मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> फर्स्ट आए सुधीर गुप्ता, सैकेंड रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया

फर्स्ट आए सुधीर गुप्ता, सैकेंड रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपाल 15 मार्च 2019 । मध्यप्रदेश के सांसद सदन में सवाल उठाने के मामले में आगे रहे हैं.जनता से जुड़े मामले उठाने में बुंदेलखंड के तीन सांसद टॉप 10की लिस्ट में शामिल हैं.भाजपा के सुधीर गुप्ता सवाल पूछने में टॉपर रहे औऱ उनके पीछे ज्योतिरादित्य सिंधिया थे.

मध्यप्रदेश के सांसद जनसरोकार से जुड़े मामले संसद में उठाने में अव्वल रहे.सवालों को लेकर जारी सदन की रिपोर्ट में मध्यप्रदेश के तीन सांसद टॉप 10 में रहे, मंदसौर के भाजपा सांसद सुधीर गुप्ता ने सबसे ज्यादा सवाल उठाए. उन्होंने कुल 699सवाल पूछे. कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया दूसरे नंबर पर रहे. उन्होनें 648 सवाल पूछे. वहीं भाजपा सांसद नंदकुमार सिंह चौहान सदन में उपस्थिति के मामले में भी पीछे रहे और सवाल पूछने के मामले में भी सबसे नीचे पायदान पर खड़े हैं. सांसदों का रिपोर्ट कार्ड-

सुधीर गुप्ता,भाजपा, मंदसौर -699

ज्योतिरादित्य सिंधिया गुना,कांग्रेस -648

वीरेंद्र कुमार टीकमगढ़,भाजपा- 351

रोडमल नागर राजगढ़,भाजपा – 333

प्रहलादसिंह पटेल दमोह,भाजपा- 332

गणेशसिंह सतना,भाजपा – 301

आलोक संजर भोपाल,भाजपा – 298

लक्ष्मीनारायण यादव सागर,भाजपा – 237

रिति पाठक सीधी,भाजपा – 216

अनूप मिश्रा मुरैना,भाजपा – 208

ज्योति धुर्वे बैतूल,भाजपा – 196

राकेशसिंह जबलपुर,भाजपा- 194

कमलनाथ छिंदवाड़ा -कांग्रेस- 192

उदयप्रतापसिंह होशंगाबाद,भाजपा – 163

चिंतामण मालवीय उज्जैन,भाजपा – 135

सुभाष पटेल खरगोन बड़वानी,भाजपा – 88

नंदकुमारसिंह चौहान खंडवा,भाजपा – 0

सदन में पहुंचने में भी नंदकुमार सिंह चौहान सबसे पीछे रहे

कांग्रेस ने जारी की प्रत्याशियों की दूसरी सूची, इन दिग्गज नेताओं को दिया टिकट

लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने प्रत्याशियों की दूसरी सूची जारी की है । कांग्रेस की दूसरी सूची में यूपी की 16 सीटों पर उम्मीदवारों का नाम घोषित किया है । कांग्रेस ने मिर्जापुर से ललितेश पति त्रिपाठी को उम्मीदवार बनाया है तो वहीं प्रतापगढ़ से राजकुमारी रत्ना सिंह को टिकट दिया है।

इन सीटों पर कांग्रेस ने घोषित किया उम्मीदवार

नगीना से ओमवती देवी

मुरादाबाद से राज बब्बर

खीरी से जफर अली नकवी

सीतापुर से कैसर जहां

मिश्रिख से मंजरी राही

मोहनलालगंज रामाशंकर

सुल्तानपुर से संजय सिंह

प्रतापगढ़ से रत्ना सिंह

कानपुर से श्री प्रकाश जयसवाल

फतेहपुर से राकेश सचान

बहराइच से सावित्री फुले

संत कबीर नगर से परवेज खान

बांसगांव से कुश सौरभ

लालगंज से पंकज मोहन सोनकर

मिर्जापुर से ललितेश पति त्रिपाठी

राबर्ट्सगंज से भगवती प्रसाद चौधरी

कांग्रेस ने सात मार्च को प्रत्याशियों की पहली सूची जारी की थी, जिसमें 11 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान किया था ।

कमलनाथ सरकार के दो मंत्री नहीं हैं पद पर रहने लायक
सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने आजतक से एक्सक्लूसिव बातचीत में कमलनाथ सरकार पर हमला करते हुए कहा कि यह अजब सरकार के गजब मंत्री है. इन्हें नहीं समझ आता कि ये क्या बोल रहें हैं. इन्हें होश नहीं है, पहले ही प्रशासनिक अराजकता और कानून व्यवस्था ध्वस्त है. जहां चारों तरफ अफरा-तफरी मची है, वहीं लगता है की ये खुद सामाजिक अराजकता भी फैलाना चाहते हैं.

बता दें, शिवराज सिंह चौहान ने अपने कार्यकाल में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की शुरुआत की थी. इसी योजना पर जब मंत्री का विवादित बयान सामने आया तो शिवराज ने बोला कि मुख्यमंत्री कन्यादान योजना एक पवित्र उद्देश्य से प्रारंभ की गई थी. वह परिवार जिनके लिए बेटियों की शादी उनपर भारी पड़ती है या कुछ और कारणों से बेटियों शादी में दिक्कतें आतीं हैं,यह योजना उन परिवार के लिए थी. वहीं मंत्री अगर खुलेआम देशी विदेशी नशे का प्रचार करेंगे, तो समाज किस दिशा में जाएगा.

कोई और अगर नशे के बारे में बोले तो अलग बात है लेकिन यहां तो मंत्री ही बोल रहे हैं

शिवराज ने बताया कि कमलनाथ सरकार के मंत्रियों को कम से कम मंत्री होने का मतलब पता होना चाहिए. उन्होंने कहा कि सामान्य मनुष्य अगर नशे के बारे में बोले तो अलग बात होती है लेकिन मंत्री बोल रहे हैं कि देशी-विदेशी पीने की व्यवस्था कर दी. दूसरे मंत्री कह रहे हैं कि बुढ़ापे में बीड़ी तंबाकू खाने की व्यवस्था कर दी. यह बीड़ी पिला के और खिला के क्या कैंसर के शिकार बनाना चाहते हैं सबको. मंत्रियों और सरकार की जिम्मेदारी है कि वो लोगों को नशे से दूर रखने का प्रयास करें.

तंबाकू जैसा नशा जिससे कैंसर पैदा होता है उससे जनता को दूर रखें लेकिन यहां तो उल्टा उसका प्रचार करते है कमलनाथ सरकार के मंत्री. उन्होंने कहा कि इन मंत्रियों का यह व्यवहार मंत्री रहने लायक नहीं है. मैं मुख्यमंत्री से कहूंगा कि मंत्रियों पर लगाम लगाएं.

सीटों का हुआ बंटवारा, 20 सीटों पर कांग्रेस और 8 पर लड़ेगी जेडीएस

आगामी लोकसभा चुनावों के लिए कर्नाटक के गठबंधन सहयोगियों ने बुधवार को सीट बंटवारे पर सस्पेंस को ख़त्म करते हुए इसको अंतिम रूप दे दिया है । कर्नाटक की कुल 28 लोकसभा सीटों में कांग्रेस 20 और जनता दल सेकुलर (जेडीएस) 08 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। हालांकि आज ही दोपहर जेडीएस सुप्रीमो एचडी देवेगौड़ा ने हासन में कहा था कि वह सीटों के बंटवारे को लेकर जल्द ही राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और जदएस के राष्ट्रीय सचिव दानिश अली ने सीट बंटवारे पर केरल के कोच्चि में बातचीत की। समझौते के अनुसार के अनुसार, जेडी एस, उत्तर कन्नड़, उडुपी-चिक्कमगलुरु, शिवमोग्गा, तुमकुरु, हासन, मंड्या, बेंगलुरु उत्तर और विजयपुरा से चुनाव लड़ेगी। प्रदेश की शेष सभी सीटों पर कांग्रेस पार्टी चुनाव लड़ेगी। कर्नाटक में लोकसभा चुनाव 18 और 23 अप्रैल को होंगे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

टूटे सारे रिकॉर्ड, 10 बिंदुओं में जानिए क्यों आ रहा जोरदार उछाल

नई दिल्ली 24 सितम्बर 2021 । घरेलू शेयर बाजार में शानदार तेजी का सिलसिला जारी …