मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> मुख्यमंत्री शिवराज को कांग्रेस का बड़ा झटका ,साला हुआ कांग्रेस में शामिल

मुख्यमंत्री शिवराज को कांग्रेस का बड़ा झटका ,साला हुआ कांग्रेस में शामिल

नई दिल्ली 4 नवम्बर 2018 । कल पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू को कांग्रेस से दलबदल कराके खुशियां माना रही भाजपा को आज कांग्रेस ने बड़ा झटका दिया कि सारी खुशी काफूर हो गई । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साले आज अचानक कांग्रेस में शामिल हो गए ।

लोगों को कांग्रेस के टिकिटों की सूची की प्रतीक्षा है । इस बीच अचानक कांग्रेस के मुख्यालय से खबर आई कि वहां देश बाके प्रेस कॉन्फ्रेंस है तो सभी को उम्मीद हुई कि कांग्रेस पहली सूची जारी कर सकती है । प्रेस कॉन्फ्रेंस में कमलनाथ,ज्योतिरादित्य सिंधिया,दीपक बावरिया मौजूद थे । इस बीच कमलनाथ ने बताया कि मप्र में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के साले संजय सिंह ने भाजपा छोड़ दी है और वे अब कांग्रेस में शामिल हो गए है । इस मौके पर संजय सिंह मौजूद थे ।

सूत्रों की माने तो शिवराज सिंह के साले एक सप्ताह से कमलनाथ के संपर्क में थे । कल जब भाजपा ने प्रेमचंद गुड्डू को भाजपा में शामिल कराया तो कांग्रेस ने भी शिवराज को उन्ही की तरह जबाव देने के लिए आनन फानन में संजय सिंह को दिल्ली बुलाकर कांग्रेस में शामिल कराने की रणनीति बनाई ।

शिवराज सिंह के साले के भाजपा छोड़कर कांग्रेस में जाने से पूरी पार्टी सकते में है । शिवराज को कांग्रेस की तरफ से यह दूसरा बड़ा झटका है । इससे पहले उनके नजदीकी और पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष रहे डॉ गुलाब सिंह इंदौर में राहुल गांधी के सामने भाजपा छोड़ कांग्रेस में शरीक हो गए थे । लेकिन जब मीडिया में डॉ सिंह के व्यापम आरोपी होने की बात सामने आई तो पार्टी ने उन्हें होल्ड पर डालते हुए सदस्यता नही दी ।

केंद्रीय मंत्री गहलोत के घर प्रदर्शन करने वाले भाजपा नेताओं पर पुलिस दर्ज करेगी एफआईआर
हमेशा अनुशासन की बात करने वाली भारतीय जनता पार्टी अब कांग्रेस पैटर्न पर राजनीति करने के लिए उतारू हो गई है। महिदपुर से विधायक रहे बहादुर सिंह चौहान को इस बार पार्टी टिकट नहीं दे रही है। इसको लेकर आज नागदा में केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत के घर पर विधायक चौहान के समर्थकों ने केंद्रीय मंत्री का घेराव किया। भाजपा विधायक बहादुर सिंह चौहान के समर्थन में कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी भी की और रैली भी निकाली।

हमेशा विवादों में रहने वाले विधायक बहादुर सिंह चौहान के समर्थक इस बार फिर इस प्रदर्शन के बाद विवादों में आ गए हैं। जिला निर्वाचन विभाग अब इस पूरे मामले को गंभीरता से ले रहा है। बिना अनुमति रैली निकालने और प्रदर्शन करने के मामले में अप पुलिस एफ आई आर भी दर्ज कर सकती है। बताया जा रहा है कि यह प्रदर्शन आचार संहिता नियम का उल्लंघन है। प्रदर्शन करने वाले भाजपा नेताओं में महिदपुर नगर के कैलाश राठी, शिरोमणि मेहता, मुकेश भगत, सुनील जैन, संतोष मालवीय, देवेन उद्धव, उमा पांडे, ज्योति कुमावत, शशि कला लश्करी के अलावा प्रताप सिंह आर्य, टीकम सिंह, श्रवण सिंह, रमेश कुमावत सहित कई भाजपा नेता और कार्यकर्ता शामिल थे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक इन सभी कार्यकर्ताओं पर पुलिस प्रकरण दर्ज कर सकती है। गौरतलब है कि कल लोक शक्ति कार्यालय पर बिना अनुमति केंद्रीय मंत्री का पुतला दहन करने पर भाजपा नेता शंकर अहिरवार पर माधवनगर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया है।

थावरचंद गेहलोत, बहादुर सिंह समर्थको को समझाइश देकर कहा कि कुछ विशेष कारणों से लिस्ट रुकी हुई है, इस तरह हंगामा करने से बहादुर सिंह जी का ही नुकसान है।

एक कार से मिला 60 लाख का सोना

ग्वालियर। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सर्विलांस टीम जगह-जगह गाड़ियों की चेकिंग कर रही है। शुक्रवार देर रात ऐसी ही चेकिंग के दौरान सिरौल नाका लिंक रोड पर सर्विलांस टीम ने यूपी नंबर की एक कार को रोका। उस कार की तलाशी के दौरान सर्विलांस टीम के उस वक्त होश उड़ गए, जब उसमें पॉलिथीन में बंद कुछ बैग मिले। उसे जब टीम ने खोला तो कुल तीन किलो वजन के सोने के गहने मिले हैं। जिसकी कीमत 60 लाख रुपए बताई जा रही है।

टीम ने जिस युवक को पकड़ा है, उसका नाम कमलेश मिश्रा है, जो खुद को आगरा के एक ज्वेलर का सेल्समैन बता रहा है। पूछताछ में ये नहीं पता चला है कि ये माल कहां से लाया जा रहा है। इसलिए पुलिस ने गहने जब्त कर लिए हैं। फिलहाल आयकर विभाग भी सोने के गहने के बारे में पता लगा रहा है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

भारत में कोरोना का सबसे बड़ा अटैक, एक दिन में पहली बार 2 लाख 34 हजार नए केस

नई दिल्ली 17 अप्रैल 2021 । कोरोना की दूसरी लहर हर दिन नए रिकॉर्ड बना …