मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> चुनाव आयोग ने की जनता से बदलाव करने की अपील

चुनाव आयोग ने की जनता से बदलाव करने की अपील

भोपाल 22 सितम्बर 2018 । मध्यप्रदेश में चुनाव आयोग की एक कैंपेन से राजनीति में उफान आ गया है। बीजेपी ने चुनाव आयोग के इस अभियान की जमकर आलोचना की है। कहा है कि इससे जनता में बीजेपी सरकार के खिलाफ संदेश जा रहा है।

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले चुनाव आयोग ने सोशल मीडिया पर एक जागरूकता अभियान चलाया। जिसमें लिखा है- बदलाव के लिए वोट करें। बस फिर क्या था, प्रदेश में भाजपा सरकार होने पर चलाए ऐसे अभियान पर बीजेपी के दिग्गज नेताओं ने आपत्ति की है। इसके अलावा तीन संदेश और थे जो सोशल मीडिया पर प्रसारित किए गए। इनमें से एक समानता के लिए वोट करें, दूसरा बेहतर भविष्य के लिए वोट करें। चार संदेशों में से तीन संदेशों पर भाजपा ने कड़ी आपत्ति जताई है।

चुनाव आयोग की इस कैंपेन पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल का कहना है कि चुनाव आयोग का काम ज्यादा से ज्यादा वोटिंग प्रतिशत कैसे बढ़े इसके लिए जागरूकता अभियान चलाना, लेकिन हाल ही में सोशल मीडिया पर चुनाव आयोग के इस अभियान से जनता में गलत संदेश जा रहा है।

आपत्ति दर्ज कराई
भाजपा प्रवक्ता अग्रवाल ने कहा कि इस मामले को लेकर आयोग में बीजेपी की तरफ से आपत्ति दर्ज करा दी गई है।

twitter से उठा बवाल
बताया जा रहा है कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने हाल ही में अपने ट्विटर एकाउंट का एक फोटो अपडेट किया है। इस पर चार संदेश लिखे गए हैं।

बेहतर भविष्य के लिए वोट करें
समानता के लिए वोट करें
बदलाव के लिए वोट करें
मध्यप्रदेश के लिए वोट करें

अंतिम संदेश पर कोई आपत्ति नहीं
बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि हमें चुनाव आयोग के अंतिम संदेश पर कोई आपत्ति नहीं है। क्योंकि इससे गलत मैसेज जनता में नहीं जा रहा है।

आयोग के संदेश से झलकता है भेदभाव
भाजपा के प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय संविधान में सभी को समानता का हक दिया है। आयोग के वोट फॉर इक्वलिटी वाले संदेश का असर जनता में ऐसा पड़ रहा है जैसे भेदभाव या असमानता का माहौल बन रहा है। प्रवक्ता के मुताबिक जबकि देश में अब तक एस्ट्रोसिटी एक्ट को लेकर भारी विरोध हो रहा है, ऐसे में जनता में इसका गलत असर पड़ रहा है।

एक समाजसेवी अजय दुबे ने भी मीडिया को दिए इंटरव्यू में कहा कि आयोग को चुनाव प्रक्रिया में पारदर्शी और निष्पक्ष बनाने के लिए संदेश प्रसारित करना चाहिए। बेहतर भविष्य के लिए वोट करने जैसे जागरूकता संदेश प्रसारित करना चाहिए।

स्पष्ट करें निर्वाचन अधिकारी
-मुख्य निर्वाचन अधिकारी को स्पष्ट करना चाहिए के वे क्या बदलाव चाहते हैं।
-मुख्य निर्वाचन अधिकारी का ट्वीटर हैंडल हाल ही में शुरू हुआ है।
-ट्वीटर हैंडल शुरू करने का उद्देश्य यह बताया गया है कि सोशल मीडिया के जरिए सबके सामने मध्यप्रदेश के चुनाव से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियां सबके सामने लाना है। जिसके बाद लोगों में ज्यादा से ज्यादा वोट करने के लिए जागरूकता आ सके।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

ये तो छोड़कर चले गए थे…अशोक गहलोत ने सचिन पायलट गुट के विधायकों पर कसा तंज

नयी दिल्ली 4 दिसंबर 2021 । अशोक गहलोत और सचिन पायलट राजस्थान कांग्रेस में सबकुछ अच्छा …