मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद सीएम कमलनाथ ने दिया इस्तीफा

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद सीएम कमलनाथ ने दिया इस्तीफा

भोपाल 26 मई 2019 । लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिला है. बीजेपी को 303 सीटें मिली हैं. एनडीए को कुल मिलाकर 353 सीटें मिली हैं. वहीं कांग्रेस को 52 सीटें मिली हैं. कांग्रेस की इस करारी है से पार्टी के अंदर कलह मची है.

पार्टी के अंदर मची इस कलह के बाद सबसे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने इस्तीफे की पेशकश की. लेकिन कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने राहुल गांधी का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया. लेकिन अब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया है.

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से नहीं बल्कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया है. हालांकि उनका इस्तीफा स्वीकार हुआ है या नहीं इसकी जानकारी नहीं मिली है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इस्तीफा देने को कहा था. हालांकि उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया.

दिग्विजय सिंह की हार के बाद समाधि लेने वाले मिर्ची बाबा को अखाड़े ने दिखाया बाहर का रास्ता

भोपाल लोकसभा सीट से दिग्विजय सिंह की जीत की कामना और हार के बाद जिंदा समाधि लेने की बात करने वाले वाले बाबा महामंडलेश्वर वैराज्ञानंद गिरी के ऊपर आफत आ गई है. दरअसल बाबा को उनके अखाड़े ने बदनामी के कारण अखाड़े ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है.

दरअसल स्वामी वैराग्यानंद उर्फ मिर्ची बाबा ने मिर्ची हवन कर कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और भोपाल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने वाले दिग्विजय सिंह की जीत का दावा किया था. उन्होंने कहा था कि मिर्ची हवन करने से दिग्विजय सिंह की जीत सुनिश्चित होगी. इस हवन में कुल 5 क्विंटल मिर्च डाली गई थी. साथ ही यह संकल्प भी लिया था कि अगर दिग्विजय सिंह नहीं जीते, तो वो जिंदा जल समाधि ले लेंगे.

चुनाव परिणाम आने के बाद दिग्विजय सिंह को भोपाल करारी हार मिली है. लोकसभा चुनाव का नतीजा आने के बाद लोग लगातार उनकी तलाश कर रहे हैं, लेकिन, बाबा से किसी का संपर्क नहीं हो पा रहा है. कई लोगों ने महामंडलेश्वर वैराग्यानंद का मोबाइल नंबर तक ढूंढ लिया है और लोग उन्हें फोन कर रहे हैं, साथ ही पूछ रहे हैं कि बाबाजी अब समाधि कब लेंगे. वहीं हरिद्वार के निरंजनी अखाड़े के सचिव रविंद्र पूरी के मुताबिक निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर वैराज्ञानंद गिरी को बदनामी उनके अखाड़े ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

किश्तवाड़ में बादल फटने से पांच की मौत, 40 से ज्यादा लोग लापता

नई दिल्ली 28 जुलाई 2021 ।  जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश का कहर देखने को मिला …