मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> PM के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन के आरोपों पर 6 मई तक फैसला करे चुनाव आयोग: SC

PM के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन के आरोपों पर 6 मई तक फैसला करे चुनाव आयोग: SC

नई दिल्ली 3 मई 2019 । सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को यह आदेश दिया है कि वो कांग्रेस द्वारा पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर लगाए गए आचार संहिता उल्लंघन के आरोपों पर 6 मई से पहले फैसला करे.

बता दें सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन के मामले में चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया था. इस मामले की अगली सुनवाई 2 मई यानी गुरुवार को होनी थी. कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव ने एक याचिका दायर कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह के खिलाफ आचार संहिता उल्‍लंघन का आरोप लगाया था.

बता दें कि असम के सिलचर से कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव ने याचिका में कहा है कि चुनाव आयोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह के खिलाफ दर्ज शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई थी कि आयोग को दोनों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया जाए.

याचिका में सुष्मिता देव ने पीएम मोदी और अमित शाह पर चुनावी भाषणों में सेना के नाम पर मतदाताओं से अपील कर आचार संहिता का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है. साथ ही कहा है कि चुनाव आयोग उनकी शिकायतों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है. उन्होंने चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की पीठ से गुहार लगाई कि चुनाव आयोग को दोनों के खिलाफ की गई शिकायतों पर 24 घंटे के भीतर कार्रवाई करने का आदेश दिया जाए. इस पर पीठ ने कहा था कि मामले की अगली सुनवाई 30 अप्रैल को की जाएगी. अब इसी मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 2 मई को सुनवाई कर चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया है.

कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि पीएम मोदी ने मतदान के दिन 23 अप्रैल को गुजरात में रैली और रोड शो किया. यह आचार संहिता का सीधा उल्लंघन है. चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की गई थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. इससे पहले 9 अप्रैल को भी पीएम ने एक जनसभा में पुलवामा हमले में शहीद सीआरपीएफ जवानों के नाम पर वोट मांगे. यही नहीं, पीएम मोदी और अमित शाह नफरत भरे भाषण भी दे रहे हैं.

बता दें चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लातूर में दिए बयान पर बुधवार को क्लीन चिट दे दी है. चुनाव आयोग ने स्पष्ट किया कि प्रधानमंत्री मोदी का बयान चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन नहीं करता है.

प्रधानमंत्री मोदी ने 9 अप्रैल को लातूर में एक रैली को संबंधित करते हुए कहा था कि मैं पहली बार मतदान करने वालों से कहना चाहता हूं, क्या आपका पहला वोट वीर जवानों को समर्पित हो सकता है, जिन्होंने पाकिस्तान में हवाई हमले किए.

ट्विटर पर राहुल से पिछड़े PM मोदी, ढाई गुना ज्यादा है ट्वीट की पॉपुलैरिटी

डिजिटल के इस नए दौर में राजनीतिक लड़ाई सिर्फ भाषणों और रैलियों से नहीं जीती जाती है, बल्कि एक जंग सोशल मीडिया पर भी जारी रहती है. लोकसभा चुनाव के बीच एक आंकड़ा ऐसा सामने आया है जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पछाड़ दिया है. माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर किए गए ट्वीट्स की लोकप्रियता में राहुल गांधी पीएम मोदी से ढाई गुना आगे हैं.

लोकसभा चुनाव के प्रचार के बीच इंडिया टुडे की डेटा इंटेलिजेंस यूनिट (DIU) ने लोकसभा सांसदों और देश के मंत्रियों के ट्विटर का रिकॉर्ड्स खंगाला. 1 अक्टूबर, 2018 से लेकर 30 अप्रैल, 2019 तक के ट्वीट्स का एक आंकलन किया गया .

ट्वीट की लोकप्रियता में आगे कौन?

ट्विटर पर देश के सबसे लोकप्रिय नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, लेकिन ट्वीट के मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उनसे काफी आगे हैं. दरअसल, राहुल गांधी का ट्वीट औसतन 7661 बार रिट्वीट किया जाता है, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्वीट औसतन 2984 बार रिट्वीट किया जाता है.

सबसे ज्यादा रिट्वीट के मामले में राहुल और मोदी के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली का नंबर आता है. और उनके बाद पीयूष गोयल, राजनाथ सिंह के ट्वीट पर सर्वाधिक रिट्वीट मिलते हैं.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …