मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> प्रदेश के प्रमुख शहरो में डेंगू के डेन-2 स्ट्रेन का खतरा

प्रदेश के प्रमुख शहरो में डेंगू के डेन-2 स्ट्रेन का खतरा

भोपाल 16 सितम्बर 2021 । मालवा क्षेत्र के साथ अंचल में डेंगू और वायरल का प्रसार तेजी से हो रहा है। प्रदेश के प्रमुख शहरो भोपाल, इंदौर, जबलपुर , उज्जैन , रतलाम एवं मंदसौर मे अनेक मरीजों में डेंगू के डेन-2 से संबंधित परेशानी मिली है।
यह खुलासा राष्ट्रीय वेक्टर बार्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम के सलाहकार डॉ नरेश पुरोहित ने करते हुए बताया कि डेंगू का डेन-2 स्ट्रेन हृदय तक को प्रभावित कर रहा है। पेट, फेफड़ों के बाद मरीज के हृदय में भी पानी मिल रहा है। इससे मरीज सांस नहीं ले पा रहा और धड़कन भी तेज हो गई है ।चिकित्सक इनकी ईसीजी और जरूरत पर ईको जांच भी करा रहे हैं।
महामारी रोग विशेषज्ञ डा पुरोहित ने बताया कि डेंगू का डेन-2 स्ट्रेन खतरनाक है, जो मरीजों की किडनी, फेफड़े, लिवर के साथ हृदय में भी दिक्कतें दे रहा है। हृदय के आसपास की झिल्लियों में फ्लूड (पानी) मिल रहा है। इससे मरीज को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है । इन मरीजो मे धड़कन 120 से 150 तक मिल रही है। सामान्य में 60 से 100 तक रहती है। हृदय की जांच के साथ मर्ज को ठीक करने हेतु पांच से सात दिन तक दवाएं दी जाती हैं।
डॉ. पुरोहित ने बताया कि डेंगू के डेन-1, डेन-2, डेन-3 और डेन-4 सीरोटाइप हैं। इसमें डेन-2 चारो सीरोटाइप में सबसे खतरनाक है। मरीज के दिमाग, लिवर, किडनी, बोनमेरो, फेफड़े और हृदय को भी प्रभावित करता है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पीएम नरेंद्र मोदी ने भैरहवा एयरपोर्ट पर न उतरकर नेपाल को दिया सख्त संदेश

नयी दिल्ली 17 मई 2022 । पीएम नरेंद्र मोदी बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर नेपाल …