मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> ब्रह्मपुत्र नदी का आंकड़ा साझा करने पर चीन राजी

ब्रह्मपुत्र नदी का आंकड़ा साझा करने पर चीन राजी

नई दिल्ली 10 जून 2018 । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन से इतर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय बैठक की। इस दौरान दोनों नेताओं ने दो समझौतों पर हस्ताक्षर किए। इसके तहत चीन भारत को ब्रह्मपुत्र नदी का आंकड़ा देगा। साथ ही भारत अब चीन को बासमती से अलग दूसरी किस्मों के चावल का भी निर्यात करेगा।
समझौते के तहत चीन बाढ़ के मौसम में प्रति वर्ष 15 मई से 15 अक्तूबर के दौरान ब्रह्मपुत्र नदी के जल से संबंधित आंकड़े भारत को देगा। अन्य मौसम के दौरान नदी का जल स्तर बढ़ने पर भी वह आंकडे़ उपलब्ध कराएगा। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग से गर्मजोशी से मुलाकात की। इस दौरान द्विपक्षीय संबंध को और मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा हुई। इस बैठक का उद्देश्य वुहान में अनौपचारिक शिखर वार्ता के बाद द्विपक्षीय संबंधों में आ रही प्रगाढ़ता को और बढ़ाना है। एससीओ के शिखर सम्मेलन के इतर दोनों नेताओं की यह बैठक चीन के वुहान शहर में अनौपचारिक बातचीत के करीब छह सप्ताह बाद हुई। इस अनौपचारिक बातचीत का उद्देश्य पिछले साल डोकाला गतिरोध के बाद दोनों देशों के सीमा सुरक्षा बलों के बीच बेहतर समन्वय सुनिश्चित करना और विभिन्न क्षेत्रों में संबंधों को और मजबूत करना था।

भारत-चीन के बीच मजबूत संबंध दुनिया को प्रेरणा दे सकते हैं
मोदी एससीओ के सालाना सम्मेलन में शामिल होने के लिए दो दिवसीय दौरे पर शनिवार दोपहर किंगदाओ पहुंचे। बैठक से पहले दोनों नेताओं ने गर्मजोशी से हाथ मिलाया और फोटोग्राफरों को तस्वीर लेने का मौका दिया। मोदी ने इस मौके पर कहा कि भारत और चीन के बीच मजबूत और स्थिर संबंध स्थिर और शांतिपूर्ण विश्व की प्रेरणा दे सकते हैं।

अनौपचारिक वार्ता के फैसलों का जायजा लिया
मुलाकात के दौरान मोदी ने वुहान में जिनपिंग के साथ हुई अनौपचारिक वार्ता को भी याद किया। मोदी और जिनपिंग ने 27-28 अप्रैल को वुहान अनौपचारिक वार्ता में किये गये फैसलों के क्रियान्वयन की प्रगति का जायजा भी लिया। वुहान में बातचीत के बाद , मोदी और जिनपिंग ने भविष्य में डोकाला जैसी स्थिति से बचने पर बात की थी। साथ ही भरोसा और विश्वास पैदा करने के लिए संवाद मजबूत करने के वास्ते अपनी सेनाओं को रणनीतिक दिशानिर्देश जारी करने का फैसला किया था।

मोदी ने उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति से मुलाकात की
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां एससीओ शिखर सम्मेलन के इतर आज उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति शौकत मिर्जियोयेव से मुलाकात की। इस दौरान दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने पर चर्चा की। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर बताया कि दोनों नेताओं ने सामरिक भागीदारी को मजबूत करने के लिए कई विषयों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। दोनों ने आर्थिक और सांस्कृतिक संबंधों के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर भी बात की।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Urdu erased from railway station’s board in Ujjain

UJJAIN 06.03.2021. The railways has erased Urdu language from signboards at the newly-built Chintaman Ganesh …