मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> Facebook के नए फैसले से WhatsApp की सुरक्षा पर खतरा

Facebook के नए फैसले से WhatsApp की सुरक्षा पर खतरा

नई दिल्ली 28 जनवरी 2019 । WhatsApp के एंड-टु-एंड इनक्रिप्शन की वजह से यूजर्स निश्चिंत रहते हैं कि उनका वॉट्सऐप डेटा पूरी तरह सिक्यॉर है। यानी वॉट्सऐप पर भेजी गईं तस्वीरें, विडियोज और मेसेज सिर्फ सेंडर और रिसीवर के बीच तक ही सीमित हैं, कोई तीसरा जैसे टेलिकॉम कंपनी, सरकार, साइबर क्रिमिनल्स और हैकर्स इसे नहीं देख सकते। लेकिन अगर इसी सुरक्षा में सेंध लग जाए तो?

जी हां,  द वायर्ड की एक रिपोर्ट आई है, जिसमें फेसबुक के उस फैसले को एक बड़ी चुनौती करार दिया गया है, जिसमें कंपनी ने 3 प्रमुख चैट सर्विसेज- मेसेंजर, वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम को इंटिग्रेट करने की बात कही है। द वायर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक, एंड-टु-एंड इनक्रिप्शन को हर जगह सुरक्षित रख पाना फेसबुक के लिए एक चुनौती है।

फिलहाल वॉट्सऐप चैट एंड-टु-एंड इनक्रिप्टेड है। वहीं, फेसबुक मेसेंजर में भी सीक्रेट कॉन्वरसेशन नाम का कुछ ऐसा ही फीचर है जिसे यूजर टर्न ऑन कर सकते हैं। लेकिन इंस्टाग्राम में चैट को सिक्यॉर करने के लिए एंड-टु-एंड इनक्रिप्शन जैसा कुछ भी नहीं है।

जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के क्रिप्टोग्राफर मेथ्यू ग्रीन ने भी इसे चुनौतीपूर्ण बताते हुए कहा, ‘दिक्कत वाली बात यह है कि केवल वॉट्सऐप में एंड-टु-एंड इनक्रिप्शन पहले से ही है। ऐसे में अगर फेसबुक का मकसद क्रॉस ऐप ट्रैफिक को अनुमति देना है, जिसके लिए इनक्रिप्टेड होना जरूरी तक नहीं, तो सोचिए क्या होगा।’

गौरतलब है कि फेसबुक ने हाल ही में 3 प्रमुख चैट सर्विसेज- मेसेंजर, वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम को इंटिग्रेट करने की बात कही है। उदाहरण के तौर पर अगर आप के पास वॉट्सऐप इंस्टाल्ड है मगर आप इंस्टाग्राम या मेसेंजर का इस्तेमाल नहीं करते हैं इसके बावजूद आप अपने वॉट्सऐप से मेसेंजर या इंस्टाग्राम पर चैट कर सकेंगे।

याद दिला दें कि पिछले साल वॉट्सऐप के को-फाउंडर जेन कूम ने भी डेटा प्रिवेसी और इनक्रिप्शन को लेकर मार्क जकरबर्ग से हुए मतभेदों के चलते खुद को कंपनी से अलग कर लिया था, क्योंकि कूम हर हाल में वॉट्सऐप यूजर्स की प्रिवेसी चाहते थे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पंजाब कांग्रेस का सस्पेंस बरकरार, नाराज सुनील जाखड़ को अपनी फ्लाइट में दिल्ली लाए राहुल-प्रियंका गांधी

नई दिल्ली 23 सितम्बर 2021 । चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाने के बावजूद पंजाब …