मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> भारतीय सीमा पर हरकतों से बाज नहीं आता चीन, अब तिब्बत में शुरू की पहली बुलेट ट्रेन

भारतीय सीमा पर हरकतों से बाज नहीं आता चीन, अब तिब्बत में शुरू की पहली बुलेट ट्रेन

नई दिल्ली 25 जून 2021 ।  चीन भारतीय सीमा के आसपास हलचल और हरकतों से बाज नहीं आता। सीमा से लगकर वह हर दिन कुछ न कुछ करता ही रहता है। अब चीन ने शुक्रवार को तिब्बत के सुदूर हिमालयी क्षेत्र में अपनी पहली बुलेट ट्रेन का संचालन किया। इसका रूट ल्हासा, लोका और न्यिंगछी के बीच है जो रणनीतिक रूप से अरुणाचल प्रदेश के करीब तिब्बती बॉर्डर पर एक शहर है। 435.5 किलोमीटर लंबा रूट

1 जुलाई को होने जा रहे सत्तारूढ़ चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) के शताब्दी समारोह से पहले सिचुआन-तिब्बत रेलवे के 435.5 किलोमीटर लंबे ल्हासा-न्यिंगची सेक्शन का उद्घाटन किया गया है। सरकारी समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र में पहली बुलेट ट्रेन शुक्रवार सुबह खुली।

किंघई-तिब्बत रेलवे के बाद सिचुआन-तिब्बत रेलवे तिब्बत में दूसरा रेलवे है। यह किंघई-तिब्बत पठार के दक्षिण-पूर्व से होकर गुजरेगा। ये दुनिया के सबसे भूगर्भीय रूप से सक्रिय क्षेत्रों में से एक है। चीन की सरकारी रेलवे ग्रुप कंपनी लिमिटेड के बोर्ड के अध्यक्ष लू डोंगफू ने सरकारी एजेंसी शिन्हुआ से बताया कि 435 किलोमीटर लंबे रेल मार्ग पर आंतरिक दहन और बिजली से चलने वाली हाई-स्पीड फक्सिंग ट्रेन चलनी है। 50,000 Km तक होगा हाई स्पीड ट्रेन का नेटवर्क

गौरतलब है कि चीन का 2025 तक चीन का टारगेर हाई स्पीड ट्रेन का नेटवर्क 50 हजार किलोमीटर तक करने का है। हाई स्पीड ट्रेन का नेटवर्क 2020 के अंत तक 37,900 किलोमीटर था। उन्होंने बताया कि चीन में निर्मित फक्सिंग ट्रेनों की गति अब बढ़कर 160 किलोमीटर से 350 किलोमीटर प्रति घंटे के बीच पहुंच गई है।

साल 2014 से जारी निर्माण

प्रांतीय राजधानी ल्हासा और पूर्वी तिब्बत के निंगची के बीच रेलवे लाइन का निर्माण 2014 में शुरू हो गया था । यह तिब्बत का पहला ऐसा रेल मार्ग है, जहां बिजली से ट्रेन चलेगी। इस मार्ग पर जून 2021 में परिचालन शुरू होना है। रेल पटरी बिछाने का काम 2020 में पूरा हो चुका है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

ये तो छोड़कर चले गए थे…अशोक गहलोत ने सचिन पायलट गुट के विधायकों पर कसा तंज

नयी दिल्ली 4 दिसंबर 2021 । अशोक गहलोत और सचिन पायलट राजस्थान कांग्रेस में सबकुछ अच्छा …