मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> जल्द खत्म होने वाली है यूक्रेन में तबाही? रूस ने दे दिए संकेत

जल्द खत्म होने वाली है यूक्रेन में तबाही? रूस ने दे दिए संकेत

नयी दिल्ली 08 अप्रैल 2022 । यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध को शुरू हुए 44 दिन हो गए हैं। यूक्रेन के शहरों में तबाही मचाने वाले रूसी सैनिक अब जल्द ही अपने वतन लौट सकते हैं। क्रेमलिन ने शुक्रवार को कहा कि यूक्रेन में उसका ‘विशेष सैन्य अभियान’ निकट भविष्य में खत्म हो सकता है क्योंकि यूक्रेन पर हमले के उद्देश्य पूरे होने वाले हैं। यूक्रेन और रूस के बीच चल रहा महायुद्ध कब खत्म होगा? पूरी दुनिया की नजरें इस पर टिकी हैं। तमाम प्रतिबंधों की परवाह किए बगैर रूस ने यूक्रेन की धरती तबाही बंद नहीं की है। सिलसिलेवार यूक्रेन के शहरों में रूसी सेना द्वारा की गई तबाही के मंजर अब दुनिया के सामने आने लगे हैं। बूचा समेत कई शहरों में नरसंहार की तस्वीरों से पूरी दुनिया स्तब्ध है। शुक्रवार को क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा कि यूक्रेन में रूस का विशेष सैन्य अभियान निकट भविष्य में खत्म हो सकता है और रूसी सैनिक वापस बुलाए जा सकते हैं, क्योंकि यूक्रेन में उसके उद्देश्य पूरे हो रहे हैं।

यूनएचआरसी से निलंबन पर भी बोला रूस
दिमित्री पेसकोव ने आगे कहा कि मास्को उन देशों पर दबाव को समझता है जिन्होंने UNHRC से रूस के निलंबन के पक्ष में मतदान न करके संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की कोशिश की थी। रूस की यह टिप्पणी संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा पूर्वी यूरोपीय राष्ट्र में “मानव अधिकारों के घोर और व्यवस्थित उल्लंघन और हनन” की रिपोर्ट पर UNHRC से रूस को निलंबित करने के एक दिन बाद आई है। बताते चलें कि UNGA ने रूस को वैश्विक अधिकार निकाय से हटाने के पक्ष में दो-तिहाई मतदान किया। संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा पेश किए गए प्रस्ताव में 93 देशों ने इसके पक्ष में मतदान किया। जबकि प्रस्ताव के खिलाफ 24 मत पड़े और 57 ने मत से परहेज किया। भारत उन देशों में शामिल था, जिन्होंने प्रस्ताव पर मतदान से परहेज किया था।

रेलवे स्टेशन पर हवाई हमले से रूस का इनकार
शुक्रवार को खबर सामने आई थी कि पूर्वी यूक्रेन के क्रामटोर्स्क रेलवे स्टेशन पर रूस के दो रॉकेटों के हमले में कम से कम 30 लोगों की मौत हो गई और 100 से अधिक घायल हो गए। रिपोर्ट के अनुसार, रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच निवासियों को निकालने के लिए स्टेशन का इस्तेमाल किया जा रहा था। इस पर रूस ने कहा है कि वह इस हमले के लिए जिम्मेदार नहीं है। रूस ने इसे यूक्रेन द्वारा फैलाया जा रहा प्रोपेगेंडा करार दिया।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

नरेश पटेल की एंट्री के कयास ने लिखी हार्दिक पटेल के एग्जिट की पटकथा

नयी दिल्ली 18 मई 2022 । कांग्रेस से लंबे समय से नाराज चल रहे गुजरात …