मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> सिंधिया को राज्यसभा भेजने की अटकलों के बीच दिग्विजय सिंह हो सकते हैं रिपीट

सिंधिया को राज्यसभा भेजने की अटकलों के बीच दिग्विजय सिंह हो सकते हैं रिपीट

भोपाल 25 दिसंबर 2019 । पार्टी से नाराज चल रहे कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की नाराजगी जल्द दूर हो सकती है। प्रदेश के राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि सिंधिया को राज्यसभा भेजा जाएगा और उन्हें सदन में बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है।

अप्रैल में राज्यसभा से दिग्विजय सिंह, सत्यनारायण जटिया और प्रभात झा का कार्यकाल पूरा हो रहा है। प्रदेश में बदले सत्ता समीकरणों और कांग्रेस और उसका समर्थन करने वाले विधायकों की संख्या को देखते हुए दो सीटे कांग्रेस के खाते में जाएंगी और एक भाजपा के। ऐसे में कहा जा रहा है कि एक सीट पर कांग्रेस से ज्योतिरादित्य सिंधिया और दूसरे रिक्त होने वाले स्थान पर दिग्विजय सिंह को रिपीट किया जा सकता है।

ट्विटर पर लिखा था समाजसेवी और क्रिकेट प्रेमी

नवबंर में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्विटर हैंडल पर अपना बायो बदल लिया था। उन्होंने सांसद और केंद्रीय मंत्री जैसे पूर्व पदों का जिक्र हटाकर खुद को समाजसेवी और क्रिकेट प्रेमी बताया है। इस बदलाव के कई मायने निकाले जाने लगे थे। सिंधिया ने सफाई देते हुए कहा था कि ऐसा उन्होंने डिटेल को शॉर्ट करने के लिए किया है और वह एक महीने पहले ही ऐसा कर चुके थे।

बताया जा रहा है कि सिंधिया मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद से ही नाराज चल रहे हैं। प्रदेश में सिंधिया को सामने रखकर चुनाव लड़ा गया था। प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को बनाया गया। चुनाव में जैसे ही कांग्रेस को बहुमत मिला। कांग्रेस आलाकमान ने कमलनाथ को मुख्यमंत्री बना दिया। कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद सिंधिया प्रदेश की राजनीति से दूर हो गए थे।

सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग उठी थी
सिंधिया को मध्य प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने की मांग उनके समर्थक मंत्री समय-समय पर करते रहे हैं। सिंधिया के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनने की अटकलें अगस्त-सिंतबर में भी लगी थीं। वे कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिले। इस बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी सोनिया से मुलाकात की। इसके बाद सिंधिया को अध्यक्ष बनाने का फैसला फिर टाल दिया गया।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘इंडोर प्लान’ से OBC वोटर्स को जोड़ेगी BJP, सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों में उतरेगी टीम

नयी दिल्ली 25 जनवरी 2022 । उत्तर प्रदेश की आबादी में करीब 45 फीसदी की …