मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> जनपद पंचायत सीईओ को EOW ने रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

जनपद पंचायत सीईओ को EOW ने रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

उज्जैन 6 जनवरी 2022 । उज्जैन से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित तराना में ईओडब्ल्यू की टीम ने जनपद पंचायत में दबिश मारी। ईओडब्ल्यू (EOW) की टीम ने यहां से जनपद पंचायत सीईओ कोमल राज पिता हरि शंकर राज 51 साल को गिरफ्तार किया। ईओडब्ल्यू (EOW) डीएसपी संजीव पाठक के अनुसार सीईओ द्वारा ग्राम पंचायत बेलरी के सरपंच रामचंद्र धाकड़ से 25 हजार की रिश्वत मांगी गई थी। सरपंच ने जिसकी शिकायत की और ईओडब्ल्यू (EOW) एसपी दिलीप सोनी से की थी। जिसके बाद उक्त कार्रवाई की गई। बताया जा रहा है कि ग्राम पंचायत बेलरी के सरपंच द्वारा गांव में सीसी रोड निर्माण श्मशान घाट की टंकी तथा स्वच्छता परिसर के लिए राशि की मांग की थी। ऑफिस में ही पकड़ा गए सीईओ
योजना के अनुसार ईओडब्ल्यू (EOW) की टीम ने सरपंच को 20 हजार देकर तराना जनपद पंचायत भेजा था। सरपंच रुपए लेकर जनपद पंचायत सीईओ के कक्ष में पहुंचा और कुछ देर चर्चा के बाद 20 हजार दे दिए। उक्त रिश्वत के रुपए को सीईओ ने अपनी पेंट की जेब में रख लिए थे। इशारा मिलते ही ईओडब्ल्यू की टीम तत्काल सीईओ के ऑफिस में घुसी और उन्हें रंगे हाथों दबोच लिया। जनपद पंचायत में मचा हड़कंप
सरपंच की शिकायत के बाद ईओडब्ल्यू (EOW) डीएसपी संजय पाठक, निरीक्षक अजय सनकत, पीके व्यास एसआई अशोक राव आदि की टीम ने बुधवार दोपहर में जब जनपद पंचायत में छापा मारा तो वहां हड़कंप मच गया। ईओडब्ल्यू की टीम ने जनपद सीईओ के पेंट की जेब से रिश्वत के रुपए जप्त किए हैं। सीईओ के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम की धारा के तहत केस दर्ज किया गया है। एडवांस में लिए 5 हजार
सरपंच रामचंद्र धाकड़ ने बताया कि पंचायत में आने वाले ग्राम बारोदा धाकड़ और ग्राम बेलरी 2 लाख रुपए के सीसी रोड, 2 लाख 88 हजार की स्वच्छता परिसर में शौचालय और ठेल टंकी का निमार्ण की फाईल को स्वीकृति के लिए सीईओ के पास भेजा गया था। मंगलवार को सीईओ से मुलाकात हुई थी। इसके लिए उन्होने 25 हजार रुपए की मांग कीथी। उन्होने इसके लिए 5 हजार रुपए एडवांस में पहले ही ले लिए थे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …