मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> कांग्रेस का वचन पत्र दिवालिया बैंक का पोस्ट डेटेड चैकः राजनाथ सिंह

कांग्रेस का वचन पत्र दिवालिया बैंक का पोस्ट डेटेड चैकः राजनाथ सिंह

भोपाल  22 नवम्बर 2018 ।  कांग्रेस अपने घोषणा पत्र में जो भी वादे करती है, उन्हें निभाती नहीं है। पार्टी ने जब-जब भी कर्ज माफी की बात की है, उसे निभाया नहीं है। कांग्रेस का वचन पत्र एक दिवालिया बैंक के पोस्ट डेटेड चैक की तरह है, जिसका कोई मूल्य नहीं होता। यह बात केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को मीडिया से चर्चा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जिस तरह का माहौल है, उससे यह स्पष्ट है कि मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनेगी।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भाजपा के मीडिया सेंटर में पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि मैंने मध्यप्रदेश में कई जगह दौरे किए हैं, सभाओं को संबोधित किया है। यहां जो माहौल दिखाई दे रहा है, उसके आधार पर कहा जा सकता है कि प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी चौथी बार पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाने जा रही है।

शिवराजसिंह ने बनाई जनता में साख

राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने भारतीय राजनीति में विश्वास का संकट पैदा कर दिया है, जिसकी वजह उसकी कथनी और करनी में अंतर है। लेकिन विश्वास के इस संकट पर विजय हासिल करते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अपने 13 वर्षों के कार्यकाल में जनता के बीच अपनी साख बनाई है। उन्होंने अपने वादे निभाए और मुख्यमंत्री शिवराजसिंह के नेतृत्व में भाजपा की सरकार ने करिश्माई काम किया है। प्रदेश की प्रति व्यक्ति आय जो कांग्रेस के समय में 15 हजार के करीब थी, वह अब 80 हजार के पास पहुंच रही है। इसी तरह प्रदेश में अर्थव्यवस्था के आकार में भी करीब 11 गुना बढ़ोतरी हुई है। श्री सिंह ने कहा कि प्रदेशों में किए गए विकास और सुशासन की पिच पर मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भाजपा चौका मारने जा रही है।

कांग्रेस के 55 सालों पर भारी मोदी सरकार के 4.5 साल

राजनाथ सिंह ने कहा कि देश में आजादी के बाद के 55 सालों तक कांग्रेस की अखंड हुकूमत रही है। देश में मानव संसाधन, प्राकृतिक संसाधन और तकनीकी कौशल की कोई कमी नहीं है, इसके बावजूद कांग्रेस ने देश का विकास नहीं किया। राज्यों की स्थिति तो और भी बदतर रही। लेकिन मोदी सरकार के 4.5 सालों के कार्यकाल में देश का तेजी से विकास हुआ है। उनके नेतृत्व में भारत दुनिया की सबसे तेज आर्थिक विकास दर वाले देशों में शामिल हो गया है। वहीं, अर्थव्यवस्था के मामले में देश पहले 9 वें स्थान पर था, अब छठे स्थान पर आ गया है। श्री सिंह ने कहा कि जल्दी ही हम इस मामले में टॉप-5 में पहुंच जाएंगे। श्री सिंह ने आशा जताई कि वर्ष 2030-35 तक हम इस सूची में टॉप पर होंगे।

कांग्रेस में हर नेता बनना चाहता है मुख्यमंत्री

सिंह ने कहा कि तुलनात्मक रूप से भारतीय जनता पार्टी अच्छी सरकार चलाने वाली पार्टी है। पार्टी का संगठन आदर्श है और यह विचाराधारा पर चलने वाला राजनीतिक दल है। इसलिए जब भी चुनाव होते हैं, तो पार्टी अपना नेता पहले घोषित कर देती है। लेकिन कांग्रेस यह साहस नहीं कर पा रही है। चुनाव के मैदान में पार्टी का सेनापति तय नहीं है। हर जिले का नेता मुख्यमंत्री बनना चाहता है। श्री सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ दोनों ही राज्यों में कांग्रेस कौन बनेगा मुख्यमंत्री खेल रही है।

किसानों के वारंट जारी, यह कैसी कर्ज माफी

राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में कर्ज माफी को शामिल किया है। पार्टी पहले भी इस तरह के वादे करती रही है, लेकिन उन्हें निभाती नहीं है। विशेषकर कर्ज माफी का वादा कांग्रेस ने कभी पूरा नहीं किया। श्री सिंह ने कहा कि पार्टी ने पंजाब में कर्ज माफी का वादा किया, पूरा नहीं किया। कर्नाटक में कर्ज माफी का वादा किया, लेकिन वहां कर्ज न चुकाने वाले किसानों के नाम गिरफ्तारी वारंट निकल रहे हैं और किसान भागते फिर रहे हैं। श्री सिंह ने कहा कि कांग्रेस गरीबी हटाओ का नारा देती रही है, लेकिन गरीब हटाने के लिए कुछ नहीं किया। स्व. इंदिरा गांधी ने भी 1969 में गरीबी हटाने का तर्क देकर बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया था, लेकिन इससे भी कुछ फर्क नहीं पड़ा।

यहां मैं जनता की सेवा के लिए जागता हूं, कांग्रेसी मेरे कारण नहीं सोते : शिवराज सिंह चौहान

बालघाट/भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि मैं जनता की सेवा के लिए जागता रहता हूं, लेकिन कांग्रेस के नेताओं को मेरे कारण नींद नहीं आती है। 15 वर्ष हो गए कुर्सी से दूर हुए, अब उन्हें कुर्सी की ज्यादा चिंता हो रही है। उनका एकमात्र लक्ष्य है किसी तरह चुनाव जीतना, लेकिन मेरा सिर्फ एक ही लक्ष्य है प्रदेश को समृद्धशाली बनाकर हर वर्ग का विकास करना। इसके लिए मैं दिन-रात मेहनत करने में जुटा हुआ हैं। मुख्यमंत्री बालाघाट जिले की विधानसभा बैहर में पार्टी प्रात्याशी अनुपमा नेताम और विधानसभा वारासिवनी में प्रत्याशी योगेंद्र निर्मल के समर्थन में सभा को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने जितना विकास 15 वर्षों में किया है उतना विकास कांग्रेस 54 वर्षों में भी नहीं कर पाई थी। हमें बीमारू मध्यप्रदेश मिला था, लेकिन हमने मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य से बाहर निकालकर पहले विकासशील बनाया, फिर विकसित बनाया और अब समृद्धशाली प्रदेश बनाना है। उन्होंने कहा हमारे समृद्ध प्रदेश में महिलाओं का सशक्तिकरण होगा, युवाओं को हर साल 10 लाख रोजगार एवं स्वरोजगार देंगे, बेटे-बेटियों की पढ़ाई की व्यवस्था कराएंगे, बेटियों को 12 वीं में 70 प्रतिशत अंक लाने पर कॉलेज जाने के लिए स्कूटी देंगे।

किसान-किसान कहते हैं, लेकिन करते कुछ नहीं

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के नेता किसान, किसान कहते रहते हैं, लेकिन अब तक किसानों के लिए कुछ नहीं किया। 54 साल तक मध्यप्रदेश में राज किया, लेकिन किसानों की भलाई के लिए यदि कोई काम किया हो तो बताएं। कांग्रेस की सरकार में 18 प्रतिशत की दर पर ब्याज मिलता था, लेकिन भाजपा की सरकार ने जीरो प्रतिशत पर किसानों को कर्ज देने की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि दिल्ली से राहुल बाबा भी आते हैं और किसानों की बातें करते हैं, लेकिन उन्हें यही नहीं पता कि धान की बाली कैसे लगती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने पंजाब और कर्नाटक में भी किसानों के कर्जमाफी की बातें कही थी, लेकिन अब तक कर्जमाफी कर पाए क्या? अब प्रदेश के किसानों को कर्जमाफी का सपना दिखाकर सत्ता में आना चाहते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने किसानों को गेहूं और धान पर बोनस देने की व्यवस्था शुरू की। यह बोनस इस वर्ष भी दिया जाएगा। छोटे किसानों को भी बोनस देंगे।

15 गुना ज्यादा काम किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा की सरकार ने मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकारों के मुकाबले 15 गुना ज्यादा काम किया है। उन्होंने 54 वर्ष तक मध्यप्रदेश में राज किया, लेकिन हम 15 वर्षों से सत्ता में हैं और इन वर्षों में हमने उनसे 15 गुना ज्यादा काम किया है।

आधी रात को संघ कार्यालय पहुंचे CM शिवराज

सीएम शिवराज सिंह चौहान बुधवार को बालाघाट और मंडला का अपना चुनावी दौरा खत्म कर सीएम हाउस जाने के बजाए सीधे भोपाल के संघ कार्यालय पहुंचे. रात लगभग सवा 12 बजे संघ कार्यालय पहुंचे सीएम ने लगभग 15 मिनट तक पदाधिकारियों से मुलाकात की.

सीएम शिवराज सिंह संघ कार्यालय से प्रदेश कार्यालय पहुंचे और वहां भी 10 मिनट रुककर वहां से रवाना हो गए. इस दौरान सीएम शिवराज सिंह के साथ कोई भी बड़ा नेता नहीं था. इस वजह से तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं.सूत्रों के अनुसार सर्वे से लेकर तमाम रिपोर्ट ने बीजेपी को चिंता में डाल दिया है. इसी वजह से चिंतित सीएम शिवराज सिंह आधी रात को सीएम हाउस जाने के बजाए सीधे संघ कार्यालय पहुंचे. संघ पदाधिकारियों से मुलाकात कर चुनाव का फीडबैक लिया.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना महामारी के चलते सादे समारोह में ममता बनर्जी ने ली शपथ

नई दिल्ली 05 मई 2021 । तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने राजभवन …