मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> चुनाव को लेकर कांग्रेस ने यह अनिवार्यता की खत्म

चुनाव को लेकर कांग्रेस ने यह अनिवार्यता की खत्म

भोपाल 9 सितम्बर 2018 । मध्य प्रदेश चुनाव को लेकर तैयारियां चरम पर हैं। ऐसे में पार्टियां वोटरों को लुभाने के लिए कोई भी मौका छोड़ना नहीं चाहती हैं। इसको देखते हुए राजनीतिक दलों की ओर से रोजाना नए फरमान जारी हो रहे हैं। ऐसा ही एक फरमान कुछ दिनों पहले कांग्रेस की ओर से जारी किया गया था। जिसमें कहा गया था कि विधानसभा चुनाव में उन्हीं को टिकट दिया जाएगा जो फेसबुक और ट्विटर पर सक्रिय होंगे। इसके लिए कांग्रेस ने फॉलोअर्स की संख्या भी तय कर दी थी। साथ ही 15 सितंबर को की समय सीमा निर्धारित की गयी थी। हालांकि मंथन के बाद कांग्रेस ने इस फरमान को निरस्त कर दिया है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने पत्र जारी कर कहा है कि मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सोशल मीडिया से सम्बंधित जारी निर्देश को निरस्त किया जाता है। दरअसल टिकट के दावेदारों के साथ ही वर्तमान विधायक और प्रदेश पदाधिकारियों से बी सोशल मीडिया पर उनकी सक्रियता की रिपोर्ट मांगी गयी थी। कहा गया था इसके लिए सोशल मीडिया पर मजबूत पकड़ होनी चाहिए। फेसबुक पर 15 हजार से ज्यादा फॉलोअर्स और ट्वीटर पर 5 हजार से ज्यादा फॉलोअर्स होना चाहिए। इसके अलावा वॉट्सऐप के ग्रुप भी होने चाहिए जिसमें बूथ स्तर के कार्यकर्ता भी जुड़े हों। हालांकि कांग्रेस ने अब यह अनिवार्यता खत्म कर दी है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों कमलनाथ अपनी सोशल मीडिया टीम से नाराज हो गये थे। जिसके बाद उन्होंने यह भी कहा था कि हमारी सोशल मीडिया टीम बीजेपी की टीम से काफी कमतर है जिस पर ध्यान देने की जरूरत है।

कैलाश मानसरोवर के बाद अब दुबई जाएंगे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कैलाश मानसरोवर की अपनी धार्मिक यात्रा पूरी करने के बाद इस साल होने वाले विधानसभा चुनावों के प्रचार में जुटेंगे. प्रचार के दौरान ही राहुल गांधी दो दिवसीय मिडिल ईस्ट के दौरे पर भी जाएंगे.

उच्चपदस्त सूत्रों के मुताबिक राहुल पहले मिडल ईस्ट के दौरे पर बहरीन गए थे लेकिन तब संयुक्त अरब अमीरात नहीं जा सके थे. इसलिए इस बार राहुल के दौरे के केंद्र में दुबई होगा. दरअसल, दुबई में भारत से नाता रखने वाले करीब 34 लाख लोग रहते हैं, जिनके काफी रिश्तेदार भारत में हैं. इस लिहाज से ही इस दौरे की रूप रेखा तैयार की जा रही है.

सूत्रों का कहना है कि अमेरिका से शुरू हुआ राहुल के विदेश दौरे का सफर हाल में जर्मनी और इंग्लैंड पहुंचा था और अब दुबई की तैयारी है. राहुल का ये दौरा अक्टूबर के आखिर में प्रस्तावित है. कांग्रेस अध्यक्ष इस दौरे में भी बाकी विदेशी यात्राओं की तरह बेबाक तरीके से अपनी राय रखेंगे.

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि राहुल के इस दौरे को ऐतिहासिक बनाने के लिए ऐसे स्टेडियम की भी बुकिंग कराने की कोशिश की जा रही है, जिसकी क्षमता 50000 लोगों की हो. क्योंकि वहां 34 लाख भारतीय हैं, इसलिए 50 हज़ार की क्षमता वाले स्टेडियम को भरकर राहुल की लोकप्रियता को दिखाने की भी कोशिश रहेगी. इसके लिए क्रिकेट के लिए मशहूर शारजाह स्टेडियम को भी एक विकल्प माना जा रहा है और उसकी बुकिंग की कोशिश भी की जा रही है.

गौरतलब है कि चुनाव की तैयारियों में जुटे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी विदेशों में भी भारतीय प्रवासियों से संवाद करने और समाज के हर वर्ग को साधने में जुटे हैं. अब राहुल गांधी हर वर्ग के साथ जुड़ने की रणनीति पर काम कर रहे हैं.

शिवराज के रथ पर हमले का गवाह आया नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के साथ

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने सीएम शिवराज के रथ पर पथराव के गवाह को भोपाल में मीडिया के सामने पेश कर दिया. उस गवाह ने कहा पुलिस ने सारी कहानी झूठी गवाही पर रची.

सीधी ज़िले के चुरहट में 2 सितंबर को सीएम शिवराज सिंह के जन आशीर्वाद यात्रा के रथ पर हमला हुआ था. आरोप लगा नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह और उनके समर्थकों पर. प्रदेश के गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने तो कहा ये मुख्यमंत्री की हत्या की साज़िश थी.

भोपाल में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने उस मामले में गवाह बनाए गए युवक संदीप चतुर्वेदी को मीडिया के सामने पेश किया. उन्होंने दावा किया कि पुलिस ने पूरी कहानी झूठी गवाही के दम पर रची है. संदीप चतुर्वेदी ने पूरे मीडिया के सामने कहा कि पुलिस ने उसके ऊपर दबाव बनाकर गलत बयान दिलवाए.

संदीप चुरहट में बीजेपी मंडल अध्यक्ष मनोज सिंह चौहान के पेट्रोल पंप पर काम करता है. 2 सितंबर को जिस दिन ये घटना हुई वो सीएम की जन आशीर्वाद यात्रा देखने के लिए खड़ा था. रथ पर जब पत्थर फेंकने की घटना हुई तो पुलिस ने देर रात उसे हिरासत में लेकर डराया धमकाया और जिन लोगों ने सीएम के रथ पर हमला किया उन्हें पहचानने के लिए कहा. बाद में किसी तरह संदीप, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के पास पहुंचा और पूरे मामले की हक़ीक़त बताई.

अब नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने संदीप के बयानों के आधार पर सीएम शिवराज सिंह चौहान से मामले की न्यायिक जांच की मांग की है. अजय सिंह का कहना है इस तरह के षडयंत्र करके उनकी राजनैतिक हत्या की साज़िश रची जा रही है.

चुरहट में 2 सितंबर को जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान सीएम के रथ पर पत्थर फेंके गए थे. बीजेपी ने इसके लिए सीधे तौर पर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह पर उंगली उठायी और उन्हें इस घटना का साज़िशकर्ता कहा था. गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने तो यहां तक कह दिया था कि सीएम की हत्या की साजिश रची गई थी.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

अपोलो हॉस्पिटल्स, इंदौर में हार्ट सर्जरी के बाद नन्हे हीरोज अपने घर वापिस जाने के लिए तैयार

इंदौर 1 मार्च 2021 । यह अनुमान है कि भारत में हर साल 240,000 बच्चे …