मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> चुनावी मोड में आई कांग्रेस : तीन प्रमुख समितियों का किया गठन

चुनावी मोड में आई कांग्रेस : तीन प्रमुख समितियों का किया गठन

नई दिल्ली 26 अगस्त 2018 । आगामी लोकसभा में चुनाव से कुछ महीने पहले ‘चुनावी मोड’ में आने का स्पष्ट संकेत देते हुए कांग्रेस ने आज तीन प्रमुख समितियों का गठन किया जिनमें पार्टी के ज्यादातर प्रमुख नेताओं को जगह दी गई है।
लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नौ सदस्यीय कोर ग्रुप समिति, 19 सदस्यीय घोषणापत्र समिति और 13 सदस्यीय प्रचार समिति का गठन किया है।

समितियों के बारे में जानकारी देते हुए पार्टी के संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने कहा कि इन समितियों के गठन के साथ कांग्रेस चुनावी मोड में जाएगी, घोषणापत्र तैयार करने के लिए काम आरंभ करेगी और प्रचार एवं समन्वय के लिए रणनीति बनाएगी।

कांग्रेस के नौ सदस्यीय कोर ग्रुप समिति में एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, पी चिदंबरम, अशोक गहलोत, मल्लिकार्जुन खड़गे, अहमद पटेल, जयराम रमेश, रणदीप सुरजेवाला और केसी वेणुगोपाल शामिल हैं।

घोषणापत्र समिति में चिदंबरम, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, वरिष्ठ नेता जयराम रमेश, सलमान खुर्शीद, पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत बादल, अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव, सांसद राजीव गौड़ा, कृष्णन बिंदु, कुमारी शैलजा, रघुवीर मीणा, भालचंद मुंगेकर और मीनाक्षी नटराजन को जगह दी गई है।

इसके अलावा पार्टी की हिमाचल प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल, इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के प्रमुख सैम पित्रोदा, पार्टी के ओबीसी विभाग के प्रमुख ताम्रध्वज साहू, मेघालय के पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा, सांसद शशि थरूर, सचिन राव और ललितेश त्रिपाठी को भी घोषणापत्र में शामिल किया गया है।

पार्टी की प्रचार समिति में मीडिया विभाग के प्रमुख सुजेवाला, सोशल मीडिया टीम की प्रमुख दिव्या स्पंदना और राज्यसभा में कांग्रेस के उप नेता आनंद शर्मा को शामिल किया गया है।

इसके अलावा समिति के सदस्यों में भक्त चरण दास, प्रवीण चक्रवर्ती, मिलिंद देवड़ा, कुमार केतकर, पवन खेड़ा, वीडी सतीशन, राजीव शुक्ला, जयवीर शेरगिल, मनीष तिवारी और प्रमोद तिवारी शामिल हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Ram Mandir निर्माण के लिए Rajasthan के लोगों ने दिया सबसे ज्यादा चंदा

जयपुर: विश्व हिंदू परिषद (VHP) के केंद्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के …