मुख्य पृष्ठ >> सुंदर पिचाई पर धनवर्षा, जानें- 1 जनवरी से कितना मिलेगा वेतन

सुंदर पिचाई पर धनवर्षा, जानें- 1 जनवरी से कितना मिलेगा वेतन

नई दिल्ली 23 दिसंबर 2019 । भारतीय मूल के सुंदर पिचाई को नई जिम्मेदारी मिलते ही उनकी आर्थिक तरक्की भी हो गई है. गूगल सीईओ सुंदर पिचाई को गूगल की पैरेंटल कंपनी एल्फाबेट का भी सीईओ नियुक्त किया गया है. अब उनको इस नई जिम्मेदारी के लिए कंपनी की तरफ से बड़ा पैकेज देने का ऐलान किया गया है.

दरअसल, अल्फाबेट का सीईओ बनने पर सुंदर पिचाई को 24.2 करोड़ डॉलर (1720 करोड़ रुपये) का पैकेज मिला है. इसमें सालाना 20 लाख डॉलर (14.2 करोड़ रुपये) बेसिक सैलरी और 24 करोड़ डॉलर (1704 करोड़ रुपये) के शेयर शामिल हैं. पिचाई को यह नई सैलरी पैकेज 1 जनवरी से मिलेगा.

हालांकि, 24 करोड़ डॉलर में से 12 करोड़ डॉलर का स्टॉक अवॉर्ड तिमाही किश्तों में मिलेगा. बाकी सालाना परफॉर्मेंस बेस्ड होगा, यानी पिचाई सभी टारगेट पूरे करते हैं तो तीन साल में शेयर मिलेंगे. इस हिसाब से सुंदर पिचाई को हर महीने करीब 143 करोड़ रुपये का वेतन मिलेगा.

बता दें, पिचाई को गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट का भी सीईओ बनाने का ऐलान 4 दिसंबर को हुआ था. इससे पहले 2018 में पिचाई को कुल 19 लाख डॉलर (135 करोड़ रुपये) के वेतन-भत्ते मिले थे. इसमें 6.5 लाख डॉलर (4.6 करोड़ रुपये) बेसिक सैलरी थी.

इससे पहले सुंदर पिचाई (Sundar Pichai) ने पिछले साल स्टॉक अवॉर्ड लेने से इनकार कर दिया था, उन्होंने कहा था कि उनकी सैलरी ही काफी है. 1704 करोड़ रुपये का स्टॉक अवॉर्ड गूगल और अल्फाबेट के किसी अधिकारी को मिलने वाला अब तक का सबसे ज्यादा है.

नए पैकेजे के हिसाब से सुंदर पिचाई के वेतन में करीब 200 फीसदी का इजाफा हुआ है. यह सर्च इंजन गूगल में अब तक किसी भी सीईओ को दिया गया सबसे बड़ा पैकेज है. पिचाई को अगले तीन साल तक यह पैकेज मिलेगा, जब वह अपने सभी लक्ष्य को पूरा कर लेंगे.

सुंदर पिचाई को पिछले महीने ही अल्फाबेट के सीईओ के लिए चुना गया था, जब गूगल के को-फाउंडर्स लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन ने अपने पद छोड़ दिए थे. दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में शुमार गूगल और उसकी पैरेंट कंपनी की कमान अब एक भारतीय मूल का नागरिक के हाथ में है, जो एक बड़ी उपलब्धि है.

मस्क सबसे ऊपर
सबसे अधिक वेतन-भत्ते पाने में टेस्ला के सीईओ एलन मस्क का रिकॉर्ड है, उन्हें साल 2018 में 3591 करोड़ रुपये का पैकेज मिला था. जिसके बाद मास्क को फोर्ब्स की लिस्ट में दुनिया के 53वें सबसे अमीर व्यक्ति के तौर पर सूचीबद्ध किया गया था.

सुंदर पिचाई लंबे समय से बतौर गूगल में बतौर कर्मचारी काम किया. गूगल के पॉपुलर ब्राउजर क्रोम और गूगल एंड्रायड टीम के लीडर के तौर पर काम किया है. सुंदर पिचाई ने गूगल के कुछ और लोकप्रिय उत्पाद जीमेल, और एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम पर भी काम किया है. वह 2015 से गूगल के सीईओ पर काबिज हैं. गूगल की शुरुआत 1997 में हुई थी, जिसके बाद से इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी की दुनिया में बदलाव हो गया.

सुंदर पिचाई का जन्म 10 जून 1972 को तमिलनाडु के मदुरै में हुआ था. इनकी शुरुआती पढ़ाई चेन्नई से हुई थी. इसके बाद पिचाई ने IIT खड़गपुर से इंजीनियरिंग की थी. आगे की पढ़ाई करने के लिए पिचाई स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी और फिर पेन्सिल्वेनिया यूनिवर्सिटी चले गए थे. बाद में 2004 में पिचाई ने गूगल कंपनी ज्वाइन किया था.

गूगल के सीईओ बनने से पहले सुंदर पिचाई को माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ पद का ऑफर मिला था. इसके अलावा याहू और ट्विटर से भी ऑफिर मिले थे. उस समय सुंदर पिचाई ने गूगल छोड़ने का पूरा मन बना लिया था. लेकिन उनकी पत्नी अंजलि ने उन्हें गूगल न छोड़ने की सलाह दी. सुंदर ने अंजलि की बात मानकर गूगल में ही रहने का मन बना लिया.

दुनिया के इतने सफल और अमीर व्यक्ति होने के बावजूद सुंदर पिचाई का रहन-सहन बहुत साधारण है. दुनिया के इतने सफल और अमीर व्यक्ति होने के बावजूद सुंदर पिचाई का रहन-सहन बहुत साधारण है

 

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

जमीन विवाद में नया खुलासा, ट्रस्ट ने उसी दिन 8 करोड़ में की थी एक और डील

नई दिल्ली 17 जून 2021 । अयोध्या में श्री राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीदी …