मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> सीएम के सांसद बेटे को जेड प्लस सुरक्षा

सीएम के सांसद बेटे को जेड प्लस सुरक्षा

रायपुर 14 जुलाई 2018 । छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के पुत्र व राजनांदगांव से भाजपा सांसद अभिषेक सिंह को केंद्र सरकार ने जेड प्लस सुरक्षा देने का फैसला किया है। अब अभिषेक सीआरपीएफ कमांडो के घेरे में रहेंगे। एक सप्ताह में सीआरपीएफ कमांडो राजधानी पहुंचकर अभिषेक की सुरक्षा का जिम्मा संभाल लेंगे।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने विधानसभा चुनाव को देखते हुए अभिषेक सिंह की सुरक्षा का रिव्यू किया है। यह सुरक्षा छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों को देखते हुए दी गई है। पुलिस मुख्यालय के इंटेलिजेंस विभाग के आला अधिकारियों ने बताया कि सीआरपीएफ की टीम का रायपुर, राजनांदगांव और कवर्धा में कैंप बनेगा। इसका मुख्यालय राजनांदगांव में रखा गया है।

सीआरपीएफ के अधिकारियों की टीम ने पिछले सप्ताह बेस कैंप स्थल का निरीक्षण किया है। बताया जा रहा है कि अगले सप्ताह टीम सुरक्षा का मोर्चा संभाल लेगी। इस टीम में विशेष प्रशिक्षण प्राप्त 25 कमांडों तैनात होंगे। गृह विभाग के अधिकारियों ने बताया कि अभिषेक सिंह को छत्तीगसढ़ के बाहर भी जेड श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी, लेकिन सीआरपीएफ के जवान तैनात नहीं रहेंगे।

इन्हें मिली है जेड प्लस सुरक्षा

प्रदेश में नौ अति विशिष्ट व्यक्तियों को जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है। इनमें राज्यपाल बलरामजी दास टंडन, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, गृहमंत्री रामसेवक पैकरा, स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप, सांसद अभिषेक सिंह, झीरम घाटी नक्सली हमले में दिवंगत पूर्व नेता प्रतिपक्ष महेंद्र कर्मा की विधायक पत्नी देवती कर्मा, उनके पुत्र छबिंद्र कर्मा, दीपक कर्मा, आशीष कर्मा व दिव्यराज कर्मा शामिल हैं।

कितने को कैसी सुरक्षा?

प्रोटेक्शन रिव्यू ग्रुप की अनुशंसा के आधार पर राज्य सरकार ने दस लोगों को जेड प्लस, 35 लोगों को जेड श्रेणी, 36 को वाय श्रेणी, 12 लोगों को वाय-टू श्रेणी, 40 लोगों को एक्स प्लस श्रेणी, 24 लोगों को एक्स श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। इसके अलावा हाईकोर्ट के सभी न्यायाधीशों को वाय श्रेणी सुरक्षा तथा सांसदों व विधायकों को एक्स श्रेणी सुरक्षा दी गई है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

लगातार बढ़ रही हैं PM मोदी की उपलब्धियां, अब मिलने वाला है एक और इंटरनेशल अवॉर्ड

नई दिल्ली 28 फरवरी 2021 । प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी अगले सप्ताह एक वार्षिक अंतरराष्ट्रीय …