मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> कमलनाथ से मिले सीएम शिवराज सिंह चौहान , दिग्विजय सिंह को समय नहीं; फिर ऐसे खत्म हुआ दिग्गी राजा का धरना

कमलनाथ से मिले सीएम शिवराज सिंह चौहान , दिग्विजय सिंह को समय नहीं; फिर ऐसे खत्म हुआ दिग्गी राजा का धरना

भोपाल 21 जनवरी 2022 । कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दग्विजिय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से 23 जनवरी को मुलाकात का समय मिलने के बाद आज यहां धरना समाप्त कर दिया। दिग्विजय सिंह से धरनास्थल पर मुख्यमंत्री सचिवालय के एक अधिकारी ने फोन पर चर्चा में कहा कि मुख्यमंत्री उनसे रविवार (23 जनवरी) को करीब 12 बजे मिलेंगे। वहीं इससे पूर्व कमलनाथ और शिवराज की मुलाकात हो चुकी थी। इस बात को लेकर बार-बार सवाल पूछने पर कमलनाथ मीडियाकर्मियों पर गुस्सा भी हो गए थे। दिग्विजय ने बातचीत का दिया हवाला
दिग्विजय सिंह ने इस बातचीत का हवाला देते हुए धरनास्थल पर मीडिया से कहा कि अब वे आज धरना समाप्त कर रहे हैं। उन्होंने कहाकि वे टेम और सिठोलिया परियोजना से प्रभावित किसानों के साथ मुख्यमंत्री से मिलेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि वे पिछले एक डेढ़ माह से शिवराज सिंह चौहान से मिलने का समय मांग रहे हैं। लेकिन अब तक मिलने में सफल नहीं हो पाए हैं। दिग्विजय सिंह के अनुसार दो दिन पहले उनसे कहा गया था कि शिवराज चौहान 21 जनवरी को लगभग सवा 11 बजे उनसे मिलेंगे, लेकिन एक दिन पहले यह मुलाकात रद्द कर दी गयी। इसलिए वे आज यहां धरने पर बैठने मजबूर हुए थे।

कमलनाथ ने किया समर्थन
वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने सुबह 11 बजे के बाद धरना दिया था। यह लगभग दो बजे के बाद समाप्त हो गया। उनके साथ राजगढ़, विदिशा, गुना और भोपाल जिले के जनप्रतिनिधि और किसान भी मौजूद रहे। इसके पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ भी यहां धरनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने दिग्विजय सिंह का समर्थन किया था। इसके पहले आज धरना और मुलाकात को लेकर उस समय राजनीति गर्मा गयी, जब कमलनाथ और शिवराज सिंह चौहान की यहां स्टेट हैंगर पर ‘मुलाकात’ हुई और दोनों नेता अकेले में 20 मिनट से अधिक समय तक बतियाते रहे। शिवराज सिंह चौहान हेलीकॉप्टर से भोपाल से देवास जिले की यात्रा पर जाने के लिए और कमलनाथ छिंदवाड़ा से भोपाल लौटते वक्त स्टेट हैंगर पर पहुंचे थे। तभी दोनों नेताओं की यहां संयोगवश मुलाकात हुई, जो 20 मिनट से अधिक समय तक चली। कमनाथ-शिवराज में यह हुई बात
इस मुलाकात की खबर मीडिया में तुरंत फैल गयी और कमलनाथ स्टेट हैंगर से धरनास्थल पहुंचे। यहां उन्होंने दिग्विजय सिंह के साथ धरने पर कुछ देर बैठकर बात की। उन्होंने मीडिया से कहा कि शिवराज सिंह चौहान ने उनसे कहा था कि दिग्विजय सिंह धरना दे रहे हैं, जबकि वे उनसे मिलने के लिए राजी हैं। कमलनाथ के अनुसार उन्होंने शिवराज सिंह चौहान से कहा कि वे इस संबंध में दिग्विजय सिंह से चर्चा करेंगे। श्री कमलनाथ ने कहाकि लेकिन जब उन्होंने दिग्विजय सिंह से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि वे पिछले डेढ़ माह से मुख्यमंत्री से मिलने का समय मांग रहे हैं। आज का समय देने के बाद भी उसे रद्द कर दिया गया था। इसलिए वे यहां धरने पर बैठने को मजबूर हुए। शिवराज से मुलाकात पर यह बोले कमलनाथ
कमलनाथ ने कहा कि वे दिग्विजय सिंह और किसानों के साथ हैं। इसी दौरान कमलनाथ मीडिया के सवाल पर उस समय भड़कते हुए नजर आए, जब पत्रकारों ने बार-बार उनसे कहाकि शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें मिलने का समय दे दिया और दिग्विजय सिंह को नहीं दिया। कमलनाथ ने तेज आवाज में कहा कि शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें समय नहीं दिया। वे छिंदवाड़ा से लौट रहे थे और सीएम चौहान देवास जिले की यात्रा पर जाने वाले थे। इसी दौरान स्टेट हैंगर पर दोनों की मुलाकात हो गयी। दिग्विजय सिंह ने कल ही घोषणा कर दी थी कि वे मुख्यमंत्री निवास की ओर कूच करेंगे और मुख्यमंत्री से मुलाकात नहीं होने पर वहीं पर धरना देंगे। इसके मद्देनजर पुलिस प्रशासन ने मुख्यमंत्री निवास और दिग्विजय सिंह के निवास के आसपास लगभग एक किलोमीटर के दायरे में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध कर लिए थे। दिग्विजय सिंह को मुख्यमंत्री निवास के काफी पहले ही रोक दिया गया और वे वहीं पर अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए थे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पीएम नरेंद्र मोदी ने भैरहवा एयरपोर्ट पर न उतरकर नेपाल को दिया सख्त संदेश

नयी दिल्ली 17 मई 2022 । पीएम नरेंद्र मोदी बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर नेपाल …