मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> बता रहे हैं काशी से जुड़े प्रवासी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बहुत बदल कर रख दी है काशी

बता रहे हैं काशी से जुड़े प्रवासी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बहुत बदल कर रख दी है काशी

नई दिल्ली 27 मई 2019 । विदेश में बसे प्रवासियों की नजर भी लोकसभा चुनाव 2019 पर लगी हुई थी। मगर उन प्रवासियों में भी जो बनारसी थे उनकी नजरें सीधे अपने सांसद यानि पीएम नरेंद्र मोदी पर थीं। चुनाव परिणाम आने के बाद प्रवासियों ने भी मोदी की जीत पर अपने विचार साझा कर जीत की वजहों को और स्पष्ट किया। उम्मीद भी जताई कि अब अगले पांच वर्षों में काशी और भी निखर कर सामने आएगी।

काशी में इसी वर्ष 21 से 23 जनवरी तक मनाया गया प्रवासी भारतीय दिवस कई मायनों में अनोखा था। आयोजन का थीम ‘भारत के निर्माण में प्रवासियों की भूमिका’ ने कुछ इस जमीन तैयार की कि वाराणसी से प्रवासियों के स्नेह का नाता लंबे समय तक के लिए जुड़ गया। प्रवासी भारतीय दिवस के दौरान वाराणसी से जुड़े प्रवासियों ने भी कार्यक्रम में शिरकत की और बदलते बनारस को काफी समय बाद करीब से महसूस किया था। उनमें से कई पहले भी बनारस की बदहाली के गवाह रह चुके थे। अब मोदी के रिकार्ड जीत के बाद अपने सांसद के कार्यों को मुक्त कंठ सराहा।

स्वच्छता ने बदली छवि : पीएम मोदी के आने के बाद से बदली हुई काशी को सड़क से घाट तक स्वच्छ देखना काफी सुखद लगा है। यहां की खूबसूरत पेंटिंग और सड़कों पर रात की रोशनी ने मेरे गृह जनपद वाराणसी को अनोखा स्वरुप दिया है। – रीना कुमार, लॉस एंजल्स।

काशी में बदली है साज सज्जा : बचपन में दुर्गाकुंड देखा था अब कुंड की रंगाई, सफाई, फव्वारे, लाइट से रात्रि का दृश्य अद्भुत नजर आने लगा है। विदेशों में बसे लोग काशी आने की इच्छा जाहिर करने लगे हैं। काशी का विश्व में कोई सानी नहीं और इसका श्रेय मोदी जी को जाता है। – श्वेता मिश्रा, क्वींंसलैंड, आस्ट्रेलिया।

दो दशकों से देखी है काशी : क्षय होती काशी से मन दुखी था मगर पिछले पांच सालों में काशी पहले से ज्यादा सुंदर महसूस कर रहा हूं। पीएम के काशी आगमन ने यहां विकास में नई जान डाल दी है। बाबा की नगरी का जीर्णोद्धार, मां गंगा की सफाई और कारीडोर जैसे प्रोजेक्ट से वाराणसी और भी निखर रही है। – डा. आशुतोष मिश्रा, सीईओ, आस्ट्रेलिया-इंडिया इंगेजमेंट।

पांच वर्षों में बहुत बदली काशी : बनारस आता रहा हूं मगर पीएम नरेंद्र मोदी के आने के पांच वर्षों में काशी को बदलते करीब से देखा है। घाट, एयरपोर्ट, कन्वेंशन सेंटर जैसी मेगा परियोजनाएं छवि निखारने वाली हैं। यहां का जायका विदेशियों के जुबान पर चढ़ गया है, प्रवासी भारतीय दिवस के बाद यकीनन इसे आकर्षित करेगा। – अंशुमान कुमार त्रिखा, लॉस एंजिल्स कैलिफोर्निया।

वैश्विक सुविधाओं ने बढ़ाई रौनक : पांच वर्षों में वाराणसी काफी बदली है, आगे और भी दिव्य होगी। यहां पर घाट से लेकर सड़कों तक की स्वच्छता ही नहीं बल्कि अब यहां थ्री स्टार और फाइव स्टार सुविधाएं भी वैश्विक हैं। एयरपोर्ट, रेल और सड़क मार्ग की बेहतरीन कनेक्टिविटी ने बनारस को अब काफी करीब ला दिया है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …