मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> प्रत्येक 25 किलोमीटर की दूरी पर ढाबा को खोलने की की अनुमति दी जाएगी

प्रत्येक 25 किलोमीटर की दूरी पर ढाबा को खोलने की की अनुमति दी जाएगी

उज्जैन 10 मई 2020 । कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी आशीष सिंह ने आदेश जारी कर राष्ट्रीय एवं राज्य मार्ग पर स्थित पेट्रोल पंपों को 24 घंटे खुले रखने के निर्देश दिए हैं। साथ ही इन मार्गों पर प्रत्येक 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ढाबा  संबंधित एसडीएम से अनुमति प्राप्त कर प्रातः 7:00 बजे से 11:00 बजे तक खुला रहेगा ।वर्तमान में कृषि उत्पादन, पीडीएस खाद्यान्न का परिवहन  व उपार्जन का कार्य प्रारंभ है  ।साथ ही  मेडिकल उपकरण व आवश्यक वस्तुओं के परिवहन हेतु राष्ट्रीय राजमार्ग एवं राज्य मार्गों पर परिवहन जारी है। इसी के मद्देनजर पेट्रोल पंप  एवम ढाबा खोलने की अनुमति दी गई है।

न लक्षण मिले ना ही रिपोर्ट आई, उसके बाद भी भेज दिया मौत के सौदागर हॉस्पिटल में

उज्जैन में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर एक निजी हॉस्पिटल की एक और चुक सामने आई है। एक मरीज में ना कोरोनावायरस के लक्षण मिले और ना ही उसके कोरोना वायरस की पॉजिटिव रिपोर्ट आई। हॉस्पिटल में मरीज को आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज भेज दिया परेशान मरीज अब आरडी गार्डी हॉस्पिटल से बाहर निकलवाने की मांग कर रहा है।
2 दिन पहले संभागीय क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव सुरेंद्र काबरा उर्फ हीरो कप्तान के सीने में दर्द और घबराहट के चलते इंदु रोड स्थित सीएचएल हॉस्पिटल चले गए थे यहां डाक्टरों ने उन्हें देखा और फिर उज्जैन आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया।
जबकि मेडिकल कॉलेज अपने आप में एक मौत का सौदागर के रूप में पहचान बना चुका है उसके बाद भी प्रशासन और सरकार ऐसे लोगों पर कार्रवाई क्यों नहीं कर रहे हैं?
आरडी गार्डी में भर्ती सुरेंद्र काबरा बता रहे हैं कि उन्हें कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे उनका सैंपल अवश्य लिया गया था लेकिन अभी उसकी रिपोर्ट नहीं आई बावजूद इसके उन्होंने संवेदनशील हॉस्पिटल ऑडी गाड़ी भेज दिया गया उन्होंने कांग्रेस नेता अरुण वर्मा को फोन करके कहा कि मुझे यहां से निकलवाए वर्मा के मुताबिक काबरा ने उन्हें बताया कि कोरोना जैसी कोई बीमारी नहीं है फिर भी यहां भेज दिया गया जबकि उन्हें कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद ही हॉस्पिटल में भर्ती किया जाना था वर्मा के अनुसार *मौत का सौदागर बना आरडी गार्डी हॉस्पिटल में पहले ही लोगों की मौत हो चुकी है ऐसे में यहां स्वास्थ्य व्यक्ति को रखा जाना उचित नहीं है उन्होंने प्रशासन से आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज से निकालकर माधव नगर हॉस्पिटल में शिफ्ट करने की मांग की है*

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘इंडोर प्लान’ से OBC वोटर्स को जोड़ेगी BJP, सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों में उतरेगी टीम

नयी दिल्ली 25 जनवरी 2022 । उत्तर प्रदेश की आबादी में करीब 45 फीसदी की …