मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> पत्नी आयुषी के बुरे बर्ताव के कारण तनाव में थे भय्यू जी महाराज

पत्नी आयुषी के बुरे बर्ताव के कारण तनाव में थे भय्यू जी महाराज

इंदौर 1 जुलाई 2018 । महान संत भय्यू महाराज सुसाइड केस के मामले में एक नया मोड़ आ गया है। डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र के पास गुरुवार को एक बेनामी पत्र पहुंचा, जिसमें भय्यू महाराज की मौत का सच उजागर किए जाने की बात सामने आ रही है। पत्र में उल्लेख किया गया है कि वह अपनी दूसरी पत्नी आयुषी के बुरे बर्ताव के कारण तनाव में रहते थे। डीआईजी ने पत्र की सच्चाई जांचने का आदेश दिया है।
दरअसल, डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र के पास गुरुवार को भय्यू महाराज के एक सेवादार द्वारा लिखा एक पत्र पहुंचा, जिसमें भय्यू महाराज के बारे में लिखा है कि वे पिछले दो साल से मानसिक तनाव में थे। 15 पन्नों के इस गुप्त पत्र में आश्रम और परिवार की गोपनीय बातों का उल्लेख है। जिसमें लिखा था कि वह भय्यू महाराज का विश्वसनीय सेवादार है लेकिन मौत के भय से नाम उजागर करना मुमकिन नहीं है। वह महाराज की मौत का राज जानता है और जिम्मेदार को सजा भी दिलवाना चाहता है।
मीडिया खबरों के मुताबिक इस पत्र में गुप्त सेवादार ने भय्यू महाराज की पत्नी डॉक्टर आयुषी पर कई आरोप लगाए हैं। पत्र के अनुसार डॉ. आयुषी से शादी के बाद से ही भय्यू महाराज खुद को अकेला महसूस करने लगे थे। उनकी दूसरी पत्नी ने निगरानी करना शुरू कर दिया था। वह आश्रम और घरों में होने वाली बैठकों की जानकारी लेने लगी थी। महाराज से जुड़े हर व्यक्ति और उनके पास आने वालों का हिसाब सेवादार और नौकरों से रखने लगी थी।
पत्र में कहा गया है कि भय्यू महाराज के जीवन में उसी दिन से कलह ने घर बना लिया था, जिस दिन डॉ. आयुषी ने विवाह किया था। दूसरी पत्नी ने पहले उन्हें घर वालों से दूर करना शुरू किया। फिर आश्रम में भाई और चाचा की एंट्री करवा दी। कुहू से दूरी बनाने का दबाव बनाना शुरू कर दिया। प्रॉपर्टी और कैश पर भी नजरें गड़ा ली।

पत्नी आयुषी देती थी भय्यू महाराज को थाने में घसीटने की धमकी

भय्यू महाराज आत्महत्या केस में भले ही पुलिस ने किसी को जिम्मेदार नहीं माना लेकिन दोस्त और गुप्त सेवादार डॉ. आयुषी पर ही प्रताड़ना का आरोप लगा रहे हैं। एक दोस्त ने तो अफसरों को बताया कि महाराज डॉ. आयुषी का जिक्र कर फूटफूट कर रोए थे। उसके सामने भी गोली मारकर जान देने का बोला था।

भय्यू महाराज के दोस्त ने पिछले दिनों डीआईजी से मिलकर कहा कि डॉ. आयुषी से दूसरी शादी करने के बाद महाराज परेशानी में घिर गए थे। तनाव इतना हुआ कि कई बीमारियों ने घेर लिया। कुछ समय पहले वे भंडारी अस्पताल में भर्ती थे। वह उनसे मिलने गया तो डॉ. आयुषी भी वहीं थी।

इस दौरान भय्यू महाराज शांत रहे लेकिन जैसे ही डॉ. आयुषी किसी काम से पार्किंग तक गई, महाराज फूटफूट कर रोने लगे। उन्होंने कहा कि वे दूसरी शादी कर पछता रहे हैं। पत्नी अकसर विवाद करती है। महिला थाने में घसीटने की धमकी देती है। अब और अपमान सहन नहीं कर सकता। किसी दिन खुद को शूट कर लूंगा। कुछ दिन बाद वह महाराज के घर गया और डॉ. आयुषी को समझाने की कोशिश की। उसने कहा कि ऐसे हालातों में महाराज आत्महत्या जैसा कदम भी उठा सकते हैं। आपको उनकी चिंता करना चाहिए।

गुप्त सेवादर के पत्र में लिखी है घर की हकीकत –

जांच में शामिल अफसर के मुताबिक डीआईजी को मिले गोपनीय पत्र में कई बातें सच हैं। जो बातें सेवादार और परिजन के बयानों में सामने आई, उन बातों का भी पत्र में दिन और समय के साथ उल्लेख किया गया है। पत्र में लगाए गए आरोपों की गोपनीय जांच शुरू करवा दी गई है।

विवाद को षड्यंत्र पूर्वक फैलाया –

डॉ. आयुषी की मां रानी शर्मा ने पुलिस जांच पर सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि डॉ. आयुषी और कुहू के बीच चल रहे विवाद को षड्यंत्र पूर्वक फैलाया गया है। आत्महत्या की असल वजह कुछ और है। पुलिस को कॉल डिटेल की छानबीन करना चाहिए। पारिवारिक तनाव की आड़ में कुछ लोग आश्रम और परिवार का बुरा चाहते हैं। उन्होंने भय्यू महाराज की बहन रेणु और मधुवती से भी उन लोगों की निगरानी के लिए कहा है, जो परिवार की बातें बाहर फैला रहे है।

कुहू को पुणे भेजा –

सूर्योदय आश्रम में धीरे-धीरे सब सामान्य होने लगा। गुरुवार को कुहू भी पुणे चली गई। इस दौरान उसके स्कूल के साथी और आश्रम के सदस्य मौजूद थे। जाते वक्त भी वह बाबा (भय्यू महाराज) और मां (माधवी) की तस्वीरें देख कर रोने लगी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फ्रांस से भारत आएंगे 4 और राफेल लड़ाकू विमान, 101 स्क्वाड्रन को फिर से जिंदा करने के लिए IAF तैयार

नई दिल्ली 15 मई 2021 । राफेल लड़ाकू विमान का एक और जत्था 19-20 मई …