मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> अपने ही मंत्री पर बरस पड़े मध्‍यप्रदेश के सीएम कमलनाथ, तुम ही बोल दो, मैं चला

अपने ही मंत्री पर बरस पड़े मध्‍यप्रदेश के सीएम कमलनाथ, तुम ही बोल दो, मैं चला

भोपाल 16 अप्रैल 2019 । मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ अपने ही मंत्री जीतू पटवारी पर झल्‍ला उठे. वाकया 14 अप्रैल 2019 को इंदौर के पास महू का है. कमलनाथ डॉक्टर अंबेडकर के जन्म स्थल महू में श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे. श्रद्धांजलि हुई और कमलनाथ मीडिया से मुखातिब होने के लिए बढ़े. मीडिया कमलनाथ के संदेश का इंतजार कर रहा था, लेकिन उनकी ही सरकार में खेल एवं उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने ऐसा कुछ कह दिया कि झल्लाकर कमलनाथ को कहना पड़ा- ‘तुम ही बोल दो मैं चला.’

दरअसल, मीडि‍या के कैमरामैन कमलनाथ का बयान लेना चाह रहे थे. इसी दौरान माइक आपस में टकराने लगे. तभी कमलनाथ के बिल्कुल बगल में खड़े जीतू पटवारी ने एक हाथ से सामने लगे माइक्स को दुरुस्त करने की कोशिश शुरू कर दी. लेकिन इसी दौरान भूल गए कि उनका हाथ मीडिया कर्मियों के कैमरे और कमलनाथ के बीच में आ गया है. कार्यक्रम को खत्म कर बयान देने की औपचारिकता पूरी करने के बाद कमलनाथ को अगले कार्यक्रम में जाने की जल्दी थी. कमलनाथ को यहां देरी होने लगी तो वे मंत्री जीतू पटवारी की हरकत पर झल्ला गए. मालवा में अपने ही इलाके में मुख्यमंत्री की इस झल्लाहट की वजह से मंत्री जीतू पटवारी भी असहज से हो गए.

अब इस वीडियो के वायरल होने के बाद जीतू पटवारी के विरोधी चटखारे ले रहे हैं. यह पहला मौका नहीं है जब मंत्री जीतू पटवारी की कोई हरकत मीडिया की सुर्खी बनी हो. इससे पहले पटवारी ‘पार्टी गई तेल लेने’ और आदिवासियों को शराब पीने की पैरवी करने वाले बयान देते हुए कैमरे में कैद हो चुके हैं. इस मामले पर कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा कहते हैं -भीड़ काफी थी, मंत्री जीतू पटवारी व्यवस्थाओं को संभालने की कोशिश कर रहे थे. इसमें कहां कुछ गलत हो रहा है.

बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल कहते हैं, कांग्रेस पार्टी से अनुशासन और सभ्यता की उम्मीद कैसे की जा सकती है? उनके नेता अक्सर कई मौकों पर असभ्य आचरण करते हुए दिखाई देते हैं. मुख्यमंत्री कमलनाथ के सामने जीतू पटवारी ने ऐसी ही एक असभ्यता का परिचय दिया है.

यह चुनाव न्याय, अन्याय और झूठ सच के बीच है- मुख्यमंत्री कमलनाथ

मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने कहा है कि 2019 का लोकसभा चुनाव न्याय और अन्याय के बीच का चुनाव है। यह झूठ और सच के बीच का चुनाव है।एक तरफ मोदी जी किसानों को 6 हजार रुपये प्रतिवर्ष देने की बात कर रहे है और वही कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष न्याय योजना की घोषणा कर गरीबों को 72 हजार रुपये यानि 6 हजार प्रतिमाह न्यूनतम आय की गारंटी दे रही है। मोदी सरकार के पिछले पाँच साल के कार्यकाल में किसानों, नौजवानों और देश की जनता के साथ जो छल-कपट हुआ है ,इस न्याय और अन्याय की लड़ाई में देश की जनता के पास मोदी सरकार को सबक सिखाने का मौका है।
श्री नाथ ने कहा कि पंद्रह साल के भाजपा शासनकाल के बाद कांग्रेस ने नए जनादेश मिलने के बाद सिर्फ 100 दिन में प्रदेश के प्रगति के नए द्वार खोले हैं। हमने बड़े फैसले लेकर सरकार की नीति और नियत को स्पष्ट किया है। उन्होंने कहा कि जब इतने अल्प समय में प्रदेश की तस्वीर बदलने वाले निर्णय लिए हैं और आने वाले 200 और 300 दिनों में जो काम इस प्रदेश में हम करेंगे वह कृषि, रोजगार सहित विकास के अन्य क्षेत्रों में एक नई क्रांति की शुरुआत होगी। कमलनाथ जी ने आज होशंगाबाद में, जबलपुर के पाटन, बरगी और मंडला के निवास में आयोजित विशाल चुनावी सभाओं को संबोधित किया।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि किसानों को चुनाव के समय मोदी की सरकार ने 6 हजार रुपये प्रतिवर्ष देने का एलान किया यानी मात्र 500 रुपये माह की राहत दी। पाँच साल पहले जुमलों और वादों के साथ मोदी जी ने प्रधानमंत्री की कुर्सी तो संभाली लेकिन काला धन लाने, पंद्रह लाख देने, दो करोड़ बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने सहित मेकइन इंडिया, डिजीटल इंडिया, स्टार्टटप इंडिया बनाने की जो बात कही ,आज इसका कोई जबाव मोदी के पास नहीं है। इसलिए वे अब कोरे राष्ट्रवाद और पाकिस्तान की दुहाई देकर लोगों की भावना से खिलवाड़ कर रहे हैं।
श्री नाथ ने कहा कि इस धोखाधड़ी से जनता को सावधान रहना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का घोषणा-पत्र इस देश की दशा सुधारने वाला और नई दिशा देने वाला है। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में झूठ को नकारे और सच्चाई का साथ दें।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में पिछले 15 साल के भाजपा और पिछले 5 साल के मोदी सरकार की नाकामियों का जिक्र करते हुए कहा कि प्रदेश में किसान आत्महत्या, अपराध, कुपोषण और बेरोजगारी में अव्वल था। हमने अल्प समय में ही किसानों के हालात बदलने के लिये कर्ज माफी की घोषणा की। 50 लाख किसानों में से 23 लाख किसानों का कर्ज माफ होगा गया। नौजवानों को रोजगार देने के लिये युवा स्वाभिमान योजना शुरु की। अपराधों पर अंकुश लगाने की मुहिम शुरु की है और कुपोषण दूर करने की नई रणनीति बनाई है।
श्री नाथ ने कहा कि यही नहीं 76 दिन में 83 वचन हमने पूरे किए। उन्होंने कहा कि भाजपा चाहे जितना झूठ बोले चाहे जो अफवाह फैलाए हमारा वचन है 50 लाख किसानों का कर्ज माफ, वो हम करके रहेंगे। उन्होंने कहा कि जब भी प्रदेश में किसानों ने अपना हक मांगा तो उन्हें कभी लाठी मारी गई, कभी उनके कपड़े उतारे गयी और कभी उनकी छाती पर गोली चलायी गयी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश और देश में भाजपा की नीतियों ने नौजवानों को रोजगार देना तो दूर और उनसे रोजगार छीनने का काम किया है। नोटबंदी से बड़े पैमाने पर बेरोजगारी फैली। प्रदेश में उद्योग लगे नहीं बल्कि बंद हुए। आज देश के बैंको का खजाना खाली और प्रदेश का खजाना खाली है। कांग्रेस पार्टी ने प्रदेश में सरकार बनने के बाद इस बदत्तर हालात को बदलने की शुरुआत की है। केन्द्र में सरकार बनने के बाद देश की आर्थित स्थिति को भी बदलेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस अपने वचन की पक्की है। विधानसभा चुनाव के पहले हमने जो वचन पत्र जारी किया उसे पूरा करने के लिये हम कटिबद्ध हैं और आगे आने वाले समय में श्री राहुल गांधी ने जो घोषणा पत्र जारी किया की उसे भी पूरा करने के लिये संकल्पित हैं।

मामा के बाद अब चौकीदार की विदाई का समय

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज प्रदेश के होशंगाबाद, जबलपुर तथा मंडला जिले की विभिन्न चुनावी सभाओं में कहा कि 15 साल के कुशासन, किसान आत्महत्या, बलात्कार में, बेरोजगारी कुपोषण में नम्बर वन प्रदेश के त्रस्त नागरिकों ने मामा की विदाई तो कर दी ।अब उस चैकीदार को विदा करने का समय आ गया है। जिसने अमानत में खयानत कर इस देश को लूटने की साजिश की और षड़यंत्र रचा। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की जनता ने पाँच साल पहले पूरे विश्वास और उम्मीद के साथ नरेन्द्र मोदी को सत्ता सौंपी थी। उन्होंने मंहगाई कम करने, कालाधन वापस लाने, पंद्रह लाख रुपये देने, बेरोजगार नौजवानों को रोजगार देने और आंतकवाद को खत्म करने का झूठ बोला था। इसका सच इस देश की जनता के सामने आ गया है। उन्होंने चैकीदार बनकर देश को लूटने वाले माल्या ,नीरव मोदी जैसे लूटेरे को देश से भागने में मदद की ।वहीं एक उद्योगपति को लाभ देने और लेने के लिए राफेल जैसा महाघोटाला किया। नोटबंदी करके इस देश के करोड़ो लोगों से रोजगार छीन लिया। गलत तरीके से जीएसटी लागू करके देश के व्यापार व्यवसाय को चैपट कर दिया।

श्री नाथ ने कहा कि मोदी के द्वारा पिछले पाँच साल में किए गए इन अपराधों के लिए उन्हें क्षमा नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में मामा की विदाई के बाद अब समय आ गया है कि हम देश से चैकीदार को विदा करें।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …