मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> मुख्यमंत्री कमलनाथ को विदेश में अपनी बात कहने के लिए नेता प्रतिपक्ष से अनुमति लेने की जरुरत नहीं: शोभा ओझा

मुख्यमंत्री कमलनाथ को विदेश में अपनी बात कहने के लिए नेता प्रतिपक्ष से अनुमति लेने की जरुरत नहीं: शोभा ओझा

नई दिल्ली 25 जनवरी 2019 । प्रदेश कांगे्रस मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा दावोस में दिए गए बयान पर नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव की प्रतिक्रिया को हास्यास्पद और हताशापूर्ण बताया है। श्री भार्गव को मुख्यमंत्री के बयान से इसलिए भी ठेस पहुंची है कि उन्होंने भाजपा विधायकों के कांग्रेस के संपर्क में रहने की पोल खोलकर रख दी है।
श्रीमती शोभा ओझा ने श्री गोपाल भार्गव से पूछा है कि उन्हें यह भी बताना होगा कि भाजपा के 15 वर्ष के शासन काल में जो इन्वेस्टर्स मीट हुई हैं, उनसे कितने उद्योग स्थापित हुए और कितने लोगों को रोजगार मिला? क्योंकि भाजपा सरकार में हुई इन्वेस्टर्स मीट के बावजूद आज भी मध्यप्रदेश में लगभग एक करोड़ युवा बेरोजगार है। श्रीमती ओझा ने कहा कि भाजपा के कार्यकाल में इन्वेस्टर्स मीट के आयोजन पर जो करोड़ों-अरबों रुपए की शासकीय राशि खर्च हुई उसका हिसाब किताब भी भाजपा आज तक नहीं दे पाई। उल्टे कांग्रेस सरकार पर आरोप लगा रही है, जो कतई उचित नहीं है।
श्रीमती शोभा ओझा के अनुसार श्री गोपाल भार्गव द्वारा श्री कमलनाथ के बयान को आपत्तिजनक और हास्यास्पद बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की विदेशी निवेशकों से हुई मुलाकात के बेहतर परिणाम निश्चित रूप से सामने आएंगे मुख्यमंत्री का पद संभालने के डेढ़ माह के भीतर निवेशकों से चर्चा करने के लिए विदेश जाने से मध्यप्रदेश में औद्योगिक संभावनाएं फलीभूत होंगी। श्री गोपाल भार्गव के बयान में उनकी कुंठा इसलिए भी झलकती है कि भाजपा शासन काल के तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने अनेक बार विदेश यात्रा करने के बावजूद भी श्री भार्गव को साथ ले जाना उचित नहीं समझा जबकि श्री भार्गव के पास पंचायत ग्रामीण विकास जैसा भारी भरकम विभाग था।
श्रीमती शोभा ओझा के अनुसार श्री गोपाल भार्गव को यह भी बताना चाहिए कि श्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा की गई विदेश यात्रा से मध्य प्रदेश में कितना निवेश आया। एक तरफ तो श्री शिवराज सिंह चैहान कहते रहे कि उनके द्वारा की गई इन्वेस्टर्स मीट में 40 लाख करोड़ के अनुबंध हुए, लेकिन सच्चाई यह है कि भाजपा शासनकाल में न के बराबर निवेश मध्यप्रदेश में हुआ है। क्योंकि देश-विदेश के निवेशक मध्यप्रदेश में तत्कालीन शिवराज सरकार के भ्रष्टाचार से भयभीत थे। जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार रही है वहां विदेशी निवेश हुए हैं।

प्रदेश कांगे्रस ने दिल्ली पुलिस द्वारा मध्यप्रदेश के नौजवान अभिषेक मिश्रा की रातों रात गिरफ्तारी को अपहरण बताते हुए भाजपा पर दिल्ली पुलिस के राजनैतिक दुरूपयोग का आरोप लगाया है।
प्रदेश कांगे्रस कमेटी के प्रवक्ता मृणाल पंत ने कहा कि राज्य पुलिस को जानकारी दिए बिना ऐसी कार्यवाही गैरकानूनी है। अभिषेक मिश्रा का गुनाह सिर्फ इतना है कि वो भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी जी को नीतियों को सोशल मीडिया पर आलोचना करते रहते हैं। राजनीतिक पार्टी के नेताओं और बुद्धिजीवीयों को झूठे प्रकरणों में फंसाने के बाद भाजपा स्वप्रेरणा से सोशल मीडिया पर भाजपा का विरोध करने वाले नौजवानों को निशाना बना रही है।
प्रदेश कांगे्रस कमेटी ने कहा कि तीन राज्यों की हार के उपरांत भाजपा बदले की भावना से दिल्ली पुलिस द्वारा गुण्डागर्दी करवा रही है। सीबीआई और ईडी के बाद अब दिल्ली पुलिस भी भाजपा के राजनैतिक कार्यकर्ताओं की तरह काम करने लगी है। उन्होंने कहा कि भाजपा को बताना होगा कि अभिषेक मिश्रा की गिरफ्तारी का निर्देश प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा दिया गया अथवा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा?
मृणाल पंत ने मध्यप्रदेश पुलिस से अवैध कार्यवाही करने वाली दिल्ली पुलिस के अधिकारियों पर प्रकरण दर्ज करने की मांग करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश पुलिस को इस बात की जांच करनी चाहिए कि स्वतंत्र सोच रखने वाले मध्यप्रदेश के नौजवानों के विरूद्व इस तरह का षड्यंत्र करने में भाजपा के कौन से नेता शामिल हैं।

प्रदेश कांगे्रस पिछड़ा वर्ग सलाहकार मण्डल की बैठक संपन्न

प्रदेश कांगे्रस पिछड़ा वर्ग विभाग के प्रदेश अध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद राजमणि पटेल की अध्यक्षता में आज प्रदेश कांगे्रस मुख्यालय में पिछड़ा वर्ग सलाहकार मण्डल की बैठक संपन्न हुई।
बैठक में आगामी 28 जनवरी को राजधानी के गांधी भवन में होने वाले पिछड़ा वर्ग विभाग के पदाधिकारियांे एवं कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को सफल बनाने तथा 2019 के लोकसभा चुनाव में पिछड़ा वर्ग की भूमिका के संबंध में महत्वपूर्ण सुझाव दिये गये।
बैठक में आदरणीय श्रीमती प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया को अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी में महासचिव बनाये जाने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए केंद्रीय नेतृत्व को धन्यवाद दिया गया।
इस अवसर पर श्री पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के नेतृत्व में किसानों की कर्जमाफी का ऐतिहासिक निर्णय लिया जाना और अन्य प्रभावी निर्णयों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि 28 जनवरी को आयोजित सम्मेलन पिछड़ा वर्ग के लिए मील का पत्थर बनेगा। बैठक में दीपचंद यादव, राजकुमार पटेल, जगदीश सैनी, रामगोपालसिंह लोधी सहित बड़ी संख्या में पिछड़ा वर्ग के पदाधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री कमल नाथ छिन्दवाड़ा में और स्वास्थ्य मंत्री सिलावट खंडवा में करेंगे वितरण

प्रदेश में गरीब, कमजोर और अनुसूचित जाति तथा जनजाति वर्ग के एक करोड़ 62 लाख जरूरतमंद परिवारों को मलेरिया रोग के संक्रमण से बचाने के लिये कीटनाशक दवायुक्त मच्छरदानी नि:शुल्क वितरित की जायेगी। मच्छरदानियों की कुल अनुमानित लागत 300 करोड़ रुपये है।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ छिन्दवाड़ा में और लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट खंडवा में गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को मच्छरदानी वितरण कार्य का शुभारंभ करेगे। मंत्रि-परिषद के अन्य सदस्य अपने-अपने प्रभार के जिलों में मच्छरदानी वितरण कार्य का शुभारंभ करेंगे। नई तकनीक से

कीटनाशक दवायुक्त मच्छरदानी (लाँग लॉस्टिंग इन्सेक्टीसाइडल नेट.एल.एल.आई.एन.) नई तकनीक से बनाई गई है। इसमें निर्माण के दौरान ही नायलोन के धागों में कीटनाशक दवा सिंथेटिक पायरेथ्राइड मिश्रित कर इसे बनाया गया है। इस मच्छरदानी की मजबूती और कीटनाशक क्षमता अधिक समय तक प्रभावी रहती है। कीटनाशकयुक्त मच्छरदानी में उपयोग किये गये कीटनाशक 3 वर्षों तक और 20 बार धुलाई करने तक प्रभावी रहते हैं। मच्छरदानी स्मॉल, मीडियम और लार्ज साइज में प्रदाय की जा रही है।

कीटनाशकयुक्त मच्छरदानी के उपयोग से मलेरिया के संक्रमण और अन्य मच्छर जनित रोगों से सुरक्षा मिलती है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि एल.एल.आई.एन. के उपयोग के बाद मलेरिया के प्रकरणों में 60 से 80 प्रतिशत की कमी आना संभावित है। देश में वर्ष 2030 तक मलेरिया उन्मूलन के निर्धारित लक्ष्य को पाने में एल.एल.आई.एन. एक महत्वपूर्ण घटक है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

प्रियंका गांधी का 50 नेताओं को फोन-‘चुनाव की तैयारी करें, आपका टिकट कन्फर्म है’!

नई दिल्ली 21 जून 2021 । उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव …