश कालोनी स्कूल निर्माण
गणेश कॉलोनी स्कूल निर्माण 10.64 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। उक्त भूमि का कुल क्षेत्रफल 16.522. 60 वर्गफीट एवं कुल निर्मित क्षेत्रफल 41763.97 वर्गफीट है। हरिफाटक के नीचे स्थित तीन स्कूलों को नवीन स्कूल परिसर निर्मित कर स्थानान्तरित किया जा रहा है। स्कूल विस्थापन हेतु स्कूल परिसर में 900 छात्र क्षमता का स्कूल परिसर निर्मित किया गया है। वर्तमान स्कूलों की छात्र क्षमता 622 छात्रों की है। स्कूल में प्राचार्य कक्षए पुस्तकालय, बहुउद्देशीय हॉल, प्राथमिक चिकित्सा कक्ष, प्रयोगशाला तथा मैदान का प्रावधान है। महाकाल मंदिर प्रांगण
श्री महाकालेश्वर मन्दिर एवं प्रांगण में स्थित अन्य मन्दिरों पर आकर्षक विद्युत सज्जा 3.24 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। महाकाल मन्दिर एवं समीप स्थित मुख्य मन्दिरों पर गतिशील लाईटिंग का प्रावधान किया गया है। आकर्षक विद्युत साज-सज्जा से मन्दिर की सुन्दरता और भव्यता में वृद्धि होगी, जिससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

रूफटॉप सोलर एनर्जी
रूफटॉप सोलर एनर्जी उत्पादन कार्य दो करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। इसके अन्तर्गत नवनिर्मित नूतन और गणेश कॉलोनी स्कूल पर बिजली उत्पादन हेतु 400 किलोवाट क्षमता का सौर ऊर्जा का प्रोजेक्ट स्थापित किया जायेगा। नूतन विद्यालय परिसर में 210 किलोवाट क्षमता और गणेश कॉलोनी विद्यालय में 30 किलोवाट क्षमता मेला कार्यालय में 100 किलोवाट क्षमता और स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में 60 किलोवाट क्षमता के प्रोजेक्ट लगाये जाना प्रस्तावित किया गया है।

शॉपिंग काम्पलेक्स
उज्जैन विकास प्राधिकरण द्वारा नानाखेड़ा में 13.04 करोड़ की लागत से शॉपिंग कॉम्पलेक्स निर्मित किया गया है।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि नगरीय विकास के कार्यों को आर्थिक समस्याओं के बाद भी पटरी से उतरने नहीं दिया गया है। उन्होंने नगरीय विकास मंत्री भूपेन्द्रसिंह की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने प्रदेश के नगरीय निकायों में अनेक विकास के कार्य मुस्तैदी से किये हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज प्रदेश के 24 नगरीय निकायों के एक हजार करोड़ के 71 कार्यों का एकसाथ ई-लोकार्पण किया।

कोविड की तहर डेंगू पर नियंत्रण
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जिस तरह से कोविड का नियंत्रण किया गया हैए उसी तरह डेंगू के नियंत्रण पर भी कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने कहा कि हमारे शहर गन्दगी, प्रदूषण, अपराध एवं माफियाओं से मुक्त हो, यह प्रयास निरन्तर जारी है। हमारी विकास योजनाओं में गरीबों को स्थान जरूर मिलना चाहिये। हमने संकल्प लिया है कि हम झुग्गीमुक्त शहर बनायेंगे। उज्जैन का सबसे बड़ा स्कूल- डॉ. यादव
नूतन स्कूल परिसर में आयोजित लोकार्पण कार्यक्रम में सम्बोधित करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव ने कहा कि नूतन स्कूल में विकसित किया गया शिक्षा संकुल उज्जैन का सबसे बड़ा एवं भव्य है। यह एक लाख 86 हजार वर्गफीट में बनाया गया है। इससे सात स्कूल जोड़े गये हैं। संकुल का नाम कवि श्रीकृष्ण सरल के नाम से रखने का सुझाव देते हुए कहा कि इस संकुल में न केवल स्कूल बल्कि संस्कृत महाविद्यालय का भवन भी बनाया गया है।

सांसद अनिल फिरोजिया
दशा और दिशा बदल रही- फिरोजिया
सम्बोधित करते हुए सांसद अनिल फिरोजिया ने कहा कि उज्जैन का इतनी तेजी से विकास हो रहा है कि आज से 10 वर्ष पूर्व की स्थिति को पूरी तरह बदल दिया गया है। उज्जैन शहर की दशा एवं दिशा दोनों बदल गई है। फिरोजिया ने कहा कि उज्जैन शहर को चारों ओर से नेशनल हाईवे से जोड़ा जा रहा है। यहां पर औद्योगिक विकास के लिये भी निरन्तर कार्य हो रहा है।

विधायक पारस जैन
2700 बच्चे शिक्षा ले सकते है- जैन
विधायक पारस जैन ने कहा कि वर्तमान में स्मार्ट सिटी द्वारा शहर में 700 करोड़ से अधिक के काम किये जा रहे हैं, जिससे उज्जैन नये स्वरूप में दिखेगा। साथ ही 300 करोड़ के नये काम भी प्रस्तावित किये गये हैं। उन्होंने कहा कि नूतन स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थी सौभाग्यशाली हैं, जो सर्वसुविधायुक्त नये भवन में पढ़ाई करेंगे। जैन ने कहा कि इस परिसर में सात विद्यालयों में कुल 2700 बच्चे शिक्षा ग्रहण करेंगे।

यह थे मौजूद…
लोकार्पण समारोह में नूतन स्कूल परिसर में उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव, सांसद अनिल फिरोजिया, विधायक पारस जैन, पूर्व महापौर मीना जोनवाल, पूर्व नगर निगम अध्यक्ष सोनू गेहलोत, विवेक जोशी, कलेक्टर आशीष सिंह, नगर निगम आयुक्त अंशुल गुप्ता, स्मार्ट सिटी सीईओ, यूडीए सीईओ एसएस रावत मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन शैलेंद्र व्यास स्वामी मुस्कुराके ने किया।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …