मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> डीजल चोरी के आरोप में बर्खास्त कर्मचारी के झूठे तर्क

डीजल चोरी के आरोप में बर्खास्त कर्मचारी के झूठे तर्क

उज्जैन 18 नवंबर 2021 । नगर निगम के ट्रेक्टरसे डीजल चोरी करने के मामले में निगमायुक्त द्वारा बर्खास्त किये गये कर्मचारी गौरव बाली द्वारा जो तथ्य प्रेसवार्ता में दिये गये वह सभी झूठे नजर आ रहे है, क्योंकि कर्मचारी द्वारा वाहन प्रभारी को जानकारी देने की जो बात कहीं गई है, उसे वाहन प्रभारी ने ही नकार दिया है, वहीं अगर ट्रेक्टर का डीजल टैंक लीकेज हुआ था तो इसकी जानकारी वर्कशॉप में क्यों नही दी गई। बुधवार को प्रेसवार्ता में गौरव बाली ने बताया कि डीजल चोरी के झूठे मामले में उसे फंसाया जा रहा है, उसके ट्रेक्टर का डीजल टैंक लीकेज हो गया था, इसलिए एमसीएल लगाने के लिए उसने डीजल निकाला था। प्रेसवार्ता में गौरव बाली द्वारा वाहन प्रभारी उमेश बैस को जानकारी दिये जाने का उल्लेख किया गया है, लेकिन जब उमेश बैस से चर्चा की गई तो उन्हेंने स्पष्ट किया कि मेरी गौरव बाली से इस संबंध में कोई बात नही हुई थी, ना ही डीजल टैंक लीकेज होने की जानकारी मुझे दी गई, अगर ऐसा होता तो ट्रेक्टर को सीधा वर्कशॉप बुलवाया जाता। उल्लेखनीय है कि विगत दिनों बहादुरगंज स्थित आर्य समाज मार्ग के समीप सुलभ शौचालय में पानी भरने गये टैंकर चालक ने ट्रेक्टरसे डीजल चोरी किया था, जिसका वीडियों सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। जिसमें चालक गौरव बाली ने पाईप के जरिये एक खाली कैन में डीजल भर लिया और उसे समीप स्थित निगम द्वारा निर्मित दुकान में जाकर छुपा दिया था। आयुक्त ने लिया था एक्शन
जैसे ही डीजल चोरी की इस वारदात का पता नगर निगम आयुक्त अंशुल गुप्ता को लगा तो उन्होंने तत्काल इस मामले में संज्ञान लेते हुए वर्कशॉप प्रभारी विजय गोयल सहित अन्य अधिकारियों को निर्देश दिये कि मामले की जांच की जाये और दोषी वाहन चालक पर कार्यवाही की तैयारी की जाये।जिस पर मौके पर पहुंची टीम ने दुकान से 25 लीटर डीजल सहित खाली केन व नली भी बरामद की थी। इसके बाद वाहन चालक को बर्खास्त कर उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई थी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …