मुख्य पृष्ठ >> कभी जिसका पिता था कांग्रेस का दिग्गज नेता अब उसका बेटा कर सकता है मोदी सरकार के लिए ये काम

कभी जिसका पिता था कांग्रेस का दिग्गज नेता अब उसका बेटा कर सकता है मोदी सरकार के लिए ये काम

नई दिल्ली 26 जून 2019 । केंद्र की मोदी सरकार इन दिनों जाने-माने फिल्म अभिनेता संजय दत्त को एंटी-ड्रग ड्राइव का ब्रांड अम्बेसडर बनाने पर विचार कर रही है। वही संजय दत्त जिनके पिता सुनील दत्त एक समय कांग्रेस के कद्दावर नेता रह चुके हैं। केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जिस प्रकार संजय दत्त ने अलग-अलग मौके पर ड्रग अब्यूज से जुड़े अपने अनुभव साझा किये हैं। वैसे में हमें लगता है कि वे युवाओं को नशीले पदार्थों से दूर रहने के अच्छी तरह से प्रोत्साहित कर सकते हैं। खबरों की मानें तो केंद्र सरकार की तरफ से आगामी 26 जून को इसकी आधिकारिक घोषणा कर दी जाएगी।

दरअसल नशीले पदार्थों को लेकर लोगों को जागरूक करने, उनकी काउंसलिंग करने और उनके इलाज के लिए एक एंटी ड्रग पॉलिसीस एंड प्रोग्राम की शुरुआत की गई है। जिसका मकसद 2018-2025 के दौरान तेजी से बढ़ रहे ड्रग अडिक्शन से जुड़े मामलों पर महज अंकुश लगाना ही नहीं बल्कि नशे के चंगुल में फंसे युवाओं को इससे बाहर आने में मदद करना भी शामिल है।

सरकार की यह योजना शुरुआती तौर पर देश के करीब 127 जिलों में लागू की जाएगी। बता दें कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय की ओर से हाल ही में पूरे देश में नशे में लिप्त लोगों को लेकर एक रिपोर्ट जारी की गई थी। इस रिपोर्ट के मुताबिक देश के कुल 28 करोड़ से ज्यादा लोगों को नशे में किसी न किसी रूप में लिप्त पाया गया था। आपको बता दें कि बीते फरवरी माह में संजय दत्त का एक वीडियो सामने आया था जिसमें वे कहते नज़र आ रहे थे कि जब भी कोई दोस्त ड्रग्स के लिए बोलता हो तो उसकी मत सुनो।

कथित वीडियो में संजय दत्त अध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर के साथ नशा मुक्ति अभियान से जुड़ने की अपील करते नज़र आ रहे थे। जैसा कि आप सभी को पता है कि एक समय संजय दत्त खुद ड्रग्स के चंगुल में बुरी तरह से फंसे हुए थे और आपको ये भी पता होगा कि वो ड्रग्स के चंगुल से कैसे बचे हैं। बता दें कि संजय को ड्रग्स के चंगुल से छुड़ाने में बड़ा हाथ उनके पिता सुनील दत्त का था और इस बात का सारा श्रेय आज भी संजय दत्त अपने पिता सुनील दत्त को देते हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

जमीन विवाद में नया खुलासा, ट्रस्ट ने उसी दिन 8 करोड़ में की थी एक और डील

नई दिल्ली 17 जून 2021 । अयोध्या में श्री राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीदी …